• Hindi News
  • Rajasthan News
  • Saipau News
  • ईंट-भट्टों पर काम कर रहे 72 मजदूर कराए मुक्त, भेजेंगे उनके घर छत्तीसगढ़
--Advertisement--

ईंट-भट्टों पर काम कर रहे 72 मजदूर कराए मुक्त, भेजेंगे उनके घर छत्तीसगढ़

थाना इलाके के गांव तमीसो में नेशनल कैंपेन कमेटी फाॅर इंडिकेशन आफ ब्रांडेड लेबर के कन्वीनर निर्मल गौराना के...

Dainik Bhaskar

Feb 04, 2018, 07:00 AM IST
ईंट-भट्टों पर काम कर रहे 72 मजदूर कराए मुक्त, भेजेंगे उनके घर छत्तीसगढ़
थाना इलाके के गांव तमीसो में नेशनल कैंपेन कमेटी फाॅर इंडिकेशन आफ ब्रांडेड लेबर के कन्वीनर निर्मल गौराना के नेतृत्व में एक ईंट भट्टे पर मानव तस्करी व बंधुआ मजदूरी की शिकायत पर कार्रवाई की गई। कार्रवाई के दौरान छत्तीसगढ़ के रहने बाले 23 परिवारों के 72 लोगों को मुक्त कराया गया है। इधर, मजदूरों ने बताया कि वे जो काम करते है उसके बदले उन्हें सिर्फ पेट भरने का खर्च दिया जाता है। जबकि उनकी मजदूरी काफी बनती है। ऐसे में न तो उनको पूरी मजदूरी दी जाती है और न ही गांव को जाने दिया जाता है। टीम ने लेनदेन के रिकार्ड की जानकारी जुटाई जा रही थी। जिससे मजदूरों की रकम का लेनदेन कराकर उनको गांव भेजा जा सके।

मानव तस्करी और बंधुआ मजदूर को रोकने के लिए कार्य कर रहे एक राष्ट्रीय स्तर के नेटवर्क के कन्वीनर निर्मल गौराना और उनकी टीम ने स्थानीय तहसीलदार देवीराम मीणा और थाना पुलिस के साथ ईंट भट्टे पर जाकर कार्रवाई की। टीम के सदस्यों ने सभी मजदूरों को एक स्थान पर बिठाकर बयान दर्ज किए गए। मजदूरों ने बताया कि उनको ईंट भट्टा संचालक के द्वारा जबरन रोककर मजदूरी कराई जा रही है और लंबे समय से उनको अपने गांव भी नहीं जाने दिया जा रहा है। सभी मजदूरों को गैर कानूनी तरीके से लाया गया है और उनसे गैर बंधुआ मजदूरी कराई जा रही है। कार्रवाई के दौरान तहसीलदार देवीराम मीणा, ह्यूमन राइट लाॅ नेटवर्क दिल्ली की एडवोकेट आसिन, भ्रष्टाचार निवारण कमेटी से सतीष कुमार, श्रम कल्याण अधिकारी शिवचरण मीणा आदि मौजूद थे।

सैंपऊ. ईंट भट्टे पर मजदूरों के बयान लेते हुए टीम कन्वीनर और सदस्य।

मुक्त मजदूर सरकारी स्कूल के में ठहराए

ईंट भट्टे पर कार्रवाई के बाद मुक्त कराए मजदूरों को तहसील प्रशासन के द्वारा फिलहाल सैंपऊ के सरकारी स्कूल के भवन में ठहराया गया है। तहसीलदार देवीराम मीणा ने बताया कि मजदूरों को उनके घर भेजने की व्यवस्था की जा रही है। उनके रहने के लिए सरकारी स्कूल भवन के कमरों को खुलवाने के साथ उनके भोजन की व्यवस्था भी की गई है। सुबह सभी मजदूरों को उनके घरों के लिए प्रशासनिक अधिकारियों के निर्देश पर रवाना किया जाएगा।

X
ईंट-भट्टों पर काम कर रहे 72 मजदूर कराए मुक्त, भेजेंगे उनके घर छत्तीसगढ़
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..