रावतसर

  • Home
  • Rajasthan News
  • Rawatsar News
  • माणकथेड़ी फीडर से बिजली देने पर कम रहता है वोल्टेज, ग्रामीण परेशान
--Advertisement--

माणकथेड़ी फीडर से बिजली देने पर कम रहता है वोल्टेज, ग्रामीण परेशान

थालड़का| मिर्जावालीमेर जीएसएस फीडर को रावतसर से हटाकर माणकथेड़ी फीडर से जोड़ने पर गांव रामपुरा उर्फ रामसरा, चहुवाली,...

Danik Bhaskar

Jun 10, 2018, 06:15 AM IST
थालड़का| मिर्जावालीमेर जीएसएस फीडर को रावतसर से हटाकर माणकथेड़ी फीडर से जोड़ने पर गांव रामपुरा उर्फ रामसरा, चहुवाली, मिर्जावालीमेर, केहरवाला, भुरानपुरा, डबलीखुर्द, डबलीकलां, मसीतांवाली, भोमपुरा, लुणवली ढाणी आदि गांव की बिजली प्रभावित होगी। गांव के सुरेन्द्र, राजाराम विजय गोदारा, राजू जैन, विनोद शर्मा, संदीप भांभू, ओमप्रकाश भांभू ने बताया कि पहले हमारे गांव में रावतसर से बिजली सप्लाई होती थी, जिसकी रावतसर से मिर्जावालीमेर फीडर की दूरी मात्र 20 किमी थी। इसको अब माणकथेड़ी फीडर से जोड़ दिया है। अब मिर्जावालीमेर फीडर से दूरी 90 किमी है। दूरी ज्यादा होने के कारण इन गांवों में बिजली वोल्टेज सही नहीं रहते। गांवों में पिछले दो दिन से बिजली नहीं मिल रही है। गांव में बिजली आती वह भी बिल्कुल कम वोल्टेज की, जिसके कारण ग्रामीण परेशान है।

एक डीपी बदलने के लिए काट दी 6 गांवों की बिजली

लिखमीसर|
थिराजवाला जीएसएस से शनिवार सुबह नौ से चार बजे तक बिजली के अघोषित कट से उपभोक्ताओं को काफी परेशानी हुई। जानकारी के अनुसार खरलियां गांव में महज एक डीपी बदलने के लिए डिस्कॉम ने आधा दर्जन से अधिक गांवों तथा चकों में बिजली सप्लाई बंद कर दी। इससे तेज गर्मी में लोगों को काफी समस्या हुई। ग्रामीणों ने बताया कि महज एक डीपी के लिए लिखमीसर, खरलियां, तथा क्षेत्र की ढाणियों के अलावा कृषि कार्य के लिए दी जाने वाली बिजली सप्लाई भी ठप रहने से किसानों को असुविधा हुई। वहीं जानकार सूत्रों ने बताया कि डिस्कॉम एमडी ने स्पष्ट निर्देश दे रखे हैं कि गर्मी में मेंटिनेंस कार्य के लिए बिजली कटौती नहीं की जाएगी। परंतु पीलीबंगा उपखंड के अधिकारियों ने डिस्कॉम एमडी के निर्देशों की परवाह नहीं करते हुए सात घंटे से अधिक बिजली कटौती कर बेवजह परेशान किया। वहीं डिस्कॉम एईएन अमित मिश्रा ने बताया कि खरलियां में डीपी बदलने के चलते बिजली सप्लाई बंद करवाई गई थी। ऐसे में अत्यधिक कटौती से उपभोक्ताओं को परेशानी होना स्वाभाविक है।

रावतसर से बिजली सप्लाई करने की मांग

Click to listen..