• Home
  • Rajasthan News
  • Rani News
  • आधी रात को घर के बाहर संदिग्ध हालत में देख तीनों भाइयों ने युवक पर किया हमला, सिर में गंभीर चोट से मौत
--Advertisement--

आधी रात को घर के बाहर संदिग्ध हालत में देख तीनों भाइयों ने युवक पर किया हमला, सिर में गंभीर चोट से मौत

रानी थाना क्षेत्र के भगवानपुरा गांव में गुरुवार देर रात को तीन भाइयों ने मिल कर रानी के युवक की नृशंस हत्या कर दी।...

Danik Bhaskar | May 19, 2018, 06:35 AM IST
रानी थाना क्षेत्र के भगवानपुरा गांव में गुरुवार देर रात को तीन भाइयों ने मिल कर रानी के युवक की नृशंस हत्या कर दी। प्रारंभिक तौर पर छानबीन और आरोपियों से हुई पूछताछ में पता चला है कि मृतक की बुरी नजर आरोपियों की बहन पर थी, जिसके चलते वह पिछले काफी दिन से उनके घर के चक्कर लगा रहा था। गुरुवार रात को वह घर पर आया, जिसे घर के बाहर संदिग्ध हालत में घूमता देख आरोपियों ने पकड़ा और उस पर लाठियों व धारदार हथियार से ताबड़तोड़ वार किए, जिससे उसकी मौत हो गई। मृतक के सिर से लेकर पैर तक शरीर में 50 से अधिक घाव है। पुलिस ने मृतक के भाई की रिपोर्ट पर हत्या का मुकदमा दर्ज कर शुक्रवार देर रात को आरोपी तीनों भाई रमेश, दीपाराम और जगदीश मेघवाल निवासी भगवानपुरा को गिरफ्तार कर लिया। डॉक्टरों ने मौत की वजह सिर में गंभीर आरोपियों से हत्या के बारे में गहनता से पूछताछ की जा रही है। पुलिस ने मेडिकल बोर्ड से पोस्टमार्टम करा शव परिजनों को सौंप दिया।

मरा हुआ समझ आरोपियों के पिता ने किया पुलिस को फोन : रानी निवासी 25 वर्षीय मृतक मानसिंह रावणा राजपूत पुत्र इंद्रसिंह इन दिनों देसूरी में एक सीमेंट एजेंसी के वहां काम करता था, जबकि इससे पहले वह एक क्रेडिट कोऑपरेटिव सोयायटी के एजेंट के रुप में रानी में ही नियुक्त था। इसी सिलसिले में उसका भगवानपुरा समेत आसपास के गांवों में आना-जाना था। बताया जाता है कि काफी समय पहले उसकी मुलाकात भगवानपुरा गांव में काफी लोगों से जान पहचान थी, जिनमें आरोपी का परिवार भी शामिल था। गुरुवार देर रात को मानसिंह को अपने घर के बाहर संदिग्धावस्था में देख आरोपियों ने उसे टोका तो वह बाइक लेकर भागने लगा। मगर आरोपियों ने उस पर लाठी, कंटीली लकड़ी व धारदार से हमला बोल दिया, जिससे वह वहीं ढेर हो गया। रात करीब 2 बजे आरोपियों के पिता ने पुलिस को फोन कर उनके घर के बाहर युवक के पड़े होने की सूचना दी। रानी थाना प्रभारी दीपसिंह भाटी, हैडकांस्टेबल दौलतसिंह टीम के साथ मौके पर पहुंच लहुलुहान पड़े युवक को रानी के अस्पताल में पहुंचाया, जहां डॉक्टरों ने उसे मृत घोषित कर दिया।

मृतक मानसिंह।

आरोपियों पर था खून सवार, शरीर पर 50 से अधिक घाव

मृतक मानसिंह के सिर पर तीन जगह धारदार हथियार की गहरी चोट से है, जबकि मुंह, छाती, पेट, जांघ व पैर समेत शरीर पर 50 से अधिक छोटे-मोटे घायल है। शरीर पर कई जगह छर्रे से होने वाले घाव की तरह भी घाव दिखे, जो ज्यादा गहरे नहीं थे। डॉक्टरों का कहना है कि मृतक पर लाठियां व धारदार हथियार के साथ ही किसी नुकीली चीज से भी हमला किया गया, जो संभवत: कंटीली लकड़ी भी हो सकती है। पुलिस का मानना है कि आरोपियों के मन में मृतक के प्रति जबरदस्त नफरत थी। इसके चलते उन पर खून सवार था और उन्होंने ताबड़तोड़ हमला कर उसकी हत्या की।