खंडार में गेहूं के खेत में घुसा बाघ, वन विभाग की टीम ने चार घंटे की मशक्कत कर निकाला

Sawai Madhopur News - चकेरी| रांवल ग्राम पंचायत के खवा खांडोज के गोठड़ा के टापरा में बाघ ने बाड़े में घुसकर भौंकने पर श्वान का शिकार...

Jan 25, 2020, 09:25 AM IST
Khandar News - rajasthan news the tiger entered the wheat field in khandar the forest department team spent four hours trying
चकेरी| रांवल ग्राम पंचायत के खवा खांडोज के गोठड़ा के टापरा में बाघ ने बाड़े में घुसकर भौंकने पर श्वान का शिकार किया। ग्रामीणों ने शौर मचाकर उसे भगाया एवं वन विभाग की टीम को सूचना दी।

पीड़ित ओमप्रकाश मीणा ने बताया कि गुरुवार रात्रि को वे परिवार सहित अपने घर के अंदर सो रहे थे। रात्रि के करीब 12 बजे कुत्ते के भौंकने की आवाज आई। परिवार वालों ने ध्यान नहीं दिया। श्वान के जोर जोर से भौंकने पर घरवाले उठे तो कुत्ता घर के आंगन में मरा पड़ा था। आसपास बैटरी से देखा तो कुछ ही दूरी पर बाघ दिखाई दिया। गांव वालों ने शौर मचाया तो बाघ अमरूद के बगीचे के अंदर घुस गया। रात भर गांव वालों ने बैठकर गुजारी एवं वन विभाग के अधिकारियों को सूचना दी। इस पर शुक्रवार सुबह करीब 9 बजे वन विभाग के कर्मचारी मौके पर पहुंचे और उन्होंने पग मार्क के आधार पर बाघ होने की पुष्टि की। वन विभाग के कर्मचारियों ने कुत्ते के शव को जमीन में दफनाया। वन विभाग के कर्मचारी बाघ की ट्रेकिंग में लगे हुए हैं। बाघ का मुवमेंट खवा खांडोज के जंगलों में बना हुआ है। शेरपुर वनविभाग नाका के फॉरेस्टर महेंद्र सिंह राजावत ने बताया कि पग मार्क किसी मेल टाइगर के है। वन विभाग की टीम बाघ को जंगल की ओर खदेड़ने में लगी हुई है। ग्रामीणों की हरसंभव सुरक्षा की जाएगी।

खेतों में दहशत
भास्कर न्यूज| खंडार

रणथंभौर राष्ट्रीय अभयारण्य का एक बाघ शुक्रवार को खंडार कस्बे की आबादी में स्थित गेहूं के खेतों में घुस गया। इससे इलाके के किसानों में भगदड़ मच गई। सूचना पर खंडार थाना पुलिस, वन विभाग, एसटीएफ, स्पेशल टाईगर ट्रेकिग टीम मौके पर पहुंची तथा करीब 4 घंटे की कड़ी मशक्कत के बाद स्पेशल टाईगर ट्रेकिंग टीम ने बाघ को गेहूं के खेत से खदेड़कर जंगल की ओर निकाला। वन विभाग के कर्मचारियों ने बाघ के पगमार्क देखकर मौके पर बताया कि यह बाघ मेल बाघ है तथा टी 65 हो सकता है। किसानों ने बताया कि खंडार कस्बे की आबादी में जाट फार्म स्थित है। इसमें छापर कॉलोनी निवासी पीरी देवी जाट का खेत है। शुक्रवार सुबह करीब 7 बजे उसके घर से चाय पीकर पीरी देवी का पुत्र राजेंद्र व अक्षयगढ़ निवासी जंवाई शिवचरण खेत पर गेहूं की फसल में पानी देने के लिए गए थे। इस दौरान राजेंद्र खेत के पास बने मकान पर रूक गया तथा जंवाई शिवचरण गेहूं के खेत में पहुंचा। जैसे ही वह खेत पर कार्य करने लगा तो खेत में अचानक से एक बाघ आ धमका। कृषि कार्य में व्यस्तता के चलते शिवचरण को बाघ का पता ही नहीं चला। वहीं धूप सेंकने के लिए राजेंद्र मकान की छत पर चंढ़ा और जैसे ही शिवचरण की तरफ देखा तो उसके पीछे एक बाघ दिखाई दिया। बाघ देख राजेद्र घबरा गया और वह जोर से बाघ-बाघ चिल्लाया।

