समुदाय विशेष के लोगों ने की मारपीट, घटना की निंदा / समुदाय विशेष के लोगों ने की मारपीट, घटना की निंदा

Sawai Madhopur News - सवाईमाधोपुर। पीड़ितों से जानकारी लेते विधायक दीया। सवाई माधोपुर| गत दिवस शहर में समुदाय विशेष के युवकों द्वारा...

Bhaskar News Network

Feb 19, 2018, 06:15 AM IST
समुदाय विशेष के लोगों ने की मारपीट, घटना की निंदा
सवाईमाधोपुर। पीड़ितों से जानकारी लेते विधायक दीया।

सवाई माधोपुर| गत दिवस शहर में समुदाय विशेष के युवकों द्वारा रैगर समाज की महिलाओं के साथ की गई मारपीट प्रकरण को लेकर टोंक-सवाईमाधोपुर सांसद सुखबीर सिंह जौनापुरिया तथा स्थानीय विधायक दीया कुमारी अलग-अलग समय में शहर रैगर बस्ती पहुंचे तथा पीड़ितों से घटना की जानकारी ली। इस दौरान उन्होंने घटना की निंदा करते हुए क्षेत्र की शांति बहाली के लिए हर संभव प्रयास का भरोसा दिया तथा पुलिस अधिकारियों से घटना को लेकर फोन पर वार्ता की।

मस्जिद के सामने से बैंड बंद करवाना कहां का नियम: रैगर समाज के लोगों ने घटना की जानकारी देते हुए सांसद व विधायक से पूछा कि कौनसा कानून है जिसके तहत नमाज नहीं होने की स्थिति में मस्जिद के सामने बैंड बंद किया जाए तथा मस्जिद निकलने पर बैंड बजाया जाए। इस पर सांसद व विधायक ने पुलिस अधिकारियों से घटना की विस्तृत जानकारी लेते हुए इस बारे में पूछा। इस पर सांसद ने कहा कि मस्जिद के सामने डीजे को बजाने पर रोक लगाना दादागिरी है। अपराधियों को गिरफ्तारी के लिए प्रशासन से मुलाकात की जाएगी। समुदाय विशेष के लोग खेद प्रकट करें तथा उदण्डियों के खिलाफ सख्त कार्रवाई की जाए।

पीड़ितों के घर पहुंचे सांसद व विधायक, शांति की अपील

प्रकरण की जानकारी लेते सांसद सुखबीर जौनापुरिया।

दादागीरी बर्दाश्त नहीं की जाएगी

सांसद ने कहा कि मंदिर व मस्जिद के सामने से बैंड बंद करना कोई कानून नहीं है। सभी समाज अपने फंक्शन रीति रिवाज के साथ मनाएं। अगर कोई ज्यादती करेगा, उसे बर्दाश्त नहीं किया जाएगा। किसी की दादागिरी नहीं चलेगी। बिना मां-बाप की बेटी की शादी में लोगों को आगे आकर सहयोग करना चाहिए था। किसी से डरने की जरुरत नहीं है। सभी लोग भाईचारे के साथ रहें। रैगर बस्ती में पूर्व विधायक मोतीलाल मीना, भाजपा जिलाध्यक्ष सुरेश जैन सहित भाजपा पदाधिकारी भी पहुंचे।

किसकी होनी है गिरफ्तारी: चौथ का बरवाड़ा की बालिका एवं शहर में रैगर समाज की महिलाओं पर हमले की घटना को लेकर चर्चाएं गरम हो रही है। ऐसे में दोनों मामलों में कार्रवाई की मांग की जा रही है। बरवाड़ा के मामले में बालिका एवं उसके परिजनों द्वारा दिए गए बयानों के अनुसार एक ही हमलावर था। पुलिस उसे नाबालिग होने के कारण निरुद्ध से ज्यादा कुछ नहीं कर सकती है और वह पुलिस कर चुकी है। इस कारण आगे किस कार्रवाई की मांग की जा रही है, यह अभी स्पष्ट नहीं हो पा रहा है। (पेज 13 भी पढ़ें)

X
समुदाय विशेष के लोगों ने की मारपीट, घटना की निंदा
COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना