सरमथुरा

--Advertisement--

भुगतान अटका, बालिका छात्रावास में दूध-सब्जी व गैस की आपूर्ति बंद

भास्कर संवाददाता | सरमथुरा/आंगई प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी बेटी बचाओ, बेटी पढ़ाओ का नारा देते हुए बालिका...

Dainik Bhaskar

Feb 03, 2018, 07:00 AM IST
भुगतान अटका, बालिका छात्रावास में दूध-सब्जी व गैस की आपूर्ति बंद
भास्कर संवाददाता | सरमथुरा/आंगई

प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी बेटी बचाओ, बेटी पढ़ाओ का नारा देते हुए बालिका शिक्षा को बढ़ावा देने में लगे हुए है लेकिन उपखंड के जोरगढ़ी में स्थित अनुसूचित जनजाति बालिका आवासीय छात्रावास अव्यवस्थाओं के कारण बदहाली के दौर से गुजर रहा है। छात्रावास में भुगतान के अभाव में आपूर्तिकर्ताओं ने बालिकाओं के लिए पौष्टिक आहार तक बंद कर दिया है, जिसके कारण बालिकाओं के स्वास्थ्य पर विपरीत प्रभाव पड़ने की संभावना है।

छात्रावास का आलम यह है कि जिला परिषद ने पांच माह से छात्रावास की व्यवस्था के लिए दूध, सब्जी, रसोई सिलेंडर व कपड़ा धुलाई तक का भुगतान नहीं किया है, जिसके कारण आपूर्तिकर्ताओं ने सामान मुहैया कराना बंद कर दिया है जिसके कारण बालिकाओं को पौष्टिक आहार मिलना बंद हो गया है। इसी प्रकार बजट के अभाव में छात्रावास की विद्युत व्यवस्था भी पंगु बनी हुई है। छात्रावास में पांच माह से विद्युत बॉक्स फूंका पड़ा है जिसके कारण छात्रावास के चार कमरा, बाथरूम व किचिन तक में अंधेरा व्याप्त है वहीं विद्युत लाइन क्षतिग्रस्त होने के कारण बाथरूम व वार्डन किचिन में करंट तक दौड़ रहा है जिससे कभी भी कोई बड़ा हादसा होने की संभावना है। वार्डन दुर्गेश परमार ने बताया कि जिला परिषद द्वारा सितंबर 2017 से छात्रावास में बालिकाओं के लिए बजट मुहैया नहीं कराया गया है जिसके कारण दूध, सब्जी, रसोई सिलेंडर व कपड़ा धुलाई तक बंद होने के कगार पर पहुंच गई है। दूध व सब्जी के आपूर्तिकर्ताओं ने पैसे नहीं मिलने के कारण सामान देने से मना कर दिया है। बजट के अभाव में छात्रावास की व्यवस्थाएं प्रभावित हो रही है।

आंगई. छात्रावास में फंुका पड़ा विद्युत बाॅक्स।

विधायक को समस्या से अवगत करा चुकी हैं सभी बालिकाएं

छात्रावास में व्याप्त अव्यवस्थाओं को लेकर गुरुवार को निरीक्षण के दौरान बसेड़ी विधायक रानी सिलोटिया को अवगत कराते हुए व्यवस्थाओं को दुरूस्त कराने की मांग की थी। विधायक को छात्रा शशि, पुष्पा, शिखा, सपना व पूजा आदि ने बताया कि छात्रावास में पांच माह से विद्युत बॉक्स फुंकने के कारण चार कमरों की बिजली बंद पड़ी है। वहीं बाथरूम व वार्डन किचिन में करंट दौड़ रहा है जिसके कारण कभी भी कोई हादसा होने की संभावना है। छात्राओं ने विधायक को बताया कि पूर्व में बाथरूम से एक बालिका को बिजली का करंट लगने से घायल हो चुकी है। फिर भी प्रबंधन छात्रावास की व्यवस्थाओं को लेकर गंभीर नहीं।

करीब ढाई लाख का भुगतान शेष

छात्रावास की वार्डन दुर्गेश परमार ने बताया कि छात्रावास पर सामान आपूर्तिकर्ताओं के दो से ढाई लाख के करीब बकाया है जिसके कारण छात्रावास की व्यवस्थाएं प्रभावित हो रही है। उन्होंने बताया कि जिला परिषद द्वारा सितंबर 2017 से दूध, सब्जी, रसोई सिलेंडर व कपड़ा धुलाई आदि खर्चा रोका हुआ है। कई बार उच्च अधिकारियो से संपर्क करने के बावजूद राशि मुहैया नहीं कराई जा रही है जिसका असर छात्रावास की व्यवस्थाओं पर पड़ रहा है।

X
भुगतान अटका, बालिका छात्रावास में दूध-सब्जी व गैस की आपूर्ति बंद
Click to listen..