• Home
  • Rajasthan News
  • Shahjahanpur News
  • मुझे कोई क्रेडिट नहीं चाहिए, मेरा काम था आरसीए का सस्पेंशन खत्म कराना और आईपीएल की वापसी, वो मैंने किया : जोशी
--Advertisement--

मुझे कोई क्रेडिट नहीं चाहिए, मेरा काम था आरसीए का सस्पेंशन खत्म कराना और आईपीएल की वापसी, वो मैंने किया : जोशी

राजस्थान सरकार के खेलमंत्री गजेंद्र सिंह खींवसर का सोमवार को एक अंग्रेजी अखबार में इंटरव्यू छपा है। उसका हैडिंग...

Danik Bhaskar | Apr 03, 2018, 06:35 AM IST
राजस्थान सरकार के खेलमंत्री गजेंद्र सिंह खींवसर का सोमवार को एक अंग्रेजी अखबार में इंटरव्यू छपा है। उसका हैडिंग है ‘IPL was bound to come to Jaipur, Joshi has no role in it : Khimsar’ (आईपीएल तो जयपुर में होना ही थे, इसमें जोशी का कोई रोल नहीं है : खींवसर)। इसका मतलब साफ है कि आईपीएल की वापसी के लिए प्रदेश के खेलमंत्री खींवसर राजस्थान क्रिकेट संघ के अध्यक्ष विरोधी कांग्रेस पार्टी के कद्दावर नेता सीपी जोशी को कोई क्रेडिट नहीं देना चाहते।

इस पर हमने सी.पी. जोशी से प्रतिक्रिया लेनी चाही तो उन्होंने कहा, मुझे इसका कोई क्रेडिट लेना भी नहीं है। आईपीएल अध्यक्ष बनने के बाद मैंने साफ-साफ कहा था कि मैं सबसे पहले दो काम करूंगा, एक आरसीए का बीसीसीआई से सस्पेंशन खत्म कराऊंगा और दूसरा जयपुर में आईपीएल कराऊंगा। ये दोनों काम कराने के लिए अपनी तरफ से मैंने पूरी कोशिश की। हां, फिर भी मैं इसके लिए कोई क्रेडिट नहीं लेना चाहता।

जयपुर में आईपीएल हो, इसलिए समर्थकों ने भी किया था ललित मोदी के विरोध में वोट

जोशी ने सवाल किया, क्या ललित मोदी आरसीए से नहीं हटते तो आईपीएल जयपुर में हो जाते और बीसीसीआई से आरसीए का सस्पेंशन खत्म हो पाता। इसके लिए मैं पूरा श्रेय हाईकोर्ट को देना चाहता हूं। आरसीए का सस्पेंशन यदि खत्म हुआ है तो इसके लिए हाईकोर्ट जज (मनीष भंडारी) का अहम रोल है। उन्होंने बीसीसीआई को पार्टी बनाया। हाईकोर्ट ने बीसीसीआई से कहा कि आपको जो भी शर्तें रखनी हैं रखो, लेकिन आरसीए का सस्पेंशन खत्म करो। बीसीसीआई ने जो भी शर्तें रखीं वे शर्तें आरसीए ने पूरी कीं। गुप्त मतदान भी हुआ। इसमें ललित मोदी के समर्थित सदस्यों ने भी आरसीए का सस्पेंशन खत्म हो और आईपीएल की जयपुर में वापसी हो इसलिए बीसीसीआई की शर्त के अनुसार मोदी के विरोध में मतदान किया। तब जाकर आरसीए का सस्पेंशन खत्म हुआ और जयपुर में आईपीएल की वापसी हुई।

हेमांग और कैथरीन मिले थे खींवसर से

हालांकि यह बात भी सच है कि जब आरसीए का सस्पेंशन खत्म भी नहीं हुआ था तब खेलमंत्री खींवसर ने ही बीसीसीआई को पत्र लिखा था और जयपुर में आईपीएल मैच कराए जाने के लिए सरकार की ओर से हरसंभव मदद किए जाने की बात कही थी। इसके बाद बीसीसीआई हरकत में आई थी और हेमांग अमीन (बीसीसीआई सीओओ) और आईएमजी की इवेंट प्रमुख कैथरीन सिम्पसन को खेलमंत्री से विचार-विमर्श के लिए जयपुर भेजा था।

खेलमंत्री ने सबसे पहले बोर्ड को पत्र लिखा था : खन्ना

राजस्थान रॉयल्स के वाइस प्रेसीडेंट राजीव खन्ना से पूछा तो उन्होंने कहा, शुरुआत तो खेलमंत्री खींवसर ने बीसीसीआई को पत्र लिखकर ही की थी लेकिन बाद में आरसीए का सस्पेंशन खत्म हुआ तो चीजें और आसान हो गईं। जब तक आरसीए का सस्पेंशन खत्म नहीं हुआ था तब तक राजस्थान रॉयल्स भी सरकार के मार्फत भी कोशिश कर रहा था। सस्पेंशन खत्म होने के बाद तो आरसीए का पार्टी बनना स्वाभाविक था।