ग्रामीणों का शोर शराबा सुनकर 6 फुट ऊंची जाली को फांद कर खेत से भागा

खंडार दीवार कूद कर बाहर जाता बाघा

भीड़ काबू में करने पुलिस पहुंची

खेत में बाघ आ जाने की खबर पूरे कस्बे में आग की तरह फैल गई। थोड़ी ही देर में मौके पर सैकड़ों लोगों की भीड़ जमा हो गई। सूचना पर खंडार थाने के एएसआई करतार सिंह, वन विभाग के फोरेस्टर हनुमान मीणा, वनकर्मी जगदीश शर्मा, बलवीर शर्मा, स्पेशल टाईगर ट्रेकिंग टीम के निरंजन शर्मा, विक्की शर्मा, हनुमान गुर्जर, रूपचंद बैरवा आदि मौके पर पहुंचे। इस दौरान खंडार थाना पुलिस ने कड़ी मशक्कत कर भीड़ को काबू में किया और बाघ के पास जाने से रोका। वहीं वन विभाग की स्पेशल टाईगर ट्रेकिंग टीम ने गेहूं के खेत में बाघ की ट्रेकिंग की। खेत में जगह जगह टीम को बाघ के पगमार्क मिले। पगमार्कों के आधार पर टीम ने बाघ पर नजदीकी से नजरें जमाए रखी। बाद में बाघ के उठने पर उसे खदेड़कर जंगल की ओर भगाया।

जाली पर जगह जगह टक्कर मारी, टूटी नहीं तो फांद कर निकल गया

जिस गेहूं के खेत में बाघ घुसा था उस क्षेत्र में चारों तरफ जाली लग रही थी। करीब चार घंटे खेत में आराम के बाद अचानक से बाघ उठा और जोर जोर से दहाड़ने लगा। इस दौरान मौके पर जमा ग्रामीणों में हड़कंप मच गया। वहीं भीड़ का शोरगुल सुनकर बाघ खेत में इधर उधर भागने लगा और खेत की सीमा पर लगी लोहे की जालियों पर जगह जगह टक्कर मारकर निकलने का प्रयास किया, लेकिन जालियां लोहे की एंगलों में लगी होने के कारण वह नहीं टूटी। बाद में बाघ कुछ देर गेहूं के खेत में ही दुबक गया। हंगामा बढ़ता देख वह फिर से भागा और करीब 6 फुट ऊंची जाली को कूद कर खेत से निकल गया। बाघ अभयारण्य की करीब 6 फुट ऊंची सुरक्षा दीवार को कूद कर जंगल की ओर निकल गया। तब जाकर दोपहर करीब 12 बजे क्षेत्र के किसानों, वन विभाग एवं पुलिस प्रशासन ने राहत की सांस ली।

खंडार। पुलिस की सजगता के चलते खेत के बाहर खड़ी ग्रामीणों की भीड़।

वन विभाग की टीम को मिले बाघ के पगमार्क।

टाइगर ने आबादी में घुसकर किया श्वान का शिकार

Khandar News - rajasthan news the tiger entered the wheat field in khandar the forest department team spent four hours trying
Khandar News - rajasthan news the tiger entered the wheat field in khandar the forest department team spent four hours trying
X
Khandar News - rajasthan news the tiger entered the wheat field in khandar the forest department team spent four hours trying
Khandar News - rajasthan news the tiger entered the wheat field in khandar the forest department team spent four hours trying
Khandar News - rajasthan news the tiger entered the wheat field in khandar the forest department team spent four hours trying
COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना