बकरी चराकर कुएं पर नहाने गए बालक की चचेरे भाई ने कुल्हाड़ी मारकर की हत्या

Sawai Madhopur News - बांसपरसा गांव में स्थित कीरो की ढाणी में कुएं पर नहाने गए 12 वर्षीय बालक की पीछे से आकर ताऊ के लड़के ने कुल्हाड़ी से...

Nov 09, 2019, 08:20 AM IST
Bonli News - rajasthan news boy who grazed goat and took bath in a well
बांसपरसा गांव में स्थित कीरो की ढाणी में कुएं पर नहाने गए 12 वर्षीय बालक की पीछे से आकर ताऊ के लड़के ने कुल्हाड़ी से वार कर हत्या कर दी।

प्रत्यक्षदर्शियों ने बताया कि फौजी पुत्र बृजमोहन कीर अपने खेत से बकरियों को चराकर घर लेकर आया था। उसके बाद पिता को कुएं पर नहाने के लिए बोलकर गया और अपने साथ 10 साल के दोस्त को भी लेकर गया। जहां पर नहाने के लिए तैयार हुआ था कि पीछे से आए ताऊ के लड़के दिनेश पुत्र हीरालाल ने फौजी को पैर की मारकर नीचे गिरा दिया और पास में पड़ी कुल्हाड़ी से बालक के चेहरे, जबड़े, गर्दन, छाती और दोनों कंधों पर करीब 10 वार किए और बेहोशी की हालत में छोड़ दिया।

बालक ने बताई कहानी

मृतक फौजी के साथ गए 10 साल के साथी ने बताया कि फौजी नहाने की तैयारी में था। उसके ताऊ का लड़का 25 वर्षीय दिनेश पीछे से आया और पहले तो फोजी को कुएं के पास बने चबूतरे पर पैर की मारकर गिरा दिया। उसके बाद पास में पड़ी कुल्हाड़ी से चेहरे पर मारने लगा। साथी बालक ने बचाने के लिए आवाज देता रहा और डर से मोरेल नदी की और भाग गया। साथी की आवाज सुन मृतक का पिता और अन्य लोग मौके पर पहुंचे। तब तक फौजी की मौत हो चुकी थी।

नियति का खेल
मित्रपुरा| हत्या के बाद बिलखते परिजन।

सूचना देने के लिए 5 किमी आए

बांसपरसा में नृशंस हत्या के बाद हत्या करने वाला आरोपी मौके पर शव के पास ही मौजूद था और हत्या के लिए काम में ली गई कुल्हाड़ी भी आरोपी के पास थी। इसके डर से मृतक के पास कोई नहीं जा पा रहा था।

किसी के पास मोबाइल नहीं होने के कारण पुलिस को सूचना नहीं दी जा सकी। परिवार में शादी के कारण रिश्तेदार आए हुए थे, जिनकी बाइक से जाकर मित्रपुरा पुलिस चौकी पर सूचना दी गई। इसके बाद तत्काल मौके पर पहुंची पुलिस ने हत्या के आरोपी दिनेश पुत्र हीरालाल को हिरासत में ले लिया और काम में लिए गई कुल्हाड़ी को जब्त कर लिया। हत्या की सूचना के बाद क्षेत्र में हडकम्प मच गया।

मित्रपुरा। मौके पर पहुंची बौंली थाना पुलिस।

बरात के लिए निकलवाए नए कपड़े, अर्थी पर सवार

पुरानी कहावत है कि जन्म, मृत्यु और विवाह कभी नहीं रूकता है। यह कहावत आज इस गांव में चरितार्थ हुई। जानकारी के अनुसार मृतक बालक फोजी के परिवार में उसके चचेरे भाई की आज ही शादी थी। दिन में बकरियां चरा कर आने के बाद वह भाई की बारात में जाने के लिए ही नहाने गया था। घर पर मां और पिता से कह कर गया था आज बारात में चलूंगा इसलिए नए कपड़े निकाल देना आकर पहनूंगा, लेकिन किसी को पता नहीं था कि वह किस बारात में नए कपड़े पहन कर जाने वाला है। नियती की क्रूरता ने अपना रंग दिखाया और फोजी अपने ही चचेरे भाई के हाथों बारात के स्थान पर अपनी अंतिम यात्रा के लिए निकल पड़ा। माता पिता ने जो पकड़े उसके बारात में जाने के लिए निकाल कर रखे थे वे अब बारात के लिए नहीं उसकी अंतिम यात्रा में पहनाने के काम आए।

