Hindi News »Rajasthan »Ratangarh» भागवत कथा में सजाई गई श्रीकृष्ण-सुदामा की झांकी

भागवत कथा में सजाई गई श्रीकृष्ण-सुदामा की झांकी

गांव मलसीसर के हरिराम बाबा मंदिर में चल रही भागवत कथा का समापन शुक्रवार को हुआ। कथा के दौरान कथावाचक प....

Bhaskar News Network | Last Modified - Jan 13, 2018, 07:00 AM IST

गांव मलसीसर के हरिराम बाबा मंदिर में चल रही भागवत कथा का समापन शुक्रवार को हुआ। कथा के दौरान कथावाचक प. चंद्रप्रकाश शर्मा ने श्रीकृष्ण-सुदामा के मित्रता का वर्णन सुनाते हुए कहा कि मित्रता रखती है, तो श्रीकृष्ण-सुदामा जैसी रखे। सच्चा मित्र वहीं है, जो संकट व विकट परिस्थितियों में आपके काम आए। सच्चा मित्र कठिन से कठिन परिस्थिति में भी अपने दोस्त का साथ नहीं छोड़ता। उन्होंने कहा कि कलयुग में केवल अवगुण ही अवगुण है। इसमें हरिनाम से मनुष्य भवसागर से पार हो सकता है। कथा के दौरान श्रीकृष्ण-सुदामा की संजीव झांकी भी सजाई गई। शुक्रवार शाम को शोभायात्रा निकाली गई, जो गांव के मुख्य मार्गोँ से होते हुए शिवभाले मंदिर पहुंची। इस मौके पर दुर्गादत, रामकिशन, रामोतार माटोलिया व सुरेश माटोलिया से पूजा-अर्चना की।

षटतिला एकादशी पर यज्ञ हुआ : सादुलपुर | गौरीशंकर शिव मंदिर में माघ कृष्ण एकादशी पर्व मनाया गया। इस मौके पर महिला कीर्तन मंडल की ओर से यज्ञ किया गया। पं. अजयराज शास्त्री ने एकादशी व्रत की महिमा पर प्रकाश डालते हुए बताया कि तिल का दान करने से समस्त पापों का नाश हो जाता है। कीर्तन मंडल की ओर से भजनों की प्रस्तुतियां भी दी गई। यज्ञ के बाद प्रसाद वितरण किया गया। इस मौके पर मंदिर सेवा समिति के राजकुमार, जगदीश गोस्वामी, पं. गणेश, पं. दिनेश, पं. शिवकुमार आदि थे।

सालासर के गांव मलसीसर के गांव में किया जा रहा है कथा का आयोजन

कीर्तन से गूंजा पांडाल, तालवाले बालाजी में मनाया कृष्ण जन्मोत्सव

पड़िहारा | तालवाले बालाजी मंदिर में चल रही भागवत कथा में शुक्रवार को कृष्ण जन्म प्रसंग पर श्रद्धालु थिरकने लगे तथा पूरा पांडाल नंद के घर आनंद भयो जय कन्हैयालाल की... गूंज से गूंजायमान हो गया।

इस दौरान कथा वाचक पंडित संजय शर्मा ने कहा कि विपरीत पस्थितियों में व्यक्ति का साथ केवल भगवान ही देता है, इसलिए सुख में भी भगवान के नाम का स्मरण करते रहना चाहिए। हम मोहमाया व गृहस्थ जीवन में रहकर भगवान से दूरी बना रहे हैं, लेकिन अंत में हमें उसी के पास जाना है। दान के महत्व पर प्रकाश डालते हुए उन्होंने कहा कि दान से पुण्य की प्राप्ति होती है, लेकिन दान का दिखावा नहीं करना चाहिए, अन्यथा उसका फल हमें नहीं मिलेगा। शुक्रवार को शर्मा ने राम जन्म, वामन अवतार व राजा बलि व कृष्ण जन्म के प्रसंगों पर विस्तार से प्रकाश डाला। कथा के प्रारंभ में मुख्य यजमान चंदादेवी-सेवाराम प्रजापत, भंवरीदेवी-मोडूराम जाट, संतोषदेवी-भंवरलाल जाट, विमलादेवी-चेतनमल माली, मुन्नीदेवी-रूकमानंद प्रजापत ने व्यासपीठ की पूजा-अर्चना की। इस मौके पर ओमप्रकाश भोड़ीवाल, रूघाराम महरिया, लक्ष्मण माली, भींवाराम प्रजापत, शंकरलाल प्रजापत, रतनलाल प्रजापत सहित उपस्थित थे।

