• Home
  • Rajasthan News
  • Reodar News
  • पंस की बैठक में हंगामा, प्रधान पर चहेतों को लाभ पहुंचाने के आरोप
--Advertisement--

पंस की बैठक में हंगामा, प्रधान पर चहेतों को लाभ पहुंचाने के आरोप

पंचायत समिति की साधारण बैठक शुक्रवार को पंचायत समिति प्रधान पूंजाराम मेघवाल की अध्यक्षता में हुई। बैठक में उपखंड...

Danik Bhaskar | Apr 07, 2018, 06:30 AM IST
पंचायत समिति की साधारण बैठक शुक्रवार को पंचायत समिति प्रधान पूंजाराम मेघवाल की अध्यक्षता में हुई। बैठक में उपखंड अधिकारी शैलेंद्रसिंह, पंचायत समिति विकास अधिकारी डॉ.दिनेश शर्मा, पंचायत समिति सदस्यों एवं सरपंचों ने भाग लिया। बैठक की शुरुआत ही हंगामे के साथ हुई। बैठक में भाग ले रहे पंचायत समिति सदस्यों ने पंचायत समिति प्रधान पूंजाराम पर भ्रष्टाचार और चहेतों को लाभ पहुंचाने का आरोप लगाया। बैठक के दौरान पंचायत समिति विकास अधिकारी डॉ.दिनेश शर्मा ने बताया कि बैठक में गत बैठक की कार्रवाई की पुष्टि की। इसके बाद पंचायत समिति सदस्यों व सरपंचों ने क्षेत्र में पेयजल, बिजली, सड़क, स्वास्थ्य संबंधित समस्याओं के समाधान की मांग की, जिस पर विभाग के संबंधित अधिकारियों की ओर से समाधान की बात कही गई।

बैठक में पंचायत समिति सदस्य राजेंद्र कोली ने भटाना कम्बोइया खेडा रोड का डामरीकरण करने, कम्बोइया खेडा को राजस्व गांव घोषित करवाने की मांग की। बैठक में पेयजल को लेकर गांवों में गर्मी के समय विकट स्थिति नहीं बने, इसको लेकर गांवों में खराब पड़े हैंडपंपों को ठीक कराने के निर्देश विकास अधिकारी ने जलदाय विभाग के सहायक अभियंता को दिये। पंचायत समिति प्रधान ने बैठक में कहा कि ग्रामीण सड़कों पर दोनों और बबूल की झाड़ियां खड़ी होने के कारण आए दिन हादसे हो रहे है। इस समस्या के समाधान को लेकर समिति की हर बैठक में चर्चा होती है, लेकिन समाधान नहीं हो रहा है।

पंचायत समिति सदस्यों व सरपंचों ने क्षेत्र में पेयजल, बिजली, सड़क, स्वास्थ्य संबंधित समस्याओं के समाधान की मांग उठाई

रेवदर. पंचायत समिति सभागार में आयोजित बैठक में मौजूद प्रधान, जनप्रतिनिधि एवं विभाग के अधिकारी।

प्रधान पर लगाए आरोप

पंचायत समिति की बैठक हंगामे के साथ शुरू हुई, जिसमें पंचायत समिति सदस्य सूरताराम देवासी, रणजीत कोली, शिल्पा चौधरी, राजेंद्र कोली, कनिका टांक ने प्रधान पर भ्रष्टाचार का आरोप लगाते हुए कहा कि प्रधान अपने चहेतों को पद का दुरुपयोग कर लाभ पहुंचा रहे है। समिति के सदस्यों के साथ भेदभाव किया जा रहा है और समिति के फंड भी ऐसी ही समिति के सदस्य के कहने पर आवंटित कराते है, जो उनके खास बने हुए है। ऐसे में समिति के सभी सदस्यों को समिति के फंड को आवश्यकता अनुसार आवंटित किया जाए। इस दौरान बैठक में जमकर हंगामा हुआ।

जनप्रतिनिधियों को जानकारी देकर करवाए जा रहे काम

बैठक में भाग ले रहे पंचायत समिति सदस्यों ने मांग रखी की समिति फंड से कराए जा रहे विकास कार्यों को उनके ध्यान में लाकर ही करवाए जाए। इस पर विकास अधिकारी ने कहा कि समिति की ओर से किसी किसी भी प्रकार का करवाए जाने वाला काम संबंधित पंचायत समिति सदस्य के ध्यान में लाकर ही करवाया जा रहा है। साथ ही आगे भी उनकी मंशा के आधार पर ही करवाया जाएगा। उन्होंने कहा, कि पंचायत समिति सदस्य एवं सरपंचों के सम्मान का पूरा ध्यान रखा जाएगा।

सभी गांव होंगे रोशन

बैठक में विकास अधिकारी डॉ. दिनेश शर्मा ने बताया कि ग्राम पंचायतों के माध्यम से टेंडर करवा कर पंचायत समिति की हर ग्राम पंचायत के गांव में एलईडी बल्ब लगा कर गांवों की गलियों को रोशन किया जाएगा। इसको लेकर प्रक्रिया शुरू कर दी गई है, जिससे समिति का हर गांव बिजली से रोशन हो सके। बैठक में पंचायत समिति सदस्य रणजीत कोली, राजेंद्र कोली, पूजा भाटी, सूरताराम, मेघाराम, शिल्पा चौधरी, मानसिंह देवड़ा, देवाराम, हरजीराम कोली, सरपंच वरमाण वगताराम, अनादरा केसाराम, मारोल खेतदान चारण समेत उपखंड स्तरीय अधिकारियों ने भाग लिया।





, किशोर बाफना, मोतीराम कोली, राजाराम, दौलपुरा भूराराम, वीणा रावल, गीता देवी, रमेश कुमार, भगवत कुंवर, कृष्ण कुमार समेत उपखंड स्तरीय अधिकारियों ने भाग लिया।

समिति में बनेगी पेयजल के लिए बड़ी टंकी और मैरिज गार्डन

बैठक में समिति विकास अधिकारी डॉ.दिनेश शर्मा ने बताया कि पंचायत समिति परिसर में खाली पड़ी भूमि पर समिति की निजी आए बढ़ाने के लिए समिति परिसर में मैरिज गार्डन बनाया जाएगा। साथ ही समिति के कर्मचारियों के रहने के लिए भवन, विश्राम भवन भी बनाया जाएगा। उन्होंने बताया कि समिति परिसर में आए दिन पेयजल समस्या का सामना करना पड़ता है। ऐसे में समिति में करीब एक लाख लीटर की पेयजल की उच्च जलाशय टंकी का निमार्ण करवाया जाएगा। साथ ही समिति कार्यालय को पूरा हाईटेक बनाया जाएगा, जिसका पंचायत समिति सदस्यों एवं जनप्रतिनिधियों ने समर्थन कर कार्य टेंडरों के माध्यम से कराने की बात कही। विकास अधिकारी ने बताया कि समिति परिसर में सभी प्रकार के कार्य पूरी पारदर्शिता के साथ कराए जाएंगे।

सरपंचों ने कहा- तीन सालों से अटकी पड़ी है फाइलें

बैठक के दौरान विकास अधिकारी ने बताया कि समिति की ग्राम पंचायतों, उपस्वास्थ्य केंद्र, फूड गोदाम निमार्ण के कार्य भूमि के अभाव में नहीं हो रहे है। ऐसे में भूमि आवंटन के लिए संबंधित सरपंच दस्तावेज भेजे। इस पर जीरावल सरपंच वीणा देवी रावल ने कहा कि ऐसी फाइलें तहसील और उपखंड अधिकारी कार्यालय में गत दो से तीन सालों से अटकी पड़ी हैं, लेकिन इन दोनों कार्यालयों में हमारी कोई सुनवाई नहीं होती है। इस पर सभी सरपंचों ने कहा कि ग्राम पंचायतों में सरपंचों की ओर से श्मशान, खेल मैदान हो या रियायती दर पर लोगों को भूमि देने के मामले को संबंधित पटवारी सरपंचों को भ्रष्ट बता कर उच्च अधिकारियों को लिखित में रिपोर्ट कर रहे है और उच्च अधिकारी भी इस समस्या समाधान को लेकर कोई ध्यान नहीं दे रहे।

किया जा रहा भेदभाव


मनमर्जी से किया आवंटन