• Home
  • Rajasthan News
  • Sawai Madhopur News
  • Sawai Madhopur - तीन दिवसीय त्रिनेत्र लक्खी मेला एक दिन पहले ही परवान चढ़ा
--Advertisement--

तीन दिवसीय त्रिनेत्र लक्खी मेला एक दिन पहले ही परवान चढ़ा

रणथंभौर दुर्ग स्थित त्रिनेत्र गणेश मंदिर में आयोजित होने वाला तीन दिवसीय लक्खी मेला मंगलवार को ही रौनक पर आ गया।...

Danik Bhaskar | Sep 12, 2018, 06:15 AM IST
रणथंभौर दुर्ग स्थित त्रिनेत्र गणेश मंदिर में आयोजित होने वाला तीन दिवसीय लक्खी मेला मंगलवार को ही रौनक पर आ गया। इस बार अच्छी बरसात एवं मौसम सुहाना होने के कारण रात और दिन यात्री गणेश मंदिर पहुंच रहे हैं। मुख्य मेला 13 सितंबर को होगा। दो दिन पहले की भीड़ को देखते हुए अनुमान लगाया जा रहा है कि इस बार मेले में दर्शनार्थियों की संख्या में 5 लाख तक भी पहुंच सकती है।

देश और दुनिया में त्रिनेत्र गणेश की स्व प्रकाट्य प्रतिमा केवल रणथंभौर दुर्ग में ही विराजमान है। यही कारण है कि पूरे देश के अलावा विदेशों से भी मांगलिक कार्यों के निमंत्रण के लिए रणथंभौर दुर्ग में निमंत्रण भेजकर भगवान गजानन को निमंत्रित किया जाता है। पूरी दुनिया में फैले लाखों श्रद्धालुओं की अपार श्रद्धा के कारण गणेश चतुर्थी के दिन लाखों लोग भगवान गजानन की दिव्य प्रतिमा के दर्शन करने के लिए यहां पहुंचते हैं। यहां यात्रियों की सुविधा के लिए जयपुर एवं कोट आदि प्रमुख शहरों से सैकड़ों रोडवेज की बसें एवं कई मेला स्पेशल ट्रेन सरकार द्वारा संचालित की जाती है। इसके अलावा व्यवस्था के लिए भरतपुर रेंज से भारी संख्या से अधिकारी एवं पुलिस के जवान यहां लगाए गए हैं। पुलिस एवं प्रशासनिक अधिकारी निरंतर व्यवस्थाओं पर निगरानी रख रहे हैं। मेले में दर्शनार्थियों की संख्या तृतीया के दिन से बढ़ती है, लेकिन इस बार आज दूज के दिन ही हजारों की संख्या में यात्रियों ने मंदिर में पहुंचकर दर्शन किए। तृतीया एवं चतुर्थी के दिन अत्यधिक भीड़ के कारण दर्शनार्थियों को दर्शनों के लिए घंटों इंतजार करना पड़ता है। ऐसे में अब कई लोग दूज एवं पंचमी के दिन भी भगवान गजानन के दर्शन करते हैं। ऐसे में यह तीन दिवसीय मेला अब लगभग सात दिन का हो गया है, लेकिन सर्वाधिक भीड़ तृतीया एवं चतुर्थी के दिन ही रहेगी।

सवाई माधोपुर. गणेशजी के दर्शनों के लिए जाती महिलाएं।