--Advertisement--

मंदिर के स्थापना दिवस पर हुआ हवन

साहवा. नागणेचिया मंदिर के स्थापना दिवस पर हवन में आहुतियां देते श्रद्धालु। भास्कर न्यूज | साहवा वार्ड 15 में...

Dainik Bhaskar

Feb 02, 2018, 02:55 AM IST
मंदिर के स्थापना दिवस पर हुआ हवन
साहवा. नागणेचिया मंदिर के स्थापना दिवस पर हवन में आहुतियां देते श्रद्धालु।

भास्कर न्यूज | साहवा

वार्ड 15 में स्थित नागणेचिया माता मंदिर के स्थापना दिवस पर गुरुवार को पूजा-अर्चना कर हवन किया गया। पंडित रामप्रताप जोशी के सानिध्य में हुए कार्यक्रम में पंडितों ने मंत्रोच्चार के साथ हवन करवाया तथा श्रद्धालुओं ने आहुतियां दी। इस मौके पर पुजारी गजेंद्रसिंह राठौड़, महावीर सांकरोत, शुभेसिंह, बलवीर सांकरोत, शंभूसिंह शेखावत, पूर्णसिंह राठौड़, मोंटूसिंंह, मालवंद धूंधावत, इंद्रचंद भार्गव, शेरसिंह, अनिल सांकरोत, राजेंद्र भार्गव आदि उपस्थित थे। पुजारी गजेंद्रसिंह राठौड़ ने बताया कि भीलवाड़ा के कलाकारों भजनों की प्रस्तुतियां देकर माता का गुणगान किया।

धर्म

नागणेचिया माता मंदिर का स्थापना दिवस

संत रविदास महाराज की जयंती मनाई

सादुलपुर | बिराण गांव के रविदास आश्रम में सत्संगी समाज की ओर से संत शिरोमणि रविदास महाराज की जयंती आनंद परमानंद आश्रम में मनाई गई। सेवादार सुधानंद बिराण ने कहा कि संत रविदास बहुत ही कठिन परिस्थितियों में रहते हुए संत शिरोमणि कहलाए। देश का नाम, भारत की संस्कृति विश्वभर में फैलाई। 151 साल के जीवनकाल में 51 राजा, महाराजा, रानियों को उन्होंने अपनी शरण में रखा और आम आदमी को उन्हीं के साथ एक कतार में बैठाया। हरियाणा के संत सतगुरू बाबू साहेब की देखरेख में रविदास आश्रम बिराण का संचालन किया जाता है, जो हर दशमी तिथि को सत्संग व भंडारा लगाया जाता है। इस मौके पर अनुयायियों ने रविदास महाराज के विचारों पर चलने का आह्वान किया।

X
मंदिर के स्थापना दिवस पर हुआ हवन
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..