बौंली में गत साल से 200 मिमी ज्यादा बारिश, फसल को हुआ नुकसान

Sawai Madhopur News - बौंली क्षेत्र में गत साल की तुलना में इस वर्ष 200 मिली मीटर अधिक बरसात होने के कारण खरीफ की फसल में काफी अधिक खराबा...

Bhaskar News Network

Sep 14, 2019, 07:57 AM IST
Bonli News - rajasthan news 200 mm more rain than last year in baunli crop damage
बौंली क्षेत्र में गत साल की तुलना में इस वर्ष 200 मिली मीटर अधिक बरसात होने के कारण खरीफ की फसल में काफी अधिक खराबा हुआ है। इस वर्ष 1 जून से अब तक 822 मिली मीटर बरसात हो चुकी है, जो गत वर्ष से करीब दो सौ मिली मीटर अधिक है। लगातार हुई बरसात के कारण कई खेतों में पानी भरा हुआ है, जिसके कारण खरीफ की फसल उड़द, तिल, मूंग, मूंगफली, बाजरा आदि की फसलों में काफी नुकसान हुआ है। कई किसानों ने बताया कि गांवों में किसानों की खरीफ की फसल अतिवृष्टि के कारण खराब हो चुकी है, जिसके कारण किसानों के सामने आर्थिक परेशानी के साथ-साथ पशुओं के लिए चारे-पानी की परेशानी उत्पन्न हो गई है।

सरसों बोआई में भी हो सकती है परेशानी: बौंली क्षेत्र में हुई बरसात के कारण खेतों में अभी तक भी पानी भरा हुआ है। करीब पंद्रह दिन से एक माह बाद तक सरसों की बोआई भी शुरू होने वाली है, जबकि खेतों में पानी भरा होने के कारण खेतों की जुताई नहीं हुई है।

बौंली| बारिश से बाजरे के खेत में भरा पानी फसल को नुकसान।

किसान करेंगे सरकार से मुआवजे की गुहार

बौंली क्षेत्र में सामान्य से अधिक हुई बरसात के कारण खरीफ की फसल खराब होने को लेकर किसानों की 16 सितंबर को बौंली में महापंचायत है, जिसमें वे किसानों की फसल खराबा को लेकर सरकार तक अपनी बात पहुंचाएंगे। भारतीय किसान संघ के पूर्व जिलाध्यक्ष किसान नेता रामावतार मीना ने बताया कि उन्होंने बौंली क्षेत्र के करीब चालीस पचास गांवों का दौरा कर किया है। क्षेत्र में खरीफ की उडद, तिल, बाजारा आदि की फसल में 70 से 80 प्रतिशत तक नुकसान हैं। अब ज्ञापन देकर विशेष गिरदावरी करवाने, बीमा क्लेम का भुगतान दिलवाने एवं मुआवजा दिलवाने की मांग की जाएगी।

सभी बांध लबालब

बौंली क्षेत्र में इस साल अधिक बरसात होने से 30 फुट भराव क्षमता वाला मोरेल बांध, 16 फुट भराव क्षमता वाला ढील बांध, 10 फुट भराव क्षमता वाला नागोलाव बांध एवं 10 फुट भराव क्षमता वाला बौंली का खारीला बांध लबालब हो गए हैं एवं चादर चल रही है। बांधों से बहने वाले पानी को संग्रहित करने की कोई व्यवस्था नहीं होने से अमृत सा पानी व्यर्थ बह रहा है।

2016 में हुई थी इस वर्ष से अधिक वर्षा

बौंली क्षेत्र में सन 2016 में इस वर्ष से अधिक बरसात हुई थी। जानकारी के अनुसार 1 जून से 13 सितंबर तक सन 2010 में 573 मिमी, 2011 में 650 मिमी, 2012 में 582 मिमी, 2013 में 708 मिमी, 2014 में 681 मिमी, 2015 में 444 मिमी, 2016 में 986 मिमी, 2017 में 236 मिमी, 2018 में 624 मिमी एवं 2019 में 822 मिमी बरसात हुई है।

X
Bonli News - rajasthan news 200 mm more rain than last year in baunli crop damage
COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना