• Home
  • Rajasthan News
  • Rani News
  • 9 जिलों में निशुल्क निमोनिया का टीका आज से लगेगा
--Advertisement--

9 जिलों में निशुल्क निमोनिया का टीका आज से लगेगा

हैल्थ रिपोर्टर. जयपुर | प्रदेश के 9 जिलों में पांच साल से कम उम्र के बच्चों को निमोनिया व दिमागी बुखार से बचाव के लिए...

Danik Bhaskar | Apr 08, 2018, 07:40 AM IST
हैल्थ रिपोर्टर. जयपुर | प्रदेश के 9 जिलों में पांच साल से कम उम्र के बच्चों को निमोनिया व दिमागी बुखार से बचाव के लिए अब न्यूमोकोकल कॉन्जूगेट वैक्सीन (पीसीवी) निशुल्क लगेगा। दो प्राइमरी टीके 6 व 14 हफ्ते में और बूस्टर टीका 9 माह की उम्र पर लगेगा। इसके लिए पहले चरण में यूपी, बिहार और हिमाचल प्रदेश तथा दूसरे चरण में राजस्थान व मध्यप्रदेश को शामिल किया गया है। चिकित्सा मंत्री कालीचरण सराफ ने शनिवार को इंदिरा गांधी पंचायती राज संस्थान में विश्व स्वास्थ्य दिवस के अवसर पर इस टीके को राष्ट्रीय नियमित टीकाकरण कार्यक्रम में शामिल किए जाने की घोषणा की। अब उदयपुर, बांसवाड़ा, डूंगरपुर, राजसमंद, प्रतापगढ़, बाड़मेर, पाली एवं सिरोही में जिलों में यह टीका निशुल्क लगाया जा सकेगा।

चिकित्सा मंत्री ने समारोह में उपस्थिति स्टाफ को अस्पतालों में स्वच्छता अपनाने की शपथ दिलाई। उन्होंने कहा कि स्वच्छता अपनाकर बीमारियों की रोकथाम की जा सकती है। चिकित्सा मंत्री ने प्रधानमंत्री सुरक्षित मातृत्व अभियान के तहत जानकारी देने के लिए एक कॉमिक्स सीरिज की भी लांचिंग की। समारोह में अतिरिक्त मुख्य सचिव (चिकित्सा एवं स्वास्थ्य) वीनू गुप्ता, मिशन निदेशक (एन एचएम) नवीन जैन, अतिरिक्त मिशन निदेशक एस.एन.सोनी, निदेशक (जन स्वास्थ्य) डॉ.वी.के.माथुर, निदेशक (आरसीएच) डॉ.एस.एम.मित्तल समेत कई अधिकारी उपस्थित थे।

प्रदेश में अब 310 और आदर्श पीएचसी : राज्य में दूसरे चरण में 310 आदर्श पीएचसी के रूप में विकसित की जाएंगी। इन्हें मिलाकर अब 891 आदर्श प्राथमिक स्वास्थ्य केन्द्र हो जाएंगे। प्रथम चरण मे 15 अगस्त 2016 को 295 आदर्श पीएचसी की शुरूआत की थी।

पहली बार शहरी क्षेत्र की पीएचसी शामिल : जिला अस्पतालों, सीएचसी और आदर्श पीएचसी के बाद अब कायाकल्प प्रो गाम में शहरी पीएचसी को शामिल किए गया है।







समारोह में 20 शहरी पीएचसी को पुरस्कृत किया गया। क्वालिटी एश्योरेंस कार्यक्रम के तहत 3 जिला अस्पताल, 2 सीएचसी तथा 3 पीएचसी को सम्मानित किया।



राज्यस्तरीय समारोह में स्वच्छता अभियान के अंतर्गत संचालित कायाकल्प अवार्ड योजना में आंतरिक मूल्यांकन में अर्जित अंकों के आधार पर सर्वश्रेष्ठ शहरी प्राथमिक स्वास्थ्य केन्द्रों को 2 लाख, डेढ़ लाख और 50 हजार रुपए की राशि व प्रमाण पत्र देकर सम्मानित किया।

कायाकल्प अवार्ड : प्रथम कायाकल्प पुरस्कार श्रीगंगानगर की पुरानी आबादी शहरी पीएचसी, टोंक की यू पीएचसी, जयपुर-प्रथम की देवीनगर, पाली की टैगोर नगर, कोटा की सकटपुरा एवं भरतपुर की तिलक नगर शहरी पीएचसी को दिया गया है। द्वितीय कायाकल्प पुरस्कार अजमेर की गढ़ीमालियान, चूरू की डाबला, जोधपुर की हाउसिंग बोर्ड, जयपुर-सैकंड की अग्रवाल फार्म-मानसरोवर एवं कोटा की महावीर नगर यू पीएचसी को प्रदान किया गया। तृतीय पुरस्कार चूरू की राजगढ़ यूपीएससी, बीकानेर की नं.1,2,3,4,5 व 7 पीएचसी, नागौर की मोतीराम जी की कोठी तथा भीलवाड़ा की बापूनगर शहरी पीएचसी को प्रदान किया गया।

क्वालिटी एश्योरेंस अवार्ड : आठ संस्थानों में चित्तौडगढ के श्री सावंरिया जी राजकीय जिला अस्पताल, हनुमानगढ़ के एमजीएम जिला अस्पताल व झुंझुनूं के बीडीके अस्पताल को क्वालिटी एश्योरेंस अवार्ड मिला। सीएचसी में राजसमंद जिले की आमेट व झूंझुनू की बिसाऊ को मिला। पीएचसी में बांसवाड़ा की सलोपट व झूंझुनू की इस्लामपुर तथा भीलवाड़ा जिले की सिंगोली पीएचसी को सम्मान मिला है।