• Home
  • Rajasthan News
  • Shahjahanpur News
  • पुलिस पर फायरिंग करने पर दो जनों को दस साल का कठोर कारावास, एक को मफरूर घोषित किया
--Advertisement--

पुलिस पर फायरिंग करने पर दो जनों को दस साल का कठोर कारावास, एक को मफरूर घोषित किया

अपर जिला एवं सेशन न्यायाधीश द्वितीय महेंद्र सिंह ने शाहजहांपुर पुलिस पर नाकाबंदी के दौरान हमला कर फायरिंग करने...

Danik Bhaskar | Mar 01, 2018, 06:25 AM IST
अपर जिला एवं सेशन न्यायाधीश द्वितीय महेंद्र सिंह ने शाहजहांपुर पुलिस पर नाकाबंदी के दौरान हमला कर फायरिंग करने के मामले में बुधवार को दो आरोपियों को दस-दस साल का कठोर कारावास व 20 हजार रुपए के जुर्माने से दंडित किया है। प्रकरण में एक आरोपी को मफरूर घोषित किया गया।

एपीपी अमन कुमार यादव ने बताया कि 13 जून 2013 को शाहजहांपुर पुलिस ने क्षेत्र में बदमाशों की आवाजाही होने की सूचना पर टोल प्लाजा पर नाकाबंदी शुरू कर दी। जहां थोड़ी देर बाद दिल्ली से जयपुर की ओर जा रही दो स्विफ्ट कार को रुकने का इशारा करने पर चालक भागने लगे। गाड़ियों को बैरिकेडिंग लगाकर रोका गया तो मांढ़ण हाल निवासी विजय नगर रेवाड़ी के 29 वर्षीय कुलदीप उर्फ लंबू पुत्र सत्यवीर यादव, भैंसवाल जिला रोहतक हाल नांगलोई दिल्ली निवासी प्रदीप उर्फ मित्तल, उर्फ छोटू पुत्र हरिशचंद्र महाजन व झज्झर थाना खुंड़न निवासी सुरेन्द्र उर्फ काला ने कार से उतर पुलिस पर फायरिंग शुरू कर दी। पुलिस ने कुलदीप, सुरेन्द्र व प्रदीप को मौके पर पकड़ लिया गया।

तीनों आरोपियों के खिलाफ कोर्ट में चालान पेश करने पर न्यायाधीश ने प्रकरण के साक्ष्य सबूत के आधार पर कुलदीप व प्रदीप को 10-10 साल का कठोर कारावास व 20 हजार रुपए के अर्थ दंड से दंडि़त किया। प्रकरण में शामिल सुरेन्द्र को मफरूर घोषित किया गया।