--Advertisement--

विद्यालयों के परिणाम बढ़ाने पर दिया जोर

कलेक्टर के.सी. वर्मा के दिशा निर्देशन में माध्यमिक शिक्षा विभाग, जिला प्रशासन तथा मोहिनी फाउंडेशन के तत्वावधान...

Danik Bhaskar | Mar 01, 2018, 06:20 AM IST
कलेक्टर के.सी. वर्मा के दिशा निर्देशन में माध्यमिक शिक्षा विभाग, जिला प्रशासन तथा मोहिनी फाउंडेशन के तत्वावधान में जिले के 13 सरकारी आईसीटी विद्यालयों में प्रोजेक्ट उत्कर्ष टीम के द्वारा पिछले सत्र में कमजोर परिणाम देने वाले 13 विद्यालयों में चलाए जा रहे कंट्रोल केस स्टडी कार्यक्रम की बुधवार को समीक्षा की गई। कलेक्टर ने समीक्षा बैठक में विद्यालयों के परिणाम बढ़ाने पर जोर दिया।

रमसा के एसडीपी मनमोहन दाधीच तथा प्रोजेक्ट के जिला समन्वयक रघुवर दयाल मथुरिया ने बताया कि पिछले सत्र में कमजोर परिणाम को देखते हुए जिला कलेक्टर के आदेश पर उन विद्यालयों को चयनित किया गया था, जिनका परीक्षा परिणाम 50 प्रतिशत से कम रहा था। कलेक्टर ने उन विद्यालयों का परिणाम बढ़ाने पर जोर दिया। इस पर प्रोजेक्ट उत्कर्ष टीम द्वारा विद्यार्थियों के लिए गणित एवं विज्ञान विषय के महत्वपूर्ण प्रश्नों को तैयार कर उन्हें विद्यार्थियों को उपलब्ध करवाया गया। प्रोजेक्ट प्रभारी सुनील शर्मा द्वारा ऐसे विद्यालय में जाकर शिक्षकों को कंट्रोल केस स्टडी से विद्यार्थियों को पढ़ाने के लिए प्रशिक्षित किया गया तथा उन विद्यालयों की प्रतिदिन मॉनिटरिंग की गई तथा विद्यार्थियों का टेस्ट भी लिया गया। इस पर बुधवार को जिला समन्वयक रघुवर दयाल मथुरिया एवं सुनील शर्मा द्वारा ऐसे विद्यालयों की रिपोर्ट एवं फीडबैक से कलेक्टर को अवगत करवाते बताया गया कि विद्यार्थियों को इस कार्यक्रम के माध्यम से महत्वपूर्ण सामग्री से अध्ययन करवाया गया तथा कमजोर स्तर के विद्यार्थियों के लिए यह प्रणाली काफी फायदेमंद साबित होगी तथा परिणाम सुधार की आशा है। इस पर कलेक्टर ने कार्यक्रम के अंतर्गत विद्यालय से लिए गए दस्तावेजों के आधार पर कहा कि विद्यार्थियों को इस कार्यक्रम का पूरा लाभ मिलना चाहिए।

पिछले सत्र में कमजोर परिणाम देने वाले 13 विद्यालयों में चलाए जा रहे कंट्रोल केस स्टडी कार्यक्रम की समीक्षा की गई

सवाई माधोपुर. कंट्रोल केस स्टडी कार्यक्रम की समीक्षा करते हुए कलेक्टर के.सी. वर्मा।