• Home
  • Rajasthan News
  • Sawai Madhopur News
  • Sawai Madhopur - देर रात दुर्ग जाने वाले मुख्य मार्ग को रोका, गणेश भक्तों में रोष
--Advertisement--

देर रात दुर्ग जाने वाले मुख्य मार्ग को रोका, गणेश भक्तों में रोष

कार्यालय संवाददाता | सवाई माधोपुर रणथंभौर दुर्ग में आयोजित गणेश मेले के दौरान मंगलवार रात करीब 11:00 बजे वन विभाग...

Danik Bhaskar | Sep 12, 2018, 06:20 AM IST
कार्यालय संवाददाता | सवाई माधोपुर

रणथंभौर दुर्ग में आयोजित गणेश मेले के दौरान मंगलवार रात करीब 11:00 बजे वन विभाग ने दुर्ग तक जाने वाले मुख्य मार्ग को अचानक बंद कर दिया। गणेश धाम एंट्री गेट पर अचानक यात्रियों का प्रवेश बंद होने से वहां पर हड़कंप मच गया देखते ही देखते गेट पर लोगों की भीड़ जमा हो गई।

गणेश मेले के दौरान आने वाले यात्रियों को दर्शन के लिए जंगल के रास्ते किले तक जाना होता है लगभग 5 किलोमीटर का रास्ता जंगल से होकर जाता है मेले के दौरान इस मार्ग पर 24 घंटे यात्रियों को आने जाने की छूट होती है लेकिन अब तक के इतिहास में यह पहली बार हुआ है कि यात्रियों को मध्य रात्रि के समय अचानक रोक दिया गया इस बारे में वहां तैनात वनकर्मियों से बात करने पर उन्होंने बताया कि कलेक्टर के आदेश से यात्रियों को रोका जा रहा है इस बारे में जब कलेक्टर पीसी पवन से बात की गई तो उन्होंने बताया कि मैंने यात्रियों को रोकने के लिए कोई आदेश नहीं दिया है। हमेशा से ही यात्री रात के समय भी जंगल के रास्ते दर्शन के लिए जाते रहे हैं। यात्रियों को क्यों रोका जा रहा है, उन्हें जानकारी नहीं है।

आमने-सामने

वनकर्मी बोले- कलेक्टर के आदेश से रोका रास्ता, कलेक्टर बोले- मैंने यात्रियों को रोकने के लिए नहीं दिया आदेश

गणेशधाम एंट्री गेट पर जमा लोग

जंगल के रास्ते अचानक लाइट बंद की : कलेक्टर ने कहा कि वह तत्काल प्रभाव से एसडीएम को मौके पर भेज रहे हैं। इस बारे में दोबारा वन कर्मियों से बात करने पर उन्होंने बताया कि जंगल के रास्ते पर अचानक लाइट बंद कर दी गई है इस बारे में पंचायत समिति का कहना है कि उनके द्वारा केवल 2 दिन के बिजली बिल का ही भुगतान किया जाएगा आज जलने वाली बिजली एवं जनरेटर के खर्चे की उनके पास कोई व्यवस्था नहीं है, ऐसे में लाइट बंद कर दी गई हैं।ै वन कर्मियों का कहना है कि इस मार्ग पर टाइगर का मूवमेंट है इस कारण हम अंधेरे में लोगों को भीतर जाने से मना कर रहे हैं और गेट बंद कर दिया गया है। इस बारे में दोबारा कलेक्टर से बात करने पर उन्होंने बताया कि इस प्रकार की कोई व्यवस्था को लेकर वन विभाग को नहीं कहा गया है। वह ऐसा क्यों कर रहे हैं उनकी जानकारी में भी नहीं है तुरंत प्रभाव से एसडीएम को मौके पर भेज कर यात्रियों का प्रवेश शुरू करवाया जाएगा।