• Home
  • Rajasthan News
  • Ratangarh News
  • परमाणा जोहड़ की 300 बीघा जमीन पर अतिक्रमण को लेकर ग्रामीणों ने सांसद सैनी को ज्ञापन दिया
--Advertisement--

परमाणा जोहड़ की 300 बीघा जमीन पर अतिक्रमण को लेकर ग्रामीणों ने सांसद सैनी को ज्ञापन दिया

राज्यसभा सदस्य मदन सैनी के रतनगढ़ आगमन पर लोगों ने ज्ञापन देकर चूरू रोड स्थित परमाणा जोहड़ पायतन व गोचर भूमि की...

Danik Bhaskar | Mar 26, 2018, 07:00 PM IST
राज्यसभा सदस्य मदन सैनी के रतनगढ़ आगमन पर लोगों ने ज्ञापन देकर चूरू रोड स्थित परमाणा जोहड़ पायतन व गोचर भूमि की रक्षा करने की मांग की है। ज्ञापन के अनुसार वर्षों पूर्व परमानंद सराफ द्वारा सार्वजनिक पक्का तालाब बनाया गया था तथा उक्त भूमि का पट्‌टा सार्वजनिक प्रयोजनार्थ निशुल्क पायतन के लिए जारी हुआ। बीकानेर रियासत की तरफ से भी तालाब के पायतन के लिए उक्त भूमि छोड़ दी गई थी, जिसका नाम परमाणाताल है। कुछ लोगों ने राजस्व रिकार्ड में फर्जीवाड़ा करके पायतन व चौहड़ शब्द हटाकर अब पायतन की सार्वजनिक भूमि को खुद-बुर्द करने में लगे हुए हैं। इस षडयंत्र में प्रशासन व स्थानीय राजनेताओं की मिली भगत है तथा फर्जी ट्रस्ट बनाकर सार्वजनिक संपत्ति को बेच रहे हैं। उक्त भूमि पर मंदिर भी बना हुआ है। इसके अलावा पिंजरोपाल की करीब 300 बीघा भूमि पर भी नाजायज अतिक्रमण करवाया जा रहा है।

रतनगढ़. गोचर भूमि की रक्षा के लिए सांसद सैनी को ज्ञापन देते लोग।