• Hindi News
  • Rajasthan
  • Shahjanpur
  • बैठे-बैठे थोड़ी देर होश खोना अवॉइड न करें, ये हो सकते हैं कॉम्पलेक्स पार्शियल सीजर्स
--Advertisement--

बैठे-बैठे थोड़ी देर होश खोना अवॉइड न करें, ये हो सकते हैं कॉम्पलेक्स पार्शियल सीजर्स

अगर आप बैठे-बैठे अचानक थोडी देर के लिए होश खो बैठते हैं। होठ हिलना शुरू हो जाते हैं। हाथ भी हिला पा रहे हैं, लेकिन...

Dainik Bhaskar

Feb 02, 2018, 07:00 AM IST
बैठे-बैठे थोड़ी देर होश खोना अवॉइड न करें, ये हो सकते हैं कॉम्पलेक्स पार्शियल सीजर्स
अगर आप बैठे-बैठे अचानक थोडी देर के लिए होश खो बैठते हैं। होठ हिलना शुरू हो जाते हैं। हाथ भी हिला पा रहे हैं, लेकिन झटके वाले दौरे नहीं आ रहे हैं। थोडी देर के लिए दुनिया से डिसकनेक्ट हो जाते हैं। इसे इग्नोर नहीं करें। यह कॉम्पलेक्स पार्शियल सीजर्स कहलाते हैं। अचानक ब्रेन में उठने वाले तरंगों को सीजर्स कहा जाता है । इससे ब्रेन में थोड़ी देर के लिए डिस्टरबेंस होते है और फिर ठीक हो जाती है। एक से दो मिनट के लिए यह दौरा ब्रेन में फ्रंटल या फिर टेंपोरल लोब में खराबी की वजह से आता है। टेम्पोराल लोब की वजह युवाओं में अक्सर यह प्रॉब्लम देखी जाती है। कभी-कभी बच्चों में बुखार के साथ भी दौरे पड़ते हैं। पंद्रह परसेंट बच्चों में टेम्परोलोब स्कोलरोसिस ब्राइट हो जाता है। इन पेशेंट्स में 80 परसेंट दौरे मेडिसिन से कंट्रोल नहीं हो पाते हैं। सिर्फ सर्जरी इनका इलाज है। सर्जरी में ब्रेन के जिस हिस्से में दौरे पैदा हो रहे हैं, उस हिस्से को काटकर निकाल दिया जाता है। इससे पेशेंट्स के दौरे कंट्रोल हो जाते हैं।

सिंपल पार्शियल सीजर्स

एक से दो मिनट तक पेशेंट्स को झटके महसूस होते हैं। ये झटके ब्रेन के मोटरकॉटेक्स (मूवमेंट सेंटर) और उसके आस-पास की जगह खराब होने पर आते हैं। मोटरकॉटेक्स में खराबी होने से तरंगें उत्पन्न होने पर हाथ या पैरों में कुछ समय के लिए झटके लगते हैं। यह किसी भी उम्र में हो सकता है। ब्रेन में इंफेक्शन, सिर में चोट, लकवा और जेनेटिक डिसऑर्डर भी इसकी वजह है। कभी-कभी इन झटकों का कारण मालूम नहीं हो पाता है। कंट्रोल में नहीं आने पर एपिलेप्सी सर्जरी की जाती है।


डॉ. दिनेश खंडेलवाल

न्यूरोलॉजिस्ट, एसएमएस, जयपुर

X
बैठे-बैठे थोड़ी देर होश खोना अवॉइड न करें, ये हो सकते हैं कॉम्पलेक्स पार्शियल सीजर्स
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..