• Hindi News
  • Rajasthan
  • Sagwara
  • शहर में सबसे पहले मांडवी चौक पर होली दहन कर निभाई परंपरा
--Advertisement--

शहर में सबसे पहले मांडवी चौक पर होली दहन कर निभाई परंपरा

Sagwara News - सागवाड़ा. शहर सहित गांवों में गुरुवार शाम को शुभ मुहूर्त अनुसार होलिका पूजन कर होली दहन किया गया। परंपरा के...

Dainik Bhaskar

Mar 04, 2018, 04:10 AM IST
शहर में सबसे पहले मांडवी चौक पर होली दहन कर निभाई परंपरा
सागवाड़ा. शहर सहित गांवों में गुरुवार शाम को शुभ मुहूर्त अनुसार होलिका पूजन कर होली दहन किया गया।

परंपरा के मुताबिक नगर पालिका की ओर से मांडवी चौक पर होलिका दहन हुआ। होली की आग को ले जाकर विभिन्न मोहल्लों में होली जलाई गई। मांडवी चौक पर पंडि़त जयदेव शुक्ला के मंत्रोच्चार के साथ पालिकाध्यक्ष निर्मला अहारी, तहसीलदार सुबोध सिंह चारण, पूर्व पालिकाध्यक्ष सत्यनारायण सोनी, विजय कुमार जैन, पार्षद नानालाल दर्जी, रजनीश व्यास, जयंतीलाल बोबड़ा, प्रवीण अहारी, बदामीलाल मेहता सहित गणमान्य नागरिकों द्वारा विधिविधान पूर्वक पूजन किया गया। जिसके बाद होली दहन हुआ। परमारवाड़ा में शुक्रवार शाम को कंडों की राड खेली।

गामड़ा ब्राह्मणिया में गैर में युवाओं ने बढ़चढ़ कर हिस्सा लिया। टामटिया में एक साथ 100 से ज्यादा कुंडी और 51 ढोल की थाप के बीच ग्रामीणों ने पारंपरिक गैर नृत्य खेला। पुनर्वास कॉलोनी के डी ब्लॉक में कलाल समाज का सामूहिक ढूंढ़ोत्सव एवं स्नेह मिलन समारोह हुआ। उधर, सामलिया में शनिवार को गैर खेली गई।

साड़ियाजी के दर्शन कर मांगी मन्नतें : होली को लेकर सालों से चली आ रही परंपरा के तहत पोल का कोठा व पुजारवाड़ा में युवाओं द्वारा मिट्टी की साड़ियाजी की प्रतिमाएं बनाई गई। नवविवाहित जोड़ों सहित नागरिकों ने दर्शन कर संतान प्राप्ति व संतान के दीर्घायु होने की कामना की।

सागवाड़ा. कंसारा चौक में उत्साह के साथ होली खेलते शहरवासी।

कोकापुर में दहकते अंगारे किए पार

कोकापुर गांव में होली के दूसरे दिन शुक्रवार को ग्रामीणों ने दहकते अंगारे पार किए। कई सालों पुरानी रोमांच से भरी इस परंपरा को देखने आसपास क्षेत्र के कई ग्रामीण उमड़े। अलसुबह ढोल-कुंडी की थाप और होली माता के जयकारों के बीच बुजुर्ग और युवाओं ने एक के बाद एक होली के अंगारे पार कर दिए।

सागवाड़ा. शहर सहित गांवों में गुरुवार शाम को शुभ मुहूर्त अनुसार होलिका पूजन कर होली दहन किया गया।

परंपरा के मुताबिक नगर पालिका की ओर से मांडवी चौक पर होलिका दहन हुआ। होली की आग को ले जाकर विभिन्न मोहल्लों में होली जलाई गई। मांडवी चौक पर पंडि़त जयदेव शुक्ला के मंत्रोच्चार के साथ पालिकाध्यक्ष निर्मला अहारी, तहसीलदार सुबोध सिंह चारण, पूर्व पालिकाध्यक्ष सत्यनारायण सोनी, विजय कुमार जैन, पार्षद नानालाल दर्जी, रजनीश व्यास, जयंतीलाल बोबड़ा, प्रवीण अहारी, बदामीलाल मेहता सहित गणमान्य नागरिकों द्वारा विधिविधान पूर्वक पूजन किया गया। जिसके बाद होली दहन हुआ। परमारवाड़ा में शुक्रवार शाम को कंडों की राड खेली।

गामड़ा ब्राह्मणिया में गैर में युवाओं ने बढ़चढ़ कर हिस्सा लिया। टामटिया में एक साथ 100 से ज्यादा कुंडी और 51 ढोल की थाप के बीच ग्रामीणों ने पारंपरिक गैर नृत्य खेला। पुनर्वास कॉलोनी के डी ब्लॉक में कलाल समाज का सामूहिक ढूंढ़ोत्सव एवं स्नेह मिलन समारोह हुआ। उधर, सामलिया में शनिवार को गैर खेली गई।

साड़ियाजी के दर्शन कर मांगी मन्नतें : होली को लेकर सालों से चली आ रही परंपरा के तहत पोल का कोठा व पुजारवाड़ा में युवाओं द्वारा मिट्टी की साड़ियाजी की प्रतिमाएं बनाई गई। नवविवाहित जोड़ों सहित नागरिकों ने दर्शन कर संतान प्राप्ति व संतान के दीर्घायु होने की कामना की।

X
शहर में सबसे पहले मांडवी चौक पर होली दहन कर निभाई परंपरा
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..