Hindi News »Rajasthan »Saramathura» दहेज प्रथा और मृत्युभोज जैसी बुराइयों को त्यागने और एकजुटता का लिया संकल्प

दहेज प्रथा और मृत्युभोज जैसी बुराइयों को त्यागने और एकजुटता का लिया संकल्प

कस्बा में सोमवार को राजपूत समाज की बैठक रावर पैलेस में आयोजित की गई। बैठक की अध्यक्षता कर रहे राव सुरेन्द्र सिंह...

Bhaskar News Network | Last Modified - Apr 03, 2018, 06:25 AM IST

कस्बा में सोमवार को राजपूत समाज की बैठक रावर पैलेस में आयोजित की गई। बैठक की अध्यक्षता कर रहे राव सुरेन्द्र सिंह ने समाज के इतिहास पर प्रकाश डालते हुए कहा कि सरमथुरा सहित क्षेत्र का राजपूत समाज बिखरा हुआ है इसको संगठित करने के लिए सभी राजपूतों को पहल करनी चाहिए। राव ने समाज की एक जुटता के लिए प्रत्येक महीने के अंतिम रविवार को बैठक करने का प्रस्ताव रखा जिसे सभी राजपूतों ने सहर्ष स्वीकार करते हुए अच्छा कदम बताया।

सभा में उपस्थित रघुवीर सिंह बीझौली ने बताया कि समाज में व्याप्त कुरीतियों जैसे, मृत्युभोज, दहेज प्रथा आदि पर रोक लगनी चाहिए। वही बैठक को सं‍बोधित करते हुए संजू सिंह झिरी ने कहा कि राजपूत समाज की प्रतिभाओं का सम्मान होना चाहिए ताकि शिक्षा के क्षेत्र में समाज की प्रतिभाएं निखरें और उनका मनोबल बढ़े वही कप्तान सिंह ददरौनी ने समाज की सदस्यता पर जोर देते हुए कहा कि सरमथुरा सहित क्षेत्र के चांदपुरा, बीलौनी, खरौली, कौनेसा, झिरी, शंकरपुर, भम्पुरा, दुर्गसी, गिरोनिया, महारपुर ,गोपालपुरा, सिंरौना, मदनपुर, गौलारी, किलेदारपुरा, मोतीसिंहपुरा व मोरीपुरा के सभी राजपूतों को समाजहित में आगे आना चाहिए। इस मौके पर गुलाब सिंह जादौन,वासुदेव जादौन,पान सिंह, इन्द्रजीत सिंह, अतर सिंह, धर्मेन्द्र सिंह चौहान, नरेन्द्र सिंह सिकरवार, राजपाल सिंह जादौन,रूप सिंह, शुभम जादौन, भरत परमार, विवेक जादौन सहित क्षेत्र के राजपूत समाज के सरदार मौजूद थे।

सरमथुरा. रावर पैलेस में बैठक करते राजपूत समाज के लोग।

राजपूत समाज के उपाध्यक्ष बने जादौन

बैठक के दौरान राजपूत समाज के अध्यक्ष राव सुरेन्द्र सिंह ने कार्यकारिणी विस्तार करते हुए उपाध्यक्ष पद पर रघुवीर सिंह जादौन, सचिव पद पर फूल सिंह जादौन, कोषाध्यक्ष पद पर दिलीप सिंह परमार को नियुक्त करते हुए प्रयाग सिंह महारपुर, राजेश सिंह जादौन, प्रताप सिंह ददरौनी, पूरण प्रताप सिकरवार, राजेन्द्र सिंह चौहान, सोमू जादौन, शालिनी तौमर, सुमनलता सिकरवार को सदस्य बनाया। साथ ही इक्कीस सदस्यीय कार्यकारिणी का गठन भी किया गया। जिसमें क्षेत्र के प्रत्येक राजपूत को शामिल किया गया।

प्रत्येक गांव से समाज के लोगों की जानकारी एकत्रित करें युवा

राजपूत समाज की बैठक में सभी राजपूतों ने एकजुटता का समर्थन करते प्रत्येक गांव से राजपूत परिवारों का डाटा तैयार करने का निर्णय लिया गया जिसमें युवाओं को जिम्मेदारी देते हुए गांव-गांव जाकर डाटा जुटाने की जिम्मेदारी दी। जिसे युवाओं ने स्वीकार करते हुए कहा कि समाज हित के लिए वह जल्द से जल्द डाटा तैयार कर लेगें।

दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए News in Hindi, Breaking News सबसे पहले दैनिक भास्कर पर |

More From Saramathura

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×