• Hindi News
  • National
  • Shiwar News Rajasthan News Poetry Made From The Creations Of Comedy Satire

हास्य-व्यंग्य की रचनाओं से कवियों ने बांधा समां, श्रोताओं को खूब हंसाया

3 वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
कस्बे के घुश्मेश्वर मन्दिर में चल रहे पांच दिवसीय महाशिवरात्रि महोत्सव मेले के दौरान बुधवार रात्रि को ट्रस्ट द्वारा दशहरा मैदान पर कवि सम्मेलन का कार्यक्रम आयोजित हुआ। कार्यक्रम के मुख्य अतिथि टोंक के पूर्व विधयाक अजीत मेहता ने दीप प्रज्वलन कर कार्यक्रम का शुभारंभ किया। इसके बाद कवि सम्मेलन में हास्य-व्यंग्य और वीररस की रचनाओं से कवियों ने समां बांध दिया। कार्यक्रम से पूर्व मन्दिर ट्रस्ट पदाधिकारियों ने मंच पर सभी अतिथियों का स्वागत किया। इस अवसर मन्दिर ट्रस्ट अध्यक्ष प्रेम प्रकाश शर्मा, मानक चंद जैन, किशन पाटोदिया, शम्भू मिश्रा, लल्लू लाल महावर, लोकेन्द्र सिंह, राम प्रकाश, मेहन्द्र मोदी, भवर महावर, पुरुषोतम, सत्यनारायण शर्मा, रमेश गुप्ता सहित कई लोग उपस्थित थे।

कवि सम्मेलन की शुरुआत कवयित्री साबिया ने सरस्वती वंदना सुनाकर की। इसके बाद मंदसौर के हास्य कवि मुन्ना बैटरी ने अपनी छोटी-छोटी कविताओं व टिप्पणियों से ऐसा समां बांधा कि श्रोता हंस-हंस कर लोट-पोट हो गए। इसके बाद बारां से आए बाबू बंजारा मंच पर आए और उन्होंने भी अपनी कविताओं से श्रोताओं की खूब तालियां बटोरी। इसके बाद परमानंद दाधीच वीर रस कवि ने अपनी पंक्तियों के माध्यम से पुलवामा हमले पर भी सियासत और वीर सैनिकों की वीरता को आकर्षक ढंग से पेश किया, जिससे श्रोताओं में जोश भर आया और वे भारत माता की जयकारे लगाने लगे।

हास्य कवि हरीश ने देर रात तक श्रोताओं को खूब हंसाया। बारां के कवि दुर्गाशंकर ने सरकार पर व्यंग्य करते हुए सम्मेलन को गति दी। भोपाल से आई कवयित्री साबिया असर ने ताल-तलैया की लहरों को भी उत्ताल बना डाला, साठ मिनट में धन्ना सेठों को कंगाल बना डाला... कविता प्रस्तुत की। देर रात तक चलने वाले इस कार्यक्रम में बड़ी संख्या में श्रोतागण मौजूद थे।

शिवाड़। कवि सम्मेलन में मौजूद श्रोतागण।

खबरें और भी हैं...