Hindi News »Rajasthan News »Shahjahanpur News» हरपीज में बुखार के बाद चेहरे पर उभरते हैं दाने

हरपीज में बुखार के बाद चेहरे पर उभरते हैं दाने

Bhaskar News Network | Last Modified - Feb 02, 2018, 07:00 AM IST

बुखार के बाद चेहरे और होठों के आसपास पानी भरे दाने उभर रहे हैं। इन दानों में जलन भी महसूस हो रही है। इन्हें अवॉइड...
बुखार के बाद चेहरे और होठों के आसपास पानी भरे दाने उभर रहे हैं। इन दानों में जलन भी महसूस हो रही है। इन्हें अवॉइड नहीं करें। यह साधारण दाने नहीं बल्कि हरपीज के लक्षण भी हो सकते हैं। अक्सर बुखार के बाद इस बीमारी के लक्षण उभरकर आते हैं। इन दानों में तेज दर्द और इनके उभरने से पहले चेहरे पर सूजन और दर्द होता है। यह वायरस से होने वाली बीमारी हैं। यह बीमारी उन लोगों में ज्यादा होने की संभावना रहती है, जिन्हें जिंदगी में एक बार चिकन पॉक्स हुआ है। साधारण भाषा में मकड़ी मसल जाना और दवा की एलर्जी भी कहा जा सकता है। यह तीन तरह की होती हैं। इनमें हरपीज सिम्प्लेक्स सबसे ज्यादा साधारण है। समय पर इलाज नहीं किए जाने पर पेशेंट की स्थिति बिगड़ सकती है। यह इरिदिमा मल्टीफार्मे जैसी बीमारी तक पहुंच जाती है। इसमें पानी भरे दाने पूरे शरीर पर फैल जाते हैं।

चिकन पॉक्स में तब्दील हो सकती है हरपीज

हरपीज जोस्टर में चेहरे पर लकवा आने की संभावना बढ़ जाती है। इस टाइप का हरपीज बॉडी के आधे हिस्से में होता है। ज्यादातर ये दाने पेट व सीने पर होते हैं। समय पर ट्रीटमेंट नहीं मिलने पर इन दानों में घाव हो जाते हैं। बच्चों में यह चिकन पाॅक्स में भी तब्दील हो जाता है। इसकी जलन को हार्ट डिजीज भी समझ लिया जाता है। संबंधित टैस्ट भी करवाने पड़ते हैं। लेकिन यह बीमारी जिंदगी में एक बार ही होती है। जैनाइटल पार्ट में ही यह बीमारी होने का खतरा रहता है।

-डॉ. मनीषा निझावन, डर्मेटोलॉजिस्ट, जयपुर

दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए Shahjahanpur News in Hindi सबसे पहले दैनिक भास्कर पर | Hindi Samachar अपने मोबाइल पर पढ़ने के लिए डाउनलोड करें Hindi News App, या फिर 2G नेटवर्क के लिए हमारा Dainik Bhaskar Lite App.
Web Title: हरपीज में बुखार के बाद चेहरे पर उभरते हैं दाने
(News in Hindi from Dainik Bhaskar)

Stories You May be Interested in

      More From Shahjanpur

        Trending

        Live Hindi News

        0
        ×