Home | Rajasthan | Shahjanpur | नौगांवा में चैत्र द्वादशी पर हुआ रावण दहन

नौगांवा में चैत्र द्वादशी पर हुआ रावण दहन

कस्बा में बुधवार को रावण के पुतले का श्रीराम के जयकारों के बीच दहन किया गया। इसी के साथ चार दिवसीय रामनवमी महोत्सव...

Bhaskar News Network| Last Modified - Mar 29, 2018, 07:00 AM IST

नौगांवा में चैत्र द्वादशी पर हुआ रावण दहन
नौगांवा में चैत्र द्वादशी पर हुआ रावण दहन
कस्बा में बुधवार को रावण के पुतले का श्रीराम के जयकारों के बीच दहन किया गया। इसी के साथ चार दिवसीय रामनवमी महोत्सव का समापन हो गया। कार्यक्रम के पहले दिन रविवार को कस्बे के श्री सीताराम मंदिर से ठाकुरजी की पालकी बैंडबाजों से मुख्य बाजारों से होती हुई हनुमान बगीची पहुंची। बुधवार को मेले का आयोजन किया गया जिसमें आसपास क्षेत्र के लोगों ने लुत्फ उठाