• Hindi News
  • Rajasthan News
  • Shahjahanpur News
  • देश के टॉप-100 शिक्षण संस्थानों में प्रदेश के सिर्फ दो ही, इनमें सरकारी एक भी नहीं
--Advertisement--

देश के टॉप-100 शिक्षण संस्थानों में प्रदेश के सिर्फ दो ही, इनमें सरकारी एक भी नहीं

भास्कर न्यूज | उदयपुर/कोटा/नई दिल्ली देश में उच्च शिक्षा की गुणवत्ता में सुधार लाने के लिए शुरू की गई नेशनल...

Dainik Bhaskar

Apr 04, 2018, 06:45 AM IST
भास्कर न्यूज | उदयपुर/कोटा/नई दिल्ली

देश में उच्च शिक्षा की गुणवत्ता में सुधार लाने के लिए शुरू की गई नेशनल इंस्टीट्यूशनल रैंकिंग फ्रेमवर्क (एनआईआरएफ) “रैंकिंग 2018’ मंगलवार को जारी कर दी गई। इसकी ओवरआॅल और यूनिवर्सिटी श्रेणी की रैंकिंंग के टॉप-100 में प्रदेश के महज दो ही संस्थान बिट्‌स पिलानी (25वें) व बनस्थली विद्यापीठ (91वें) ही जगह बना पाए। सरकारी संस्थान तो एक भी नहीं रहा। ओवरआॅल और यूनिवर्सिटी श्रेणी की रैंकिंंग में भारतीय विज्ञान संस्थान, बेंगलुरू (आईआईएससी) और इंजीनियरिंग श्रेणी में आईआईटी मद्रास टॉप पर रहे। आईआईटी मद्रास ने ओवरआॅल कैटगरी में अपनी दूसरी रैंक बरकरार रखी है। ओवरऑल कैटेगरी में एमएनआईटी 126वें, सेंट्रल यूनिवर्सिटी अजमेर 154वें और राजस्थान यूनिवर्सिटी 180वें स्थान पर रही। यूनिवर्सिटी श्रेणी में दूसरे नंबर पर काबिज जेएनयू, नई दिल्ली ओवरआॅल कैटगरी में छठवें नंबर पर है।



मैनेजमेंट श्रेणी में आईआईएम-अहमदाबाद ने पहला स्थान, आईआईएम-बेंगलुरू ने दूसरा और आईआईएम-कलकत्ता ने तीसरा स्थान हासिल किया। फार्मेसी श्रेणी में टॉप पर एनआईपीईआर-मोहाली, दूसरे नंबर पर जामिया हमदर्द और तीसरे नंबर पर पंजाब यूनिवर्सिटी है। राजस्थान से फार्मेसी में 5वें स्थान पर बिट्स पिलानी और बनस्थली 23वें स्थान पर रहा। पहली बार शामिल मेडिकल श्रेणी में कुल 25 संस्थान हैं। टॉप पर एम्स, नई दिल्ली है। मेडिकल और आर्किटेक्चर कैटेगरी में भी राजस्थान से टॉप लिस्ट में एक भी संस्थान नहीं रहा। लॉ कैटेगरी में टॉप-10 में राजस्थान में 5वें स्थान पर नेशनल लॉ यूनिवर्सिटी जोधपुर रहा। पिछले साल संस्थानों की ओवरऑल रैंकिंग में प्रदेश के तीन संस्थान थे। इस बार टॉप-100 में शामिल रहे इन दोनों संस्थानों ने पिछले साल भी इस सूची में जगह बनाई थी, जबकि सूची में 63वें स्थान पर रहा आईआईएमयू उदयपुर इस बार टॉप 100 से बाहर हो गया। प्रदेश से टॉप-200 में एक भी कॉलेज जगह नहीं बना पाया।

बॉक्स :-

अगले साल से रैंकिंग में सभी सरकारी शिक्षा संस्थानों का शामिल होना अनिवार्य, नहीं तो रुकेगा फंड :

केंद्र ने सभी सरकारी उच्च शिक्षा संस्थानों को राष्ट्रीय संस्थागत रैंकिंग फ्रेमवर्क (एनआईआरएफ) में शामिल होने को अनिवार्य कर दिया है। मानव संसाधन विकास मंत्री प्रकाश जावड़ेकर ने रैंकिंग जारी करते हुए यह घोषणा की। जावड़ेकर ने कहा है कि इस प्रक्रिया में शामिल नहीं होने वाले सरकारी संस्थानों की फंड में कटौती की जाएगी। अभी तक एनआईआरएफ में शामिल होना अनिवार्य नहीं था।

---------------------

कुल नौ में तीन नई श्रेणियां :

इस साल कुल 9 श्रेणियों में रैंकिंग जारी की गई। इनमें ओवरऑल, यूनिवर्सिटीज, इंजीनियरिंग, कॉलेजेस, मैनेजमेंट, फार्मेसी, मेडिकल, आॅर्किटेक्चर और लॉ कटेगरी में रैंकिंग जारी की गई। मेडिकल, ऑर्किटेक्चर और लाॅ को इस बार पहली बार शामिल किया गया।

---------------

रैंकिंग के आधार :

एनआईआएफ संस्थानों की रैंकिंग शिक्षा, सीखना और संसाधन, रिसर्च एंड प्रोफेशनल प्रैक्टिस, ग्रेजुएशन के नतीजे, पहुंच और समावेशिता तथा धारणा के आधार पर तय करता है।

------------------

कॉलेजेस श्रेणी में दिल्ली का दबदबा :

कॉलेजेस कैटगरी में पहले दो स्थानों पर नई दिल्ली का मिरांडा हाउस आैर सेंट स्टीफेंस कॉलेज हैं। इस श्रेणी में टॉप टेन में पांच दिल्ली के हैं। तीसरे पर तिरुचिरापल्ली का बिशप हेबर कॉलेज है।

-------------------

56वें नंबर पर आईआईएसईआर भाेपाल :

यूनिवर्सिटी श्रेणी में टॉप 100 संस्थानों में मध्य प्रदेश से एक भी संस्थान नहीं है। ओवरआॅल श्रेणी में प्रदेश से एक संस्थान भारतीय विज्ञान शिक्षा एवं अनुसंधान संस्थान (आईआईएसईआर), भाेपाल 56वें स्थान पर है। इंजीनियरिंग श्रेणी में आईआईएम इंदौर 14वीं रैंक पर है।







सबसे ज्यादा तमिलनाडु से 22 संस्थान टॉप-100 में, राजस्थान 12वें पर

सोमवार को जारी हुई रैंकिंग में तमिलनाडु के सबसे ज्यादा 22 संस्थानों ने टॉप-100 में जगह बनाई। वहीं महाराष्ट्र से 11, यूपी से 8, पश्चिम बंगाल से 7, दिल्ली, कर्नाटक से 6, केरल, तेलंगाना, पंजाब, आंध्र प्रदेश से 4-4 संस्थानों ने ओवरऑल रैंकिंग के टॉप-100 में जगह बनाई। असम से 3 और राजस्थान, झारखंड, जम्मू-कश्मीर, पुडुचेरी, उत्तराखंड संयुक्त रूप से 2-2 संस्थानों के साथ 12वें स्थान पर रहे।

मैनेजमेंट में इस बार दो संस्थान, आईआईएम उदयपुर की रैंकिंग सुधरी

मैनेजमेंट में प्रदेश से दो संस्थान टॉप-100 में रहे। इसमें आईआईएम उदयपुर 13वें और जयपुरिया इंस्टीट्यूट ऑफ मैनेजमेंट 64वें स्थान पर रहा। आईआईएम यू की रैंकिंग पिछले वर्ष की तुलना में सुधरी। इस बार आईआईएम यू ने 59.07 के स्कोर के साथ 13वां स्थान हासिल किया। वहीं गत वर्ष 53.77 के स्कोर के साथ आईआईएम 15वें स्थान पर रहा था।

ओवरआॅल रैंकिंग में टॉप टेन संस्थान

रैंक संस्थान स्कोर

1. आईअाईएससी, बेंगलुरू 82.16

2. आईआईटी, मद्रास (चेन्नई) 81.39

3. आईआईटी, बाॅम्बे 79.20

4. आईआईटी, दिल्ली 73.97

5. आईआईटी, खड़गपुर 71.39

6. जेएनयू, नई दिल्ली 67.57

7. आईआईटी, कानपुर 65.39

8. आईआईटी, रूड़की 64.93

9. बीएचयू, वाराणसी 63.52

10. अन्ना यूनिवर्सिटी, चेन्नई 62.82


यूनिवर्सिटी श्रेणी की रैंकिंग

रैंक संस्थान स्कोर

1. आईअाईएससी, बेंगलुरू 82.16

2. जेएनयू, नई दिल्ली 67.57

3. बीएचयू, वाराणसी 63.52

4. अन्ना यूनिवर्सिटी, चेन्नई 62.82

5. हैदराबाद यूनिवर्सिटी 60.54

6. जाधवपुर यूनिवर्सिटी 59.68

7. दिल्ली यूनिवर्सिटी 58.69

8. अमृता विवि कोयंबटूर 58.46

9. सावित्रीबाई फुले विवि पुणे 58.24

10. एएमयू, अलीगढ़ 57.78

X
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..