Hindi News »Rajasthan »Shahjanpur» महिला सुपरवाइजर के 180 पदों पर भर्ती, 5 से शुरू होंगे आवेदन

महिला सुपरवाइजर के 180 पदों पर भर्ती, 5 से शुरू होंगे आवेदन

राजस्थान अधीनस्थ एवं मंत्रालयिक सेवा चयन बोर्ड जयपुर ने महिला सुपरवाइजर (महिला अधिकारिता) के 180 पदों पर भर्ती...

Bhaskar News Network | Last Modified - Apr 04, 2018, 06:40 AM IST

राजस्थान अधीनस्थ एवं मंत्रालयिक सेवा चयन बोर्ड जयपुर ने महिला सुपरवाइजर (महिला अधिकारिता) के 180 पदों पर भर्ती निकाली हैं। आवेदन पांच अप्रैल से शुरू होंगे और चार मई की रात 12 बजे तक किए जा सकेंगे। आवेदन के लिए एसएसओ आईडी होनी जरूरी है। ईमित्र के जरिए आवेदन करने पर आवेदन शुल्क के साथ 30 रुपए अतिरिक्त देने होंगे। अगर आवेदन करने के बाद और फीस जमा कराने के बाद ट्रांजेक्शन फेल्ड का मैसेज आ रहा है तो आवेदन भरा हुआ नहीं माना जाएगा। ऐसी स्थिति में ई-मित्र हेल्पलाइन नंबर 0141-2221424 पर संपर्क कर सकते हैं।

परीक्षा शुल्क | आवेदक को अपनी श्रेणी चुनने के साथ ही निर्धारित परीक्षा शुल्क देना होगा। सामान्य वर्ग व क्रीमीलेयर श्रेणी के पिछड़ा वर्ग के आवेदक हेतु 450 रुपए है। राजस्थान के नॉन क्रीमीलेयर श्रेणी के पिछड़ा वर्ग के आवेदक के लिए फीस 350 रुपए रखी गई है। जबकि समस्त विशेष योग्यजन तथा राजस्थान के अनुसूचित जाति/अनुसूचित जनजाति के आवेदक को 250 रुपए जमा कराने होंगे।

शैक्षणिक योग्यता | भारत में विधि द्वारा स्थापित किसी विश्वविद्यालय से स्नातक तथा देवनागरी लिपि में कार्य करने का ज्ञान एवं राजस्थान की संस्कृति का ज्ञान होना। बोर्ड द्वारा यह स्पष्ट किया गया है कि ऐसे अभ्यर्थी जो स्नातक अंतिम वर्ष में है, वे लिखित परीक्षा की तिथि तक या पहले अपेक्षित शैक्षणिक अर्हता अर्जित कर लेने का सबूत प्रस्तुत करना होगा। बोर्ड द्वारा महिला सुपरवाइजर के लिए चयन लिखित परीक्षा के माध्यम से किया जाएगा।

भर्ती के लिए जरूरी बातें, हिंदी और रीजनिंग-गणित की तैयारी में लगानी होगी ताकत

आयु | आवेदक 1 जनवरी, 2019 को 18 वर्ष की आयु प्राप्त कर चुका हो तथा 40 वर्ष का नहीं हुआ हो। आयु सीमा में सामान्य वर्ग की महिला अभ्यार्थियों को 5 वर्ष की छूट दी जाएगी। अनुसूचित जाति/अनुसूचित जनजाति/अन्य पिछड़ा वर्ग/अति पिछड़ा वर्ग के पुरुष अभ्यार्थियों को जो राजस्थान के स्थायी निवासी है उनको 5 वर्ष की छूट दी जाएगी। अनुसूचित जाति/अनुसूचित जनजाति/अन्य पिछड़ा वर्ग/अति पिछड़ा वर्ग की महिला अभ्यर्थी जो राजस्थान की मूल निवासी हो उनको 10 वर्ष की छूट दी जाएगी।

वेतनमान | राज्य सरकार द्वारा देय सातवें वेतनमान के अनुसार सुपरवाइजर पद हेतु ‘पे मैट्रिक्स लेवल-10‘ एवं वेतनमान 33800-106700 रुपए निर्धारित किया गया है। परीवीक्षा काल में मासिक पे राज्य सरकार के आदेश अनुसार देय होगा।

परीक्षा का महीना | सुपरवाइजर (महिला अधिकारिता) के पदों की भर्ती बोर्ड द्वारा संभवतया माह जुलाई 2018 में करवाई जाएगी। इसकी सूचना बोर्ड की वेबसाइट एवं प्रेस विज्ञप्ति के माध्यम से अलग से दे दी जाएगी।

तैयारी कैसे करें | 300 अंकों का होगा पेपर, पाठ्यक्रम को दो भागों में बांटकर करें तैयारी

महिला सुपरवाइजर परीक्षा में अंग्रेजी, गणित, हिंदी रीजनिंग, राजस्थान का सामान्य ज्ञान व सामान्य विज्ञान विषयों से जुड़े सवाल पूछे जाएंगे। इन सवालों का जवाब देने के लिए अभ्यर्थी को तीन घंटे का वक्त मिलेगा। पेपर 300 अंकों का होगा। गलत उत्तर देने पर 1/3 ऋणात्मक अंक किया जाएगा। हर सवाल एक नंबर का होगा एक्सपर्ट्स का कहना है कि पाठ्यक्रम को दो भागों में बांटकर तैयारी करनी चाहिए। अभ्यर्थी सबसे पहले पाठ्यक्रम की पूरी जानकारी लें।

हिंदी | हिंदी विषय से लगभग 40 से 50 प्रश्न पूछे जाते हैं। सबसे ज्यादा लेटेज भी हिंदी के प्रश्नों का रहेगा। इसी तरह संधि, समास, उपसर्ग व प्रत्यय इन चारों टॉपिक से लगभग 8-10 सवाल पूछे जाएंगे। पर्यायवाची रख विलोम शब्द से एक-एक प्रश्न आते हैं। दो प्रश्न शब्द शुद्धि, वाक्य शुद्धि आदि से आते हैं। इसके अलावा वाच्य, क्रियाएं, वाक्यांश के लिए एक शब्द से एक-एक प्रश्न पूछे जाते हैं। अंग्रेजी के पारिभाषिक शब्दों के समानार्थी शब्दों से एक प्रश्न पूछा जाएगाा।

अंग्रेजी | अंग्रेजी विषय से संबंधित 20-25 प्रश्नों पूछे जाते हैं। इनमें सीक्वेंस ऑफ टेंस, एक्टिव एंड पेसिव एंड नरेशन से लगभग 5 प्रश्न पूछे जाते हैं। ट्रांसफॉरमेशन ऑफ सेन्टेन्स, आक्टिकल एंड डिटरमीनस इत्यादि से लगभग 2-3 प्रश्न परीक्षा में आते हैं।

रीजनिंग एवं गणित | इस भाग से लगभग 30 प्रश्न पूछे जाते हैं। इसमें से लगभग 10.12 प्रश्न रीजनिंग से तथा 20 प्रश्न गणित से पूछे जाएंगे। इस विषय में सर्वाधिक स्कोरिंग कोडिंग-डीकोडिंग एवं बैठक व्यवस्था है। इसमें से 5.6 अंक के सवाल आते हैं। वहीं घड़ी, दिशा, परीक्षण, रक्त संबंध तथा नंबर सीरिज में से 1.2 सवाल आते हैं। नॉन वर्बल क अंतर्गत आकृति गिनना, दर्पण प्रतिबिंब, जल प्रतिबिंब टॉपिक से भी एक से दो प्रश्न आते हैं। इसके अतिरिक्त जो महत्वपूर्ण टॉपिक आता है वह है ‘सिलोलिज्म‘। गणित में प्रतिशत, लाभ-हानि, साधारण ब्याज, आयु संबंधी, समय-कार्य संबंधी, समय-दूरी और चाल इत्यादि टॉपिक से एक-एक प्रश्न पूछे जाएंगे।

राजस्थान का सामान्य ज्ञान | इस विषय से लगभग 50 प्रश्न पूछे जाएंगे। राजस्थान का इतिहास टॉपिक से 15 प्रश्न पूछे जाएंगे। इसमें राजस्थान की प्राीचन सभ्यताएं व स्त्रोत, गुर्जर प्रतिहार वंश, चौहान वंश (अजमेर), जालौर गुहिल वंश, राठौड़ वंश इत्यादि पर अभ्यर्थी फोकस करें। राजस्थान का एकीकरण एवं प्रजामंडल आंदोलन पर विशेष ध्यान दें। इसी तरह राजस्थान की कला एवं संस्कृति से संबंधित भी 20 सवाल पूछे जाएंगे। इसमें किले, महल, लोकदेवता, लोकनृत्य, मेले, त्योहार, शैलियां तथा राजस्थान की प्रमुख जनजातियां का अच्छे से अध्ययन करें। वहीं, राजस्थान का भूगोल में लगभग 15 प्रश्न पूछे जाएंगे।

एक्सपर्ट्स की राय में पेपर हल करते वक्त इन बातों का ध्यान रखें

विज्ञप्ति में दिए गए दिशा-निर्देशों के अनुसार परीक्षा में न्यूनतम उत्तीर्णांक 40 प्रतिशत निर्धारित है तथा ऋणात्मक अंकन किया जाएगा। इसलिए अभ्यर्थी किसी भी प्रश्न का उत्तर अनुमान लगाकर ना दें। ज्यादातर देखा गया है कि अभ्यर्थी काफी मेहनत करने के बाद भी परीक्षा में छोटी-छोटी गलतियां कर देते हैं। जैसे-ओएमआर सही से नहीं भरना, गोले गलत कर देना, ऐसी छोटी गलतियों से अभ्यर्थियों को बचना होगा इसके लिए अभ्यर्थी को चाहिए की परीक्षा से पहले मॉक टेस्ट सॉल्व कर लेने चाहिए तथा 2-3 बार ओएमआर फील कर लेनी चाहिए। इससे हम समय की बचत भी कर सकेंगे और गलतियां भी नहीं दोहराई जाएगी।

एक्सपर्ट्स : अनिल चौधरी व एसआर गुर्जर, जयपुर

दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए News in Hindi, Breaking News सबसे पहले दैनिक भास्कर पर |

More From Shahjanpur

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×