विज्ञापन

रजत कलशों से जिनेन्द्र देव का किया अभिषेक

Dainik Bhaskar

Mar 17, 2019, 05:56 AM IST

Sawai Madhopur News - नगर संवाददाता | सवाई माधोपुर सकल दिगंबर जैन समाज द्वारा 8 दिवसीय अष्टान्हिका पर्व उत्साह व उमंग के साथ मनाया जा...

Sawai Madhopur News - rajasthan news anointing of jainendra dev from silver urn
  • comment
नगर संवाददाता | सवाई माधोपुर

सकल दिगंबर जैन समाज द्वारा 8 दिवसीय अष्टान्हिका पर्व उत्साह व उमंग के साथ मनाया जा रहा है। सकल दिगंबर जैन समाज के प्रवक्ता प्रवीण कुमार जैन ने बताया कि रणथम्भौर दुर्ग स्थित प्राचीन व महा अतिशयकारी संभवनाथ दिगंबर जैन मंदिर में मांगलिक क्रियाओं के साथ सर्वार्थसिद्धि शनिवार नवयुवक मण्डल के सदस्यों द्वारा सुबह रजत कलशों द्वारा जिनेन्द्र देव का अभिषेक किया गया। वहीं सर्वार्थसिद्धि महिला मण्डल की कोषाध्यक्ष सपना जैन की ओर से विश्व की खुशहाली की कामना के साथ नवयुवक मण्डल के सदस्यों द्वारा स्वर्ण कलश से शांतिधारा कर प्रभु के चरणों में प्रवाहित की गई।

अभिषेक व शांतिधारा के उपरांत सर्वार्थसिद्धि महिला मण्डल द्वारा नंदीश्वर द्वीप विधानमंडल का अष्ट द्रव्यों से संगीतमयी पूजन कर महिलाओं के समूह ने मंडल पर 52 अर्घ्य समर्पित किए और विश्व कल्याण की मंगल कामना की गई। विधान पूजन से पूर्व अध्यक्ष सरोज कासलीवाल द्वारा मण्डल पर मुख्य मंगल कलश की स्थापना की गई तथा महामंत्री गुणमाला अजमेरा, निर्मला श्रीमाल, उषा सौगानी व सुनीता पल्लीवाल द्वारा अन्य 4 कलशों की स्थापना विधि-विधानपूर्वक की गई। वहीं मंगल दीपक की विधिवत स्थापना मंत्री पुष्पा श्रीमाल व सदस्य मधु छाबड़ा ने की। महिलाओं द्वारा भजनों की सरिता बहाकर इन्द्राणियों को झूमने पर मजबूर कर दिया। पूजन के उपरांत जिनेन्द्र देव की मंगल आरती कर पुण्य का संचय किया। महाअर्घ्य समर्पण, शांतिपाठ एवं विसर्जन विधि के साथ धर्म प्रभावना पूर्वक विधान मंडल की पूजन सम्पन्न हुई। इस दौरान सर्वार्थसिद्धि महिला मण्डल की अध्यक्ष सरोज भसावड़ी, उपाध्यक्ष नीमा छाबड़ा, मंत्री विजया बडज़ात्या, कोषाध्यक्ष डिम्पल छाबड़ा सहित गणमान्य महिलाएं उपस्थित थी।

धर्म चर्चा का आयोजन

इस मौके पर शहर स्थित पार्श्वनाथ दिगंबर जैन पंचायती मंदिर में ससंघ विराजित आर्यिका चिन्मय मति माताजी ने धर्म चर्चा के दौरान कहा कि धर्म जीवन जीने की कला सिखाता है। ईश्वर के प्रति प्रगाढ़ श्रृद्धा, भक्ति और समर्पण का भाव रखना चाहिए।

जप-तप-पूजा विधान करने से पुण्य बढ़ता है, भविष्य उज्जवल बनता है, परिणामों में निर्मलता आती है और परिणाम जितने निर्मल होंगे उतनी जल्दी संसार बंधन से मुक्ति मिलेगी। धर्म चर्चा के दौरान क्षुल्लिका चेतनमति माताजी, ब्रह्मचारिणी कनक दीदी भी उपस्थित थीं।

सवाई माधोपुर | रणथम्भौर दुर्ग के संभवनाथ दिगम्बर जैन मंदिर में नंदीश्वरद्वीप विधान मण्डल पर मंगल कलशों की स्थापना करती महिलाएं।

X
Sawai Madhopur News - rajasthan news anointing of jainendra dev from silver urn
COMMENT
Astrology

Recommended

Click to listen..
विज्ञापन
विज्ञापन