Hindi News »Rajasthan »Ratangarh» किसान आंदोलन

किसान आंदोलन

विधानसभा का घेराव करने जा रहे हनुमानगढ़ जिले के नोहर-भादरा व चूरू जिले के किसानों की बसों को पुलिस ने रोका। इस दौरान...

Bhaskar News Network | Last Modified - Feb 23, 2018, 07:30 AM IST

किसान आंदोलन
विधानसभा का घेराव करने जा रहे हनुमानगढ़ जिले के नोहर-भादरा व चूरू जिले के किसानों की बसों को पुलिस ने रोका। इस दौरान आक्रोशित किसान वहीं धरना देकर बैठ गए। राजगढ़ में तो किसानों ने जाम लगा दिया। किसानों को रोकने के लिए दिनभर पुलिस के वाहन दौड़ते रहे। पुलिस ने रतनगढ़, रतननगर, सालासर, राजगढ़ सहित 5 स्थानों पर नाकाबंदी करवा रखी थीं। इधर, सीकर में जाम के कारण चूरू व सरदारशहर डिपो की करीब 30 से 35 बसें फंसी रही, जिसके कारण दोनों डिपो को 4 लाख रुपए के राजस्व नुकसान होने का अनुमान है।

इससे पहले किसानों के जयपुर जाने की सूचना के बाद पुलिस ने विभिन्न थाना क्षेत्रों में नाकाबंदी करवा दी। सुबह ही संबंधित थानों की पुलिस जाब्ते के साथ उन मार्गों पर खड़ी हाे गई तथा बस, ट्रैक्टर व अन्य वाहनों से जाते समय उन्हें रोक लिया। चूरू-सीकर रोड पर रतननगर थाना क्षेत्र के ढाणी लालसिंहपुरा के पास सदर थाना पुलिस ने कई बसों को रोक लिया। इनमें नोहर-भादरा से आए किसान भी शामिल थे। किसानों को जयपुर जाने से रोकने पर वे सड़क पर बैठ गए। कुछ किसान बिस्तर बिछाकर बैठ गए। पुलिस ने उन्हें समझाकर वापस भेजने का प्रयास किया, मगर वे अड़ गए। कुछ किसानों को पुलिस अपने वाहनों में ले जाकर भालेरी थाना के पास छोड़ दिया।

चूरू में रोडवेज को एक दिन में 4 लाख का नुकसान : चूरू डिपो के मुख्य प्रबंधक ने बताया कि बसों का संचालन नहीं होने से रोडवेज को एक दिन 1.5 लाख का नुकसान हुआ है, वहीं सरदारशहर डिपो को करीब 2.50 लाख के राजस्व का नुकसान हुआ है।

इधर, चूरू मुख्यालय पर किसानों की गिरफ्तारी के विरोध में किसान सभा ने कलेक्ट्रेट के आगे सभा की। किसान नेताओं की गिरफ्तारी की आलोचना की। किसान सभा ने सभा को संबोधित किया। दोपहर 2.30 बजे तक ज्ञापन लेने प्रशासन नहीं आया तो किसानों ने शहर में रैली निकाली, जो शाम 5 बजे वापस पहुंची।

किसानों ने स्कूल बस व एंबुलेंस को नहीं रोका, आस-पास के गांवों के लोगों ने भोजन पहुंचाया

चूरू किसान नेताओें की गिरफ्तारी के विरोध में शहर के विभिन्न मार्गों से निकाली रैली

जयपुर कूच के लिए निकले किसानों को पुलिस ने बीच रास्ते से लौटाया, कल से जिलेभर में करेंगे चक्काजाम

सालासर में किसानों का जाम, गर्मी से 1 की तबीयत बिगड़ी

सालासर. किसान की बिगड़ी तबियत

सालासर | विधानसभा घेराव में शामिल होने के लिए जयपुर जा रहे किसानों को पुलिस ने नाकाबंदी कर जाने से रोक दिया। पुलिस ने सालासर से रतनगढ़ चौराहा व तहसील कार्यालय के पास सुजानगढ़-सीकर बाईपास सड़क पर सुजानगढ़ व सालासर से जयपुर जाने की तैयारी कर रहे किसानों को वापस भेजा। सालासर से कुछ किसान दीनदयाल गुलेरिया के नेतृत्व में रात को ही जयपुर पहुंच गए। जाम की वजह से एक किसान गर्मी के चलते बेहोश हो गया।

चूरू में धरनास्थल पर ही खाएंगे खाना : किसान सभा चूरू जिला काउंसिल के जिला मंत्री रामकरण चौधरी ने बताया कि कलेक्ट्रेट के सामने उनका धरना अब पड़ाव के रूप में बदल गया है। किसान रात को यही रहेंगे तथा यहीं खाना खाएंगे।

सादुलपुर. बॉर्डर पर धरने पर बैठने के दौरान भोजन करते किसान।

रतनगढ़ में जयपुर जा रहे सैकड़ों किसानों को रोका, 75 किसान शांतिभंग में गिरफ्तार

रतनगढ़ | किसानों द्वारा जयपुर में गुरुवार को घोषित प्रदर्शन में भाग लेने के लिए विभिन्न स्थानों से जयपुर जा रहे किसानों को पुलिस ने धारा 151 में गिरफ्तार किया है। रतनगढ़ से बीरमसर के बीच पुलिस ने दो-तीन जगह नाकाबंदी कर रखी थी। जैसे ही किसानों से भरी बसें आई, उन्हें पुलिस ने रोक लिया तथा 75 किसानों को धारा 151 में गिरफ्तार किया। सुबह छह बजे से नौ बजे तक अगल-अलग किश्तों में किसानों को गिरफ्तार किया गया। गुरुवार देर शाम तक किसान थाने में ही बैठे रहे। वहीं किसान नेता हीरालाल कलवाणिया, कांग्रेस नेता पूसाराम गोदारा, प्रधान गिरधारीलाल बांगड़वा ने कहा कि राज्य सरकार का किसान विरोधी चेहरा सामने आ गया है तथा अपनी जायज मांगों को लेकर शांतिपूर्ण ढंग से किए जाने वाले प्रदर्शन में भाग लेने के लिए किसानों को पुलिस के बल पर रोकना प्रजातंत्र की हत्या है। राजस्थान शिक्षक संघ ने भी किसानों की गिरफ्तारी के विरोध में एसडीएम के नाम ज्ञापन दिया।

पुलिस ने रोका तो झुंझुनूं की तरफ पैदल ही चल दिए किसान

सादुलपुर | विधानसभा घेराव को लेकर गुरुवार को बसों के जरिए जयपुर जा रहे किसानों को पुलिस ने झुंझुनूं जिले के बॉर्डर पर ही रोक लिया। इस दौरान किसानों व पुलिस के बीच तनाव की स्थिति बन गई। नाराज किसानों ने सड़क पर बैठकर विरोध-प्रदर्शन करना शुरू कर दिया। गुरुवार सुबह आठ बजे के करीब तीन बसों से किसान जयपुर के लिए बैरासर से रवाना हुए। इन बसों को पुलिस ने सांखू फोर्ट पुलिस चौकी के पास रोक लिया। रोके जाने पर किसानों ने आक्रोश जताया और पैदल ही झुंझुनूं की ओर कूच करने लगे। करीब आठ किलोमीटर किसान पैदल चलकर झुंझुनूं जिले के बॉर्डर पर पुलिस व आरएसी के जाब्ते ने उन्हें रोक लिया।

किसानों के साथ अधिकारी भी आठ किलोमीटर पैदल चले : सांखू फोर्ट पुलिस चौकी के पास रोके जाने के बाद किसान पैदल ही झुंझुनूं की तरफ रवाना हो गए। उनके पीछे-पीछे एसडीएम, एएसपी, डीवाईएसपी, थानाधिकारी सहित पुलिसकर्मी भी आठ किलोमीटर तक चले।

शिक्षकों ने भी किया किसानों की गिरफ्तारी का विरोध : चूरू | राजस्थान शिक्षक संघ शेखावत उप शाखा ने किसानों के समर्थन में एसडीएम को मुख्यमंत्री के नाम ज्ञापन सौंपा। ज्ञापन में किसानों की मांगों का समर्थन किया एवं गिरफ्तार किसानों की रिहाई की मांग की गई।

दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए News in Hindi, Breaking News सबसे पहले दैनिक भास्कर पर |

More From Ratangarh

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×