--Advertisement--

2 संदिग्ध मौतें, पुलिस मान रही सुसाइड

डूंगरपुर। पिछले सप्ताह कोतवाली और सदर थाना क्षेत्रों में सनसनी फैलाने वाली संदिग्ध मौतें हुए। इतना समय गुजरने के...

Danik Bhaskar | Apr 01, 2018, 06:05 AM IST
डूंगरपुर। पिछले सप्ताह कोतवाली और सदर थाना क्षेत्रों में सनसनी फैलाने वाली संदिग्ध मौतें हुए। इतना समय गुजरने के बाद भी पुलिस अब तक अपने पहले के बयान पर कायम है और सुसाइड ही मान जा रही है। 24 मार्च को सुबह करीब 10 बजे पाल देवल के माताजी फला में कनियाला घाटा के ढलान पर पुलिया के पास ही एक युवक का शव अधजली हालत में दिखाई दिया था। काफी प्रयासों के बाद भी उसकी पहचान दूसरे दिन हो सकी थी। शव जला हुआ शव होने के कारण अकड़ गया था और उसके शरीर का आधा हिस्सा पुलिए के नीचे की ओर लटका हुआ था।

पालदेवल सरपंच सोहनलाल की रिपोर्ट पर केस दर्ज हुआ। दूसरे दिन मृतक के बेटों ने आकर शव की पहचान मौड़ासा निवासी नलीन पुत्र हीरालाल कोठारी के रूप में हुई थी। उसके बेटे ने पुलिस को बताया था कि वह घर से 7 दिन पहले एक हजार रुपए लेकर श्रीनाथजी दर्शन को निकला था। ऐसे में बीच रास्ते में डूंगरपुर में उसका शव मिलना पूरी तरह संदिग्ध है। वहीं पुलिस को जानकारी यह भी मिली कि वह एक दिन पहले डूंगरपुर के आसपास देखा गया था। उल्लेखनीय है कि इसके बाद मृतक के परिजन शव को गुजरात भी नहीं ले गए। शव का दाह संस्कार भी डूंगरपुर में ही हुआ। यहां तक की शव को श्मशान तक ले जाने के लिए मोक्षवाहिनी में कोई भी परिजन नहीं बैठा। वाहन में केवल शव ही श्मशान तक पहुंचा था।

नया अस्पताल मार्ग पर दुकानों के ऊपर एक कमरे में मांडवा खापरड़ा फला नवाघरा निवासी चंदूलाल (22) पुत्र बाबूलाल कटारा पंखे पर फंासी के फंदे से 25 मार्च को लटका हुआ मिला। कमरे के बाहर ताला लगा हुआ मिलने से मौत पर कई तरह के सवाल खड़े हुए थे। उसकी प|ी के 12वीं कक्षा की परीक्षाएं चलने से वह पिछले कुछ समय से शहर में कमरा किराए से लेकर रह रहा था।

ब्राउन शुगर के साथ गिरफ्तार महिला को जेल भेजा

सागवाड़ा। ब्राउन शुगर के साथ पकड़ी गई महिला को पुलिस ने शनिवार को कोर्ट में पेश किया। जहां से उसे उदयपुर जेल भेजने के आदेश हुए। सीआई रामेश्वर भाटी ने बताया कि शुक्रवार को हड़माला गांव में कार्रवाई कर लता प|ी अंसार उर्फ सोनू के कब्जे से करीब 6.30 ग्राम अवैध रूप से रखी ब्राउन शुगर बरामद कर उसे गिरफ्तार किया था।