Hindi News »Rajasthan »Rashmi» दिखी लोक कला संस्कृति की झलक, कार्मिकों को किया सम्मानित

दिखी लोक कला संस्कृति की झलक, कार्मिकों को किया सम्मानित

भास्कर संवाददाता | चित्तौड़गढ़ राजस्थान दिवस पर शुक्रवार शाम नगरपरिषद के आडिटोरियम में जिला प्रशासन व पर्यटन...

Bhaskar News Network | Last Modified - Mar 31, 2018, 06:10 AM IST

दिखी लोक कला संस्कृति की झलक, कार्मिकों को किया सम्मानित
भास्कर संवाददाता | चित्तौड़गढ़

राजस्थान दिवस पर शुक्रवार शाम नगरपरिषद के आडिटोरियम में जिला प्रशासन व पर्यटन विभाग की ओर से आयोजित सांस्कृतिक कार्यक्रम में विभिन्न प्रस्तुतियों के माध्यम से राजस्थान की लोक कला की छटां बिखेरी। रिजर्व पुलिस लाइन के बैंड ने परेड मार्च धुन बजाई।

कार्यक्रम की शुरुआत एडीएम नारायणसिंह चारण, एसडीएम सुरेश खटीक, यूआईटी सेक्रेट्री सीडी चारण ने मां सरस्वती की तस्वीर पर दीप प्रज्वलन कर की। स्वागत जिला पर्यटन अधिकारी शरद व्यास ने किया। पहली प्रस्तुति पुलिस लाईन से आए पुलिस के पाईप बैंड ने कैलाशचंद्र बाण के नेतृत्व में सात सदस्यीय दल ने दी। सैलानी ग्रुप के कलाकरों की सरस्वती वंदना के बाद की बाड़मेर से आए मंगणियार ब्रदर्स कलाकारों ने लोक गीतों की प्रस्तुतियां दी। मोर चंद, हारमोनियम, खरताल, ढोलक, मंजीरे आदि वाद यंत्रों का समन्वय करते कलाकारों ने केसरिया बालम पधारो म्हारा देश, नींबूड़ा-नींबूड़ा, कालियो कूद पड़यो मेला आदि लोक गीतों के अलावा कालबेलिया नृत्य की प्रस्तुतियां देकर तालियां बटोरी। लोक गीतों पर दो महिला कलाकारों ने भी नृत्य की प्रस्तुतियों से दाद लूटी। विभिन्न संस्थाओं से आए बच्चों व बालिकाओं ने अपनी गीत व नृत्य की प्रस्तुतियां दी। नप आयुक्त मोहम्मद नसीम शेख, तहसीलदार मोहनसिंह, जिला परिषद के सीइओ रामदेव गोयल, एसीइओ दीपेंद्रसिंह, सेवानिवृत पर्यटन अधिकारी भंवरलाल साहू, प्रिंसीपल कल्याणी दीक्षित, रमसा के एसएन शर्मा, गणेशलाल पूर्बिया, रश्मि सक्सेना आदि उपस्थित थे। टेफ मनोज सुखवाल, गयासिंह, जसवंत, मोनू काबरा सहित अन्य मौजूद थे।

राजस्थान दिवस पर नगरपरिषद के ओडिटोरियम में आयोजित कार्यक्रम में पुलिस के पाइप बैंड की भी प्रस्तुति हुई

भास्कर संवाददाता | चित्तौड़गढ़

राजस्थान दिवस पर शुक्रवार शाम नगरपरिषद के आडिटोरियम में जिला प्रशासन व पर्यटन विभाग की ओर से आयोजित सांस्कृतिक कार्यक्रम में विभिन्न प्रस्तुतियों के माध्यम से राजस्थान की लोक कला की छटां बिखेरी। रिजर्व पुलिस लाइन के बैंड ने परेड मार्च धुन बजाई।

कार्यक्रम की शुरुआत एडीएम नारायणसिंह चारण, एसडीएम सुरेश खटीक, यूआईटी सेक्रेट्री सीडी चारण ने मां सरस्वती की तस्वीर पर दीप प्रज्वलन कर की। स्वागत जिला पर्यटन अधिकारी शरद व्यास ने किया। पहली प्रस्तुति पुलिस लाईन से आए पुलिस के पाईप बैंड ने कैलाशचंद्र बाण के नेतृत्व में सात सदस्यीय दल ने दी। सैलानी ग्रुप के कलाकरों की सरस्वती वंदना के बाद की बाड़मेर से आए मंगणियार ब्रदर्स कलाकारों ने लोक गीतों की प्रस्तुतियां दी। मोर चंद, हारमोनियम, खरताल, ढोलक, मंजीरे आदि वाद यंत्रों का समन्वय करते कलाकारों ने केसरिया बालम पधारो म्हारा देश, नींबूड़ा-नींबूड़ा, कालियो कूद पड़यो मेला आदि लोक गीतों के अलावा कालबेलिया नृत्य की प्रस्तुतियां देकर तालियां बटोरी। लोक गीतों पर दो महिला कलाकारों ने भी नृत्य की प्रस्तुतियों से दाद लूटी। विभिन्न संस्थाओं से आए बच्चों व बालिकाओं ने अपनी गीत व नृत्य की प्रस्तुतियां दी। नप आयुक्त मोहम्मद नसीम शेख, तहसीलदार मोहनसिंह, जिला परिषद के सीइओ रामदेव गोयल, एसीइओ दीपेंद्रसिंह, सेवानिवृत पर्यटन अधिकारी भंवरलाल साहू, प्रिंसीपल कल्याणी दीक्षित, रमसा के एसएन शर्मा, गणेशलाल पूर्बिया, रश्मि सक्सेना आदि उपस्थित थे। टेफ मनोज सुखवाल, गयासिंह, जसवंत, मोनू काबरा सहित अन्य मौजूद थे।

भास्कर संवाददाता | चित्तौड़गढ़

राजस्थान दिवस पर शुक्रवार शाम नगरपरिषद के आडिटोरियम में जिला प्रशासन व पर्यटन विभाग की ओर से आयोजित सांस्कृतिक कार्यक्रम में विभिन्न प्रस्तुतियों के माध्यम से राजस्थान की लोक कला की छटां बिखेरी। रिजर्व पुलिस लाइन के बैंड ने परेड मार्च धुन बजाई।

कार्यक्रम की शुरुआत एडीएम नारायणसिंह चारण, एसडीएम सुरेश खटीक, यूआईटी सेक्रेट्री सीडी चारण ने मां सरस्वती की तस्वीर पर दीप प्रज्वलन कर की। स्वागत जिला पर्यटन अधिकारी शरद व्यास ने किया। पहली प्रस्तुति पुलिस लाईन से आए पुलिस के पाईप बैंड ने कैलाशचंद्र बाण के नेतृत्व में सात सदस्यीय दल ने दी। सैलानी ग्रुप के कलाकरों की सरस्वती वंदना के बाद की बाड़मेर से आए मंगणियार ब्रदर्स कलाकारों ने लोक गीतों की प्रस्तुतियां दी। मोर चंद, हारमोनियम, खरताल, ढोलक, मंजीरे आदि वाद यंत्रों का समन्वय करते कलाकारों ने केसरिया बालम पधारो म्हारा देश, नींबूड़ा-नींबूड़ा, कालियो कूद पड़यो मेला आदि लोक गीतों के अलावा कालबेलिया नृत्य की प्रस्तुतियां देकर तालियां बटोरी। लोक गीतों पर दो महिला कलाकारों ने भी नृत्य की प्रस्तुतियों से दाद लूटी। विभिन्न संस्थाओं से आए बच्चों व बालिकाओं ने अपनी गीत व नृत्य की प्रस्तुतियां दी। नप आयुक्त मोहम्मद नसीम शेख, तहसीलदार मोहनसिंह, जिला परिषद के सीइओ रामदेव गोयल, एसीइओ दीपेंद्रसिंह, सेवानिवृत पर्यटन अधिकारी भंवरलाल साहू, प्रिंसीपल कल्याणी दीक्षित, रमसा के एसएन शर्मा, गणेशलाल पूर्बिया, रश्मि सक्सेना आदि उपस्थित थे। टेफ मनोज सुखवाल, गयासिंह, जसवंत, मोनू काबरा सहित अन्य मौजूद थे।

ये कार्मिक हुए सममानित... राजस्थान दिवस पर उपखंड स्तरीय कार्यक्रम पंस सभागार में आयोजित हुआ। मुख्य अतिथि एडीएम नारायणसिंह चारण थे। अध्यक्षता डीएसओ ज्ञानमल खटीक ने की। विशिष्ट अतिथि यूआईटी सचिव सीडी चारण, एसडीएम सुरेशकुमार खटीक थे। उपखंड स्तर पर राजकीय विभागो के उत्कृष्ठ कार्य करने वाले एसडीएम आफिस के दिनेश खंडेलवाल, हरिकिशन खटीक, शारीरिक शिक्षक अनिलकुमार धोबी, इंद्रलाल सुथार, रामेश्वरलाल शर्मा, चिकित्सा विभाग के डा. धर्मेंद्र कराडिया, आयुर्वेद चिकित्सक दीपाली देराश्री, नर्सिंगकर्मी अनिता महावर, राजस्व विभाग के मुकेश महात्मा, रामावतार विजयवर्गीय, पटवारी रमेश टेलर, गंगासिंह राव, नप के मोहम्मद शरीफ, ओमप्रकाश साहू, पंचायत विभाग के खूबचंद खटीक, पंचायत प्रसार अधिकारी बंटू गायरी, शिक्षा विभाग के दीपक शर्मा, चंद्रपालसिंह घटियावली को सम्मानित किया गया।

दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए Rashmi News in Hindi सबसे पहले दैनिक भास्कर पर | Hindi Samachar अपने मोबाइल पर पढ़ने के लिए डाउनलोड करें Hindi News App, या फिर 2G नेटवर्क के लिए हमारा Dainik Bhaskar Lite App.
Web Title: दिखी लोक कला संस्कृति की झलक, कार्मिकों को किया सम्मानित
(News in Hindi from Dainik Bhaskar)

More From Rashmi

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×