• Home
  • Rajasthan News
  • Sawai Madhopur News
  • Sawai Madhopur - एएनएम-आंगनबाड़ी कार्यकर्ताओं ने प्रधानमंत्री से किया सीधा संवाद
--Advertisement--

एएनएम-आंगनबाड़ी कार्यकर्ताओं ने प्रधानमंत्री से किया सीधा संवाद

नगर संवाददाता | सवाई माधोपुर जिला मुख्यालय स्थित कलेक्ट्रेट के राष्ट्रीय सूचना विज्ञान केन्द्र सहित जिले में...

Danik Bhaskar | Sep 12, 2018, 06:16 AM IST
नगर संवाददाता | सवाई माधोपुर

जिला मुख्यालय स्थित कलेक्ट्रेट के राष्ट्रीय सूचना विज्ञान केन्द्र सहित जिले में संचालित सभी सी.एस.सी. सेन्टर, अटल सेवा केन्द्र और नमो एप/दूरदर्शन के माध्यम से वीडियो कॉन्फ्रेंस के जरिए प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने देश भर में डिजिटल इंडिया के तहत ए.एन.एम, आशा सहयोगिनी व आंगनबाड़ी कार्यकर्ताओं की महिला सदस्यों से वार्ता की। इस दौरान पीएम मोदी के साथ बातचीत के दौरान सदस्यों ने अपने अनुभवों और सफलता की कहानियों को साझा करते हुए बताया कि सेवा का कार्य करते हुए उन्होंने समाज में अपनी नई पहचान बनाई है तथा उनके जीवन में अनेक सकारात्मक परिवर्तन आए। उन्होंने गर्भवती महिलाएं, नवजात शिशु, जच्चा-बच्चा आदि का गर्भधारण से जन्म तक तथा उसके पश्चात आंगनबाड़ी कार्यकर्ता द्वारा पालन पोषण करना, पोषक आहार, खेलकूद, टीकाकरण, मिशन इन्द्रधनुष आदि के कार्य के बारे चर्चा की।

ये रहे मौजूद : इस कार्यक्रम में एसीपी प्रदीप कुमार शर्मा, सी.एस.सी. जिला समन्वयक भवानीसिंह बुनकर, एन.आई.सी. डी.ओ. राजकुमार शर्मा, डी.ओ.आई.टी. प्रोग्रामर गोविंद सहाय जैन, हंसराज वर्मा, तपेश कुमार, ऋषिकेश मीणा, रोहिताश सिंहल, नरेश, डॉ. दिलीप मीना, खंड मुख्य चिकित्सा अधिकारी, मनोज गुप्ता, खंड कार्यक्रम प्रबन्धक, राधामोहन शर्मा, पी.एच.सी. आशा सुपरवाइजर, सीमा गुप्ता, बसंतलाल जैन, प्रसाविकाएं, आशा सहयोगिनियां एवं आंगनबाड़ी कार्यकर्ता उपस्थिति रही। साथ ही बजरिया में शिवम डिजिटल सी.एस.सी. सेन्टर पर वीएलई सोसायटी अध्यक्ष सियाराम मीना, करमोदा में मकरध्वज, सूरवाल में हिमांशु, चौथ का बरवाड़ा में विमल वर्मा, भेड़ोला में सहजाद अली, महापुरा में हनुमान गुर्जर, बौंली पंचायत समिति में सी.एस.सी. जिला प्रबन्धक पुष्पेंन्द्र तोमर, प्रोग्रामर मनोज कुमार, वीएलई राधामोहन, पीपलवाड़ा में राजेश मीणा, खंडार में पुष्पेंन्द्र व मंगलसिंह जांगिड़ आदि के साथ जिले के समस्त सी.एस.सी. सेंटरों पर वीडियो कॉन्फ्रेंस के जरिए जिले की सभी आशा सहयोगिनियों, आंगनबाड़ी कार्यकर्ता, बी.पी.एम.,बी.सी.एम.ओ., सी.डी.पी.ओ., महिला पर्यवेक्षक सहित लगभग 2400 सहभागियों ने भाग लिया।

सवाई माधोपुर. वीडियो कॉन्फ्रेंस के जरिए पीएम मोदी के लाइव प्रसारण में उपस्थित एएनएम, आंगनबाड़ी कार्यकर्ता एवं आशा सहयोगिनियां।

नगर संवाददाता | सवाई माधोपुर

जिला मुख्यालय स्थित कलेक्ट्रेट के राष्ट्रीय सूचना विज्ञान केन्द्र सहित जिले में संचालित सभी सी.एस.सी. सेन्टर, अटल सेवा केन्द्र और नमो एप/दूरदर्शन के माध्यम से वीडियो कॉन्फ्रेंस के जरिए प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने देश भर में डिजिटल इंडिया के तहत ए.एन.एम, आशा सहयोगिनी व आंगनबाड़ी कार्यकर्ताओं की महिला सदस्यों से वार्ता की। इस दौरान पीएम मोदी के साथ बातचीत के दौरान सदस्यों ने अपने अनुभवों और सफलता की कहानियों को साझा करते हुए बताया कि सेवा का कार्य करते हुए उन्होंने समाज में अपनी नई पहचान बनाई है तथा उनके जीवन में अनेक सकारात्मक परिवर्तन आए। उन्होंने गर्भवती महिलाएं, नवजात शिशु, जच्चा-बच्चा आदि का गर्भधारण से जन्म तक तथा उसके पश्चात आंगनबाड़ी कार्यकर्ता द्वारा पालन पोषण करना, पोषक आहार, खेलकूद, टीकाकरण, मिशन इन्द्रधनुष आदि के कार्य के बारे चर्चा की।

ये रहे मौजूद : इस कार्यक्रम में एसीपी प्रदीप कुमार शर्मा, सी.एस.सी. जिला समन्वयक भवानीसिंह बुनकर, एन.आई.सी. डी.ओ. राजकुमार शर्मा, डी.ओ.आई.टी. प्रोग्रामर गोविंद सहाय जैन, हंसराज वर्मा, तपेश कुमार, ऋषिकेश मीणा, रोहिताश सिंहल, नरेश, डॉ. दिलीप मीना, खंड मुख्य चिकित्सा अधिकारी, मनोज गुप्ता, खंड कार्यक्रम प्रबन्धक, राधामोहन शर्मा, पी.एच.सी. आशा सुपरवाइजर, सीमा गुप्ता, बसंतलाल जैन, प्रसाविकाएं, आशा सहयोगिनियां एवं आंगनबाड़ी कार्यकर्ता उपस्थिति रही। साथ ही बजरिया में शिवम डिजिटल सी.एस.सी. सेन्टर पर वीएलई सोसायटी अध्यक्ष सियाराम मीना, करमोदा में मकरध्वज, सूरवाल में हिमांशु, चौथ का बरवाड़ा में विमल वर्मा, भेड़ोला में सहजाद अली, महापुरा में हनुमान गुर्जर, बौंली पंचायत समिति में सी.एस.सी. जिला प्रबन्धक पुष्पेंन्द्र तोमर, प्रोग्रामर मनोज कुमार, वीएलई राधामोहन, पीपलवाड़ा में राजेश मीणा, खंडार में पुष्पेंन्द्र व मंगलसिंह जांगिड़ आदि के साथ जिले के समस्त सी.एस.सी. सेंटरों पर वीडियो कॉन्फ्रेंस के जरिए जिले की सभी आशा सहयोगिनियों, आंगनबाड़ी कार्यकर्ता, बी.पी.एम.,बी.सी.एम.ओ., सी.डी.पी.ओ., महिला पर्यवेक्षक सहित लगभग 2400 सहभागियों ने भाग लिया।