Hindi News »Rajasthan »Revdar» निंबज और अनापुर के दो सरकारी स्कूल, जहां छुट्टी के दिन-रात में भी लगती है क्लास

निंबज और अनापुर के दो सरकारी स्कूल, जहां छुट्टी के दिन-रात में भी लगती है क्लास

क्लास में बगैर दबाव के आते हैं बच्चे और शिक्षक, अभिभावक भी कर रहे सहयोग भास्कर न्यूज | निंबज जिले के निंबज और...

Bhaskar News Network | Last Modified - Feb 19, 2018, 06:05 AM IST

क्लास में बगैर दबाव के आते हैं बच्चे और शिक्षक, अभिभावक भी कर रहे सहयोग

भास्कर न्यूज | निंबज

जिले के निंबज और अनापुर स्थित राजकीय स्कूलों में शिक्षक की पहल पर बच्चों को बेहतर शिक्षा देने और पढ़ाई का माहौल बनाने के लिए छुट्टी के दिन भी स्कूल में क्लास चलती है। इतना ही नहीं शिक्षकों ने रात के समय भी क्लास शुरू की, जिसमें बच्चे और शिक्षक बगैर किसी दबाव के पहुंचे है। इस कार्य में गांव के अभिभावक भी पूरा सहयोग करते हैं। स्कूल के शिक्षकों ने यह व्यवस्था गत अगस्त माह से शुरू की, जो अभी भी जारी है। आमतौर पर सरकारी स्कूलों मे शिक्षको की अनदेखी के कारण छात्रों के बीच पढ़ाई का माहौल नहीं बन पाता और बच्चे पिछड़ जाते है। विभिन्न घोषित अवकाशों के बीच अक्सर शिक्षक भी चले जाते है। कई बार शिक्षकों के लिए बच्चों को धरना प्रदर्शन करने को भी मजबूर होना पड़ता है, लेकिन रेवदर क्षेत्र के निंबज और अनापुर स्थित सरकारी स्कूल एक ऐसा उदाहरण है, जहां शिक्षकों के साथ बच्चों में भी पढ़ाई के प्रति उत्साह नजर आ रहा है। ग्रामीणों ने बताया कि अन्य दिनों से कुछ कम समय स्कूल चलती है और बच्चे व शिक्षक बगैर किसी दबाव के उत्साह के साथ स्कूल आते है।

शिक्षकों की पहल पर बच्चों को बेहतर शिक्षा देने और पढ़ाई का माहौल बनाने के लिए छह माह पहले शुरू हुई व्यवस्था

निंबज. सरकारी स्कूल में रात में चल रही क्लास। फोटो : भास्कर

6 माह से चल रही एक्सट्रा क्लास

प्रधानाचार्य बलवीर सिंह व अध्यापक रघुवीरसिंह ने बताया कि अगस्त 2017 से रविवार समेत अन्य अवकाश के दिन स्कूल खोलते है और बच्चे अपनी इच्छा से यहां आते है। बच्चों को शिक्षा का अच्छा माहौल मिले और पढ़ लिख कर आगे बढ़ सके इसलिए शिक्षकों ने मिलकर यह काम शुरु किया, जिसमें अभिभावकों का भी पूरा सहयोग मिल रहा है।

शिक्षक कर रहे मेहनत : अभिभावक

अभिभावक नारायण भारती, जबराराम, माधुसिंह, मंगलसिंह, ओबाराम, रामचंद्र, हरीराम, नागजीराम ने बताया बच्चों के लिए शिक्षक मेहनत कर रहे है। अवकाश के दिन भी बच्चों को निशुल्क पढ़ाते हैं। शिक्षक विद्यार्थी जीवन व स्कूल से जुड़े काम में भामाशाहों का भी सहयोग ले रहे हैं।

काफी कुछ सीखने को मिल रहा : विद्यार्थी

स्कूल आने वाले विद्यार्थी हितेश कुमार, विजय कुमार, अशोक, रोशन, गीता कुमारी, नेतल कुमारी, प्रियंका व भावना समेत बच्चों ने बताया कि हम सभी उत्साह के साथ छुट्टी के दिन भी पढ़ने के लिए स्कूल आते है। रात को भी चल रही क्लास में पढ़ाई के लिए अच्छा माहौल बनता है। हमें सीखने को मिलता है।

अनापुर में भी रात को लगती है क्लास

अनापुर गांव के राजकीय उच्च प्राथमिक स्कूल में भी रात को क्लास लगती है। प्रधानाध्यापक अविनाश कुमार ने बताया कि अभिभावकों व शिक्षको के सहयोग से बच्चों को विद्यालय के अतिरिक्त रात को भी क्लास चलाते है।

दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए News in Hindi, Breaking News सबसे पहले दैनिक भास्कर पर |

More From Revdar

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×