--Advertisement--

रंगों का त्योहार होली आज, धुलेंडी कल

नगर संवाददाता | सवाई माधोपुर जिला मुख्यालय सहित आसपास के ग्रामीण क्षेत्रों में रंगों का त्योहार होली गुरुवार...

Danik Bhaskar | Mar 01, 2018, 06:20 AM IST
नगर संवाददाता | सवाई माधोपुर

जिला मुख्यालय सहित आसपास के ग्रामीण क्षेत्रों में रंगों का त्योहार होली गुरुवार को हर्षोल्लास के साथ धूमधाम से मनाया जाएगा। इसके बाद अगले दिन शुक्रवार को छोटे-बड़े का भेद भुलाकर रंग-गुलाल उड़ाते हुए धुलंडी का धमाल मचेगा।

होली के अवसर पर गुरुवार को होलिका का दहन शुभ मूहूर्त में किया जाएगा। दहन से पूर्व लोगों द्वारा होलिका एवं भक्त प्रहलाद का पूजन किया जाएगा। महिलाओं एवं कन्याओं द्वारा होलिका की परिक्रमा की जाएगी। महिलाओं द्वारा गोबर के बड़कुले बनाकर होलिका को भेंट किया जाएगा। लोगों द्वारा होली की आग में गेहूं की बालियों को सेककर प्रसाद ग्रहण किया जाएगा। होलिका दहन से पूर्व एवं बाद में लोगों द्वारा फागोत्सव के तहत चंग एवं ढोलक की थाप पर फाग गाए जाएंगे। होलिका दहन के बाद लोग एक दूसरे के गले मिलकर होली की शुभकामनाएं देंगे।

मंदिरों में होली के अवसर पर फाग एवं होली महोत्सव के कार्यक्रम आयोजित किए जाएंगे। अगले दिन शुक्रवार को धुलंडी का पर्व मनाया जाएगा। लोगों द्वारा आपस में रंग गुलाल लगाकर एक दूसरे को होली की बधाई दी जाएगी। लोग चंग की थाप पर होली के गीत गाते हुए गली मोहल्लों एवं बाजारों में जुलूस के रूप में निकलकर एक दूसरे को रंग एवं गुलाल लगाकर गले मिलेंगे।

सजी रंग-गुलाल की दुकानें : जिला मुख्यालय सहित आसपास के गांवों में होली के त्योहार को देखते हुए रंग एवं गुलाल की दुकानें सजी है। लोगों ने होली के लिए रंग एवं गुलाल की तो बच्चों ने पिचकारी की जमकर खरीदारी की। ऐसे में रंग गुलाल की दुकानों पर लोगों तथा बच्चों की भीड़ दिखाई दी।

ढोल फोड़कर तोड़ेंगे झंडा, बहरावंडा खुर्द में एक दिन बाद मनाएंगे होली

बहरावंडा खुर्द| खंडार क्षेत्र के लगभग सभी गांवों में शुक्रवार को धुलंडी का त्योहार मनाया जाएगा, वही कस्बे में विशेष परम्परा के कारण एक दिन बाद शनिवार को धुलंडी का त्योहार मनाया जाएगा। जानकारी के अनुसार बहरावंडा खुर्द कस्बे में विशेष परम्परा के तहत कस्बे में धुलंडी का त्योहार एक दिन बाद बड़े हर्ष और उल्लास से मनाया जाएगा। शनिवार को प्रातः काल से ही मंदिरों में भजन कीर्तन करेंगे एवं भजन कीर्तन के प्रभात फेरी के रूप में कस्बे के खारा कुआं के प्रांगण में होकर वहां पर नाळ प्रतियोगिता का आयोजन किया जाएगा। इसमें विभिन्न गांवों के पहलवान नाळ प्रतियोगिता में हाथ आजमाएंगे। नाळ प्रतियोगिता के बाद दोपहर को गोविंद देवजी के मंदिर में भांग घोंटी जाएगी वही राम्कल्या जी के मंदिर में ढोल फोड़ा जायेगा।

ढोल फोड़ने के कार्यक्रम में दो दल होते है, जिसमें एक दल मंदिर के प्रांगण के अंदर होता है वही दूसरा दल मंदिर से बाहर होता है। मंदिर के अंदर वाला दल रक्षक दल एवं बाहर वाला दल आक्रमक दल होता है , बाहर वाला दल ढोल को फोड़ने की कोशिश करता है, वही रक्षक दल रक्षा करता है। दोनों दल खूब जोर आजमाईश करते है अंततः ढोल फोड़ देते है।

शाम को झंडा तोड़ने का कार्यक्रम, महिलाएं बरसाती है डंडे : ढोल की रस्म के बाद शाम के समय कस्बे सहित अन्य गांवों के स्त्री पुरुष कस्बे के दशहरा मैदान में एकत्रित होते है। ग्राम पंचायत की ओर से इमली के पेड़ की बड़ी टहनी को मैदान में गाड कर कृत्रिम पेड़ बनाया जाता है। उसके ऊपरी शिखर पर गुड़ की भेली बांध दी जाती है जिस को युवक तोड़ने की कोशिश करते है वही महिलाएं अपने हाथों में डंडे लेकर पेड़ पर टंगी गुड़ की भेली की रक्षा करती है। ऐसा लगभग एक से दो घंटे तक चलता है आखिर गुड़ की भेली टूटने एवं कृत्रिम पेड़ के युवकों द्वारा गिराने के बाद कार्यक्रम समाप्त होता है। महिलाओं को ग्राम पंचायत की ओर से सम्मानित किया जाता है। स्थानीय सरपंच गोयल ने बताया की विगत कई दिनों से कार्यक्रम को लेकर मैदान को तैयार किया जा रहा है।

बौंली| बौंली क्षेत्र में गुरुवार को होली एवं शुक्रवार को धुलेंडी का पर्व परंपरानुसार मनाया जाएगा। इस अवसर पर गुरुवार को होली के दिन शाम को मुहूर्त के अनुसार जगह-जगह होलिका दहन के कार्यक्रम होंगे। दूसरे दिन शुक्रवार को लोग एक दूसरे के रंग गुलाल लगाकर होली खेलेंगे।

खिरनी| कस्बे सहित आसपास के गांवों पुरा, मेदपुरा, जोलंदा, बड़ौदिया, महेश्वरा आदि गांवों में दो दिवसीय होली का पर्व हर्षोल्लास से मनाया जाएगा। इस अवसर पर होली के दिन कारावाली तालाब के पास होली का दहन किया जाएगा। अगले दिन धुलेंडी पर रंग-गुलाल लगाकर होली खेली जाएगी।

बालेर| कस्बे सहित निकटवर्ती गांवों में रंगों का त्योहार होली परंपरागत ढंग से मनाया जाएगा। गुरुवार को शुभ मूहूर्त में होलिका दहन और शुक्रवार को रंगों का त्योहार धुलेंडी पर बालेर फोर्ट में नाळ दंगल का आयोजन किया जाएगा।

पीपलवाड़ा/कुस्तला| कस्बे सहित आसपास के ग्रामीण क्षेत्र में होली का त्योहार हर्षोल्लास के साथ मनाया जाएगा। शुभ मुहूर्त में होलिका का दहन होगा और अगले दिन धुलंडी पर लोग रंग-गुलाल लगाकर लोगों को होली की बधाई देंगे। मंदिरों एवं देवालयों में भजन कीर्तन एवं फाग के कार्यक्रम होंगे।