Hindi News »Rajasthan »Shahjanpur» प्रतिबंधित जिलों में 2008 से पहले और सामान्य में 2012 से पहले लगे शिक्षकों के होंगे तबादले, 20 अप्रैल तक किया जा सकता है आवेदन

प्रतिबंधित जिलों में 2008 से पहले और सामान्य में 2012 से पहले लगे शिक्षकों के होंगे तबादले, 20 अप्रैल तक किया जा सकता है आवेदन

लंबे इंतजार के बाद शिक्षा विभाग ने सोमवार को तबादलों के संबंध में दिशा निर्देश जारी कर दिए। तृतीय श्रेणी शिक्षक 20...

Bhaskar News Network | Last Modified - Apr 03, 2018, 06:30 AM IST

लंबे इंतजार के बाद शिक्षा विभाग ने सोमवार को तबादलों के संबंध में दिशा निर्देश जारी कर दिए। तृतीय श्रेणी शिक्षक 20 अप्रैल तक तबादले के लिए आवेदन कर सकते हैं। अंत: जिला तबादले के लिए संबंधित डीईओ माध्यमिक या प्रारंभिक और अंतर जिला तबादले के लिए संबंधित निदेशक प्रारंभिक या माध्यमिक को आवेदन करना होगा। बीस साल बाद प्रतिबंधित जिलों से भी इस बार तबादले हो सकेंगे। तृतीय श्रेणी शिक्षकों को भी आठ साल बाद राहत मिली है। निदेशक या डीईओ का प्रस्तुत आवेदन पत्र को रजिस्टर में संपूर्ण विवरण सहित दर्ज किया जाएगा। साथ ही आवेदन कर्ता को रजिस्टर में इंद्राज की रसीद भी प्रदान की जाएगी। विभाग ने तबादला आवेदन का प्रारूप भी जारी किया है। दैनिक भास्कर ने सोमवार के अंक में बैन हटने के 20 दिन बाद भी तबादले के लिए गाइडलाइन जारी नहीं होने का मुद्दा प्रमुखता से उठाया था। इसके बाद विभाग के अधिकारी हरकत में आए और उन्होंने तृतीय श्रेणी शिक्षकों के तबादलों पर विस्तृत गाइडलाइन जारी की। विभाग ने अभी वरिष्ठ अध्यापक और व्याख्याताओं को लेकर स्थिति स्पष्ट नहीं की है। इनको लेकर संभवतया अगले एक दो दिन में दिशा निर्देश जारी हो सकते हैं।

शिक्षा विभाग की यह है तबादला गाइडलाइन

परीवीक्षा काल पूर्ण कर चुके शिक्षक अंत: जिला स्थानांतरण के लिए आवेदन कर सकेंगे।

गैर प्रतिबंधित जिलों में 31 दिसंबर 2012 से पहले नियुक्त हुए शिक्षक अंतर जिला स्थानांतरण के लिए आवेदन प्रस्तुत कर सकते हैं।

31 दिसंबर 2012 के बाद नियुक्त शिक्षकों के अंतर जिला तबादलों के लिए 3 केटेगरी बनाई गई है। इसमें असाध्य रोग कैंसर, गुर्दा प्रत्यारोपण, हृदय शल्य चिकित्सा, पूर्णत दृष्टिहीन और 100 प्रतिशत दिव्यांग शिक्षक शामिल है।

31 दिसंबर 2012 से पहले नियुक्त शिक्षकों के अंतर जिला तबादले के लिए 9 केटेगरी बनाई गई है। इसमें पूर्णत: दृष्टिहीन, 70 प्रतिशत से अधिक दिव्यांग, असाध्य रोग से ग्रसित, 40 से 70 प्रतिशत तक दिव्यांग शिक्षक, बच्चे मंद बुद्धि हो, बच्चे कैंसर, दिल में छेद, ब्रेन ट्यूमर से ग्रसित हो, महिलाएं-पुरुष जिनके पति या प|ी असाध्य रोग से पीड़ित हो, विधवा महिला शिक्षिका और परित्यक्तता शिक्षिका।

प्रतिबंधित जिलों में कार्यरत ऐसे शिक्षक जो परीवीक्षा काल पूरा कर चुके हैं, वे केवल प्रतिबंधित जिले से प्रतिबंधित जिले में अंतर जिला तबादले के पात्र होंगे। जबकि 31 दिसंबर 2008 से पहले से प्रतिबंधित जिलों में कार्यरत शिक्षक अंतर जिला तबादले के तहत आवेदन प्रस्तुत कर सकते हैं।

पंचायतीराज सेटअप के तृतीय श्रेणी शिक्षक केवल ग्रामीण क्षेत्र में तबादले के लिए ही पात्र होंगे।

राजस्थान स्वेच्छया ग्रामीण शिक्षा सेवा नियम 2010 के तहत समायोजित शिक्षकों का तबादला शहरी क्षेत्र के स्कूलों में नहीं होगा।

पारस्परिक तबादला चाहने वाले दोनों शिक्षकों के सेटअप, लेवल, पद और विषय समान होने की स्थिति में ही तबादले हो सकेंगे।

ऐसे शिक्षक जिनका परिवीक्षा काल पूरा नहीं हुआ है, वे शिक्षक तबादले के लिए आवेदन नहीं कर सकेंगे।

वार्षिक परीक्षा के दौरान मचेगी भगदड़

वार्षिक परीक्षा 13 से 25 अप्रैल तक है। तबादले के लिए आवेदन की अंतिम तिथि 20 अप्रैल है। वार्षिक परीक्षा के दौरान शिक्षक तबादले के आवेदन देने में व्यस्त रहेंगे। इसलिए वार्षिक परीक्षा प्रभावित हो सकती है। शिक्षकों में आवेदन के लिए भगदड़ मचेगी। राजस्थान प्राथमिक एवं माध्यमिक शिक्षक संघ के वरिष्ठ उपाध्यक्ष विपिन प्रकाश शर्मा का कहना है कि आवेदन ऑनलाइन मांगे जाते तो शिक्षकों को परेशानी नहीं होती। उन्होंने प्रतिबंधित जिलों से तबादले करने का स्वागत किया है।

अंतर जिला आवेदन के लिए बीकानेर जाना होगा : शिक्षक को अंतर जिला तबादले के लिए आवेदन निदेशक को करना है। अधिकांश शिक्षक ऐसे हैं जो अंतरजिला तबादला चाहते हैं। ऐसे में उन्हें बीकानेर जाना होगा। इससे शिक्षकों को परेशानी होगी और निदेशालय में भी आवेदन करने वालों की भीड़ रहेगी। विभाग को जिला स्तर पर ही अंतर जिला आवेदन लेने की भी व्यवस्था करनी चाहिए।

दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए News in Hindi, Breaking News सबसे पहले दैनिक भास्कर पर |

More From Shahjanpur

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×