हत्या का आरोपित शादीशुदा, एक पुत्र व एक पुत्री भी

कुल्हाड़ी से वार कर हत्या करने वाले आरोपी दिनेश को मौके पर मौजूद ग्रामीणों ने मानसिक बीमार बताया है। आरोपी की उम्र करीब 25 वर्ष है और शादी हो चुकी है। एक लड़का और एक लडकी है, लेकिन एक लडकी की कुछ समय पहले मौत हो चुकी है। पुलिस ने बोंली स्थित सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र में पोस्टमार्टम कर शव परिजनों को सुपुर्द कर दिया। शव के घर पहुंचते ही परिजनों का रो-रोकर बुरा हाल हो गया। बौंली थानाधिकारी राजकुमार मीना ने घटना की जानकारी ली।

एक साथ और एक ही समय में जीया और देखा भी

इधर परिवार में सात वीं कक्षा में पढ़ने वाले बालक फौजी का शव गांव में ही पड़ा था और हत्या का आरोपी दूसरा चचेरा भाई पुलिस की कैद में और तीसरा चचेरा भाई घोड़ी चढ़ कर अपनी जीवन संगनी लेने जा रहा था। आज उस परिवार ने इन तीनों घटनाओं को एक साथ और एक ही समय में जीया और देखा भी। इधर खून से लथपथ बालक के शव से लिपट कर रोते माता-पिता और दूसरे परिजन थे, तो दूसरी तरफ चचेरा भाई बरात लेकर जीवन साथी लेने के लिए घर से रवाना हो रहा था। तीसरे भाई को पुलिस हिरासत में लेकर जा रही थी, जिसे उसकी प|ी और दो छोटे-छोटे बच्चे एवं परिजन देख रहे थे। रिश्तेदारों का आलम यह था कि वे कभी बालक का शव देख कर बिलख रहे थे तो कभी दुल्हे की विदाई के लिए बलईया ले रहे थे। वे ही रिश्तेदार पुलिस हिरासत में आए तीसरे लड़के को देख कर सर पीट रहे थे।

बांसपरसा : एक ही शाम में तीन दृश्य दिखे

बांसपरसा गांव में शुक्रवार की देर शाम 12 वर्षीय बालक की चिता श्मशान घाट में दहक रही थी, तो दूसरा भाई दौसा जिले के गडूली गांव में जीवन संगीनी के साथ अग्नि को साक्षी मानकर उसी समय फैरे ले रहा था। जबकि तीसरा भाई बौंली कस्बे में स्थित थाने की बैरक में बैठा था। परिजनों का भी यहीं आलम था। कुछ परिजन जिस समय श्मशान में बालक की चिता को धधकते देख रहे थे, वहीं कुछ जयपुर में फैरों के दौरान अग्नि कुण्ड की लपटों को, पर कुछ अभागे परिजन ऐसे भी थे जो अपने ही परिवार के बेटे के बैरक में बंद होने के कारण थाने के बाहर बैठकर नियती को कोस रहे थे।

हत्या का मामला दर्ज कर जांच जारी मृतक का पोस्टमार्टम कर शव परिजनों को सुपुर्द कर दिया है। परिजनों द्वारा दी गयी रिपोर्ट पर हत्या का मामला दर्ज कर अनुसन्धान जारी है। - राजकुमार मीना, बौंली थानाधिकारी

बांसपरसा गांव की कीरों की ढाणी में खूनी वारदात

Bonli News - rajasthan news boy who grazed goat and took bath in a well
X
Bonli News - rajasthan news boy who grazed goat and took bath in a well
Bonli News - rajasthan news boy who grazed goat and took bath in a well
COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना