• Home
  • Rajasthan News
  • Ratangarh News
  • ड्राइवर को नींद की झपकी आई, आगे चल रहे ट्रक में घुसी क्रूजर, दंपती की मौत, 15 घायल
--Advertisement--

ड्राइवर को नींद की झपकी आई, आगे चल रहे ट्रक में घुसी क्रूजर, दंपती की मौत, 15 घायल

कस्बे में राष्ट्रीय राजमार्ग 11 पर बुधवार दोपहर करीब 2.30 बजे एक क्रूजर जीप आगे चल रहे ट्रक में घुस गई। हादसे में दंपती...

Danik Bhaskar | Mar 29, 2018, 06:40 AM IST
कस्बे में राष्ट्रीय राजमार्ग 11 पर बुधवार दोपहर करीब 2.30 बजे एक क्रूजर जीप आगे चल रहे ट्रक में घुस गई। हादसे में दंपती की मौत हो गई, जबकि उनके ही परिवार के 14 लोग घायल हो गए। सभी हरियाणा के जिंद के रहने वाले हैं और जीणमाता व सालासर बालाजी के दर्शनों के लिए आए थे। तीन गंभीर घायलों को बीकानेर रैफर किया गया है, जबकि अन्य को राजलदेसर व रतनगढ़ के अस्पताल में भर्ती कराया गया है। हादसा बीकानेर हाइवे पर राजलदेसर से करीब चार किलोमीटर दूर आईटीआई कॉलेज के सामने हुआ। क्रूजर में एक ही परिवार के महिला-पुरुष व बच्चों सहित 20 लोग सवार थे। हादसे में एक युवती व दो बच्चों को छोड़कर सभी को चोटें आई हैं। हादसे की वजह क्रूजर चालक को नींद की झपकी आना बताया जा रहा है। क्योंकि ड्राइवर मंगलवार रात नौ बजे से लगातार गाड़ी चला रहा था।

हादसे के बाद उधर से गुजर रहे दूसरे वाहन सवारों ने घायलों को निजी वाहनों से राजलदेसर के अस्पताल में भर्ती करवाया। जहां पर नरवाना (जींद) निवासी 46 वर्षीय रामस्वरूप व उसकी प|ी मायादेवी ने दम तोड़ दिया। बाकी घायलों काे प्राथमिक उपचार के बाद रतनगढ़ रैफर कर दिया। रतनगढ़ से तीन को बीकानेर रैफर कर दिया। इनमें निर्वाणा जिंद के साहबराम (45), मुकेश (32) व मोनिका (13) शामिल हैं। वहीं पांच को प्राथमिक उपचार के बाद छुट्‌टी दे दी गई तथा सात का उपचार चल रहा है। हादसे में 18 वर्षीय सोनिया पुत्री लालचंद, 6 साल का कुश व 5 साल के लव को खरोंच तक नहीं आई।

जीणमाता व सालासर बालाजी दर्शन के बाद बीकानेर के तोलियासर भैरूंजी मंदिर जा रहे थे

रतनगढ़ के अस्पताल में भर्ती महिला व बच्चे।

राजलदेसर. दुर्घटना में क्षतिग्रस्त दोनों वाहन।

भास्कर. न्यूज | राजलदेसर

कस्बे में राष्ट्रीय राजमार्ग 11 पर बुधवार दोपहर करीब 2.30 बजे एक क्रूजर जीप आगे चल रहे ट्रक में घुस गई। हादसे में दंपती की मौत हो गई, जबकि उनके ही परिवार के 14 लोग घायल हो गए। सभी हरियाणा के जिंद के रहने वाले हैं और जीणमाता व सालासर बालाजी के दर्शनों के लिए आए थे। तीन गंभीर घायलों को बीकानेर रैफर किया गया है, जबकि अन्य को राजलदेसर व रतनगढ़ के अस्पताल में भर्ती कराया गया है। हादसा बीकानेर हाइवे पर राजलदेसर से करीब चार किलोमीटर दूर आईटीआई कॉलेज के सामने हुआ। क्रूजर में एक ही परिवार के महिला-पुरुष व बच्चों सहित 20 लोग सवार थे। हादसे में एक युवती व दो बच्चों को छोड़कर सभी को चोटें आई हैं। हादसे की वजह क्रूजर चालक को नींद की झपकी आना बताया जा रहा है। क्योंकि ड्राइवर मंगलवार रात नौ बजे से लगातार गाड़ी चला रहा था।

हादसे के बाद उधर से गुजर रहे दूसरे वाहन सवारों ने घायलों को निजी वाहनों से राजलदेसर के अस्पताल में भर्ती करवाया। जहां पर नरवाना (जींद) निवासी 46 वर्षीय रामस्वरूप व उसकी प|ी मायादेवी ने दम तोड़ दिया। बाकी घायलों काे प्राथमिक उपचार के बाद रतनगढ़ रैफर कर दिया। रतनगढ़ से तीन को बीकानेर रैफर कर दिया। इनमें निर्वाणा जिंद के साहबराम (45), मुकेश (32) व मोनिका (13) शामिल हैं। वहीं पांच को प्राथमिक उपचार के बाद छुट्‌टी दे दी गई तथा सात का उपचार चल रहा है। हादसे में 18 वर्षीय सोनिया पुत्री लालचंद, 6 साल का कुश व 5 साल के लव को खरोंच तक नहीं आई।

राजलदेसर के अस्पताल में घायल राहुल ने बताया कि क्रूजर सवार सारे लोग एक ही परिवार के हैं। मंगलवार रात करीब 9 बजे क्रूजर में सवार होकर रवाना हुए थे। पहले जीणमाता मंदिर व बाद में सालासर बालाजी मंदिर में दर्शन करके बीकानेर जिले में स्थित तोलियासर भैरूंजी मंदिर दर्शनों के लिए जा रहे थे तब राजलदेसर से बीकानेर की तरफ करीब 4 किलोमीटर दूर एचएच 11 पर आईटीआई कॉलेज के सामने क्रूजर आगे चल रहे ट्रक में पीछे से जा घुसी। सूचना पर राजलदेसर थाना प्रभारी सतीश यादव, एएसआई भंवरसिंह मय पुलिस जाप्ते के अस्पताल पहुंच घटना की जानकारी ली। समाचार लिखे जाने तक किसी ने भी मामला दर्ज नहीं करवाया था। ये हुए घायल : हादसे में जीप चालक अरूण (45) पुत्र बलराज, शिवलाल (65) पुत्र आसुराम, विनोद (32) पुत्र शिवलाल, मुकेश (30) पुत्र शिवलाल, राजेश (28) पुत्र शिवलाल, विमला (55) प|ी शिवलाल, सावित्री(45) प|ी लालचंद, पिंकी (30) प|ी विनोद, राहुल (19) पुत्र रामस्वरूप, सुभम (7) पुत्र लालचंद, पवन (6) पुत्र विनोद, विवेक (11) पुत्र रामस्वरूप, प्रियंका (10) पुत्री विनोद, मोनिका (14) पुत्री रामलाल व साहबराम (45) घायल हुए।

नील गाय को बचाने के चक्कर में पुराने टायरों से भरा ट्रेलर पलटा, चालक की मौत, खलासी घायल

रतनगढ़ | मेगा हाईवे पर मंगलवार देर रात नील गाय को बचाने के पुराने टायरों से भरा एक ट्रोला डिवाइडर पर चढ़कर पलट गया। ट्रोला पलटने से ड्राइवर के हाथ ट्रेलर के नीचे आ गए, जिसके चलते वह गंभीर घायल हो गया। चालक को क्रेन की सहायता से निकालकर अस्पताल पहुंचाया गया, जहां पर डॉक्टरों ने उसे मृत घोषित कर दिया। हादसे में खलासी घायल हो गया था, जो अस्पताल में भर्ती है। पुलिस ने बताया कि सुंदरपोर्ट गुजरात से पुराने टायर लेकर ट्रेलर दिल्ली के लिए 25 मार्च को रवाना हुआ था। 27 मार्च की देर रात मेगा हाईवे पर ओवरब्रिज के पास अचानक नील गाय सामने आ गई, जिससे वह पलट गया। ट्रोला पलटने से तारानगर तहसील के गांव साहवा निवासी ड्राइवर 45 वर्षीय कालूसिंह पुत्र जगमालसिंह राजपूत की मौत हो गई। तारानगर तहसील के गांव भाड़ंग निवासी खलासी 33 वर्षीय सुरेंद्र उर्फ गणेश पुत्र स्व. देवाराम सहारण घायल हो गया।