--Advertisement--

मंशा पत्र जारी होने वाली लैप्स हो गई 200 पुरानी माइंस

जयपुर | मंशा पत्र जारी होने के बाद माइनिंग प्लान, पर्यावरण स्वीकृति, एग्रीमेंट और रजिस्ट्री न होने के कारण 200 पुरानी...

Danik Bhaskar | Apr 04, 2018, 06:40 AM IST
जयपुर | मंशा पत्र जारी होने के बाद माइनिंग प्लान, पर्यावरण स्वीकृति, एग्रीमेंट और रजिस्ट्री न होने के कारण 200 पुरानी माइंस लैप्स हो गई है। इन खानों की नए सिरे से खान विभाग की ओर से नीलामी की जाएगी। सालों से खनन कारोबारी पर्यावरण स्वीकृति नहीं ले पा रहे थे, जिसके उन्हें नुकसान उठाना पड़ा है। राज्य सरकार ने 28 फरवरी 2017 को नया माइनर माइनिंग रूल्स जारी किया था। यह प्रावधान किया गया था कि रूल्स आने के पहले जिस खान के लिए मंशा पत्र जारी हो गया था, उन खानों को एक साल के भीतर माइनिंग प्लान, पर्यावरण स्वीकृति लेने, एग्रीमेंट के बाद रजिस्ट्री करानी थी, लेकिन सवा तीन सौ से अधिक खानों ने ये औपचारिकताएं पूरी नहीं की। ऐसे में इन्हें बचाने के लिए खान विभाग ने 31 मार्च 2018 तक अवधि बढ़ा दी थी। इसके बावजूद तकरीबन 200 माइंस के लिए औपचारिकताएं पूरी नहीं हो पाई। ऐसे में खान विभाग ने इन खानों को अब पूरी तरह लैप्स मान लिया है। इनकी नए सिरे से नीलामी की जाएगी। गौरतलब है कि इसमें एक भी खान आवंटन घोटाले की माइंस शामिल नहीं थी।