त्रिदिवसीय ओशो ध्यान साधना शिविर का शुभारंभ : सुजानगढ़ | त्रिदिवसीय ओशो ध्यान साधना शिविर का शुभारंभ गुरुवार को ओंकार ध्वनि के साथ हुआ। स्वामी आनंद किरण ने ज्ञानदीप प्रज्जवलित किया तथा स्वामी अशोक भारती के निर्देशन मेंं छापर, बीदासर, बीकानेर, रतनगढ़, अजमेेर, राजकोट :गुजरात:, परबतसर व जयपुर से आए सभी प्रतिभागियों ने नृत्य, हास्य व ध्यान कर सद्गुुरु की अमृतवाणी का श्रवण किया।

शुुक्रवार सुबह आज के मानव के लिए सृजित सबसे सशक्त ध्यान विधि का अभ्यास किया गया। कुंडलिनी शक्ति के जागरण के लिए हू महामंत्र का जाप किया गया। ध्यान शिविर के बारे में बताया गया कि ध्यान पूरे अस्तित्व के साथ समस्वरता का नाम है पूरी प्रकृति और मानवता के प्रति गहन प्रेम का नाम ध्यान है।

ज्ञान, भक्ति, त्याग व कर्म है मानव की मुक्ति का मार्ग

राजलदेसर | आथुणा बास मुरलाई मार्ग वार्ड चार स्थित नवग्रह शनिदेव मंदिर में चल रही भागवत कथा के पांचवे दिन शुक्रवार कथावाचक मुरारी भैया जैतासर वाले ने कहा कि ज्ञान, भक्ति, त्याग व कर्म ये चार मार्ग ही मानव को मुक्ति तक ले जा सकते है। प्रत्येक मनुष्य को इन मार्गों का अनुशरण करना चाहिए। कर्मयोग पर विशेष बल देना चाहिए। मुरारी भैया ने भजनों की भी प्रस्तुतियां दी। इससे पूर्व कथा के शुभारंभ पर पुजारी कुंजबिहारी भार्गव सहित श्रद्धालुओं ने पूजा-अर्चना की। पुजारी ने बताया कि आयोजन के तहत समापन पर मकर संक्रांति के दिन सुबह आठ बजे मंदिर में हवन होगा व रात नौ बजे से जागरण लगाया जाएगा।

भगवति भद्रकाली शक्तिपीठ का स्थापना दिवस आज : भगवती भद्रकाली शक्तिपीठ का स्थापना दिवस शनिवार को मनाया जाएगा। तुलसीराम पांडे ने बताया कि शनिवार शाम को भजन संध्या होगी। मकर संक्रांति के दिन नर सेवा के निमित्त चिकित्सा शिविर लगाया जाएगा। शिविर में श्वास, अस्थमा व क्षय रोग विशेषज्ञ डॉ. गुंजन सोनी, बीकानेर पीबीएम अस्पताल के डॉ. कैलाश सोनगरा व उनकी टीम के सदस्य सहित गंगाराम अस्पताल रतनगढ़ के डॉक्टर रोगियों की जांच कर परामर्श देंगे।

कथावाचन करते मुरारी भैया

दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए News in Hindi, Breaking News सबसे पहले दैनिक भास्कर पर |

More From Ratangarh

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×