Hindi News »Rajasthan »Rupangarh» टीचर्स की बाॅयोमेट्रिक मशीन से आठों पीरियड में होगी अटेंडेंस

टीचर्स की बाॅयोमेट्रिक मशीन से आठों पीरियड में होगी अटेंडेंस

सुरेन्द्र वैष्णव | हरमाड़ा तिलोनिया उपखंड में नए शिक्षा सत्र में जुलाई से सभी सरकारी स्कूलों में अध्यापकों की...

Bhaskar News Network | Last Modified - May 22, 2018, 06:35 AM IST

टीचर्स की बाॅयोमेट्रिक मशीन से आठों पीरियड में होगी अटेंडेंस
सुरेन्द्र वैष्णव | हरमाड़ा तिलोनिया

उपखंड में नए शिक्षा सत्र में जुलाई से सभी सरकारी स्कूलों में अध्यापकों की हाजिरी बाॅयोमैट्रिक मशीन से होगी।

टीचर्स की अटेंडेंस आठों पीरियड में ली जाएगी। इससे अब टीचर्स बंक नहीं मार पाएंगे। उनके स्कूल में देरी से आने पर वेतन में कटौती होगी। वर्तमान में उपखंड के ग्यारह स्कूलों और जिले में 65 स्कूलों में बायोमैट्रिक मशीन से अध्यापकों की हाजिरी ली जा रही है। अब बायोमैट्रिक मशीन उन्हीं स्कूलों मेें लगाई जाएगी जहां पर पीईईओ कार्यालय संचालित है। इस मशीन से अध्यापकों की आठों पीरियड की अटेंडेंस इसी मशीन से होगी। इसे शिक्षा विभाग मे बड़े फेरबदल के बाद अध्यापकों की उपस्थिति को भी बदलाव के रूप में देखा जा रहा है। इस बाबत सरकार ने इसके आदेश जारी कर दिए है। तथा उच्च स्तर पर प्रथम चरण में 3.2 लाख मशीनों का आॅर्डर एचटी इन्फोसिस ग्रुप को दिया गया है।

एक मशीन से 265 टीचर्स की अटेंडेंस, 15 दिन का बैकअप

यह मशीन पूरी तरह से नेट आधारित मैकेनिज्म है। एक मशीन मे करीब 265 अध्यापकों की उपस्थिति लेने की क्षमता है। इस मशीन का निर्माण शिक्षा विभाग के दिशा निर्देशों के अनुरूप हुआ है। इसमें आकस्मिक अवकाश, उपार्जित अवकाश मेडिकल अवकाश तथा प्रसूति जैसे अवकाशों को समावेशित करने की क्षमता है। हाई टेक्नोलाॅजी द्वारा निर्मित मशीन में लगा सेंसर किसी भी तकनीकी खराबी या छेड़छाड़ को इंगित करेगा। इसकी सूचना पीईईओ, डीईओ के साथ निदेशालय तक पहुंच सकेगी। यह मशीन एक बार चार्ज होने के बाद 15 दिन तक बैकअप देगी। इसके अलावा इसमें बैटरी भी लगी है। मशीन का रखरखाव उक्त कम्पनी के इंजीनियरों द्वारा वर्ष में तीन बार किया जाएगा।

पीईईओ मे होगा सर्वर

सरकारी स्कूलों में जैसे ही अध्यापक बायोमैट्रिक मशीन में स्विच दबाएगा तो उसकी उपस्थिति मशीन में दर्ज होने के साथ पीईईओ के सर्वर पर भी दर्ज हो जाएगी। यही उपस्थिति जिला मुख्यालय पर लगे इन्टरजंक्न सर्वर द्वारा भी दर्ज की जाएगी जो डीईओ कार्यालय में प्रतिस्थापित होगा। माह के अंतिम दिवस पर पीईईओ को सर्वर द्वारा सभी अध्यापकों की उपस्थिति की हार्डकाॅपी निकालनी होगी जिसे प्रमाणित करके डीईईओ कार्यालय भेजनी होगी जहां पर दिवस वार उपस्थिति का मिलान किया जाएगा। प्रमाणित हार्डकाॅपी के जरीय पीईईओ द्वारा माह विशेष का वेतन बनाया जाएगा।

केवल फिंगर प्रिंट रीड करेगी मशीन

राज्य की सभी राप्रावि, राउप्रावि, रामावि, राउमावि विद्यालय में प्रधानाध्यापक कक्ष में बायोमैट्रिक मशीन स्थापित की जाएगी। इसके तहत एक बार स्कूल में आने के लिये और दूसरी बार छुटटी के बाद जाते समय अंगूठा दबाना होगा। वहीं आठों कालांशों में आठ बार स्विच दबाकर फिंगर प्रिंट देना होगा। मशीन केवल फिंगर प्रिंट को ही रीड करेगी।

11 स्कूलों में लगी मशीन

उपखंड के 11 स्कूलों में बायोमैट्रिक मशीन से उपस्थिति ली जा रही है। इसमें मुंडोती, नयागांव, हरमाड़ा, नयागांव, सरगांव, डींडवाड़ा गर्ल्स, खंडाच, टोंकड़ा, बुहारू, ब्रजपुरा, राईका बाग, रूपनगढ़, चुरली शामिल हंै।

दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए News in Hindi, Breaking News सबसे पहले दैनिक भास्कर पर |

More From Rupangarh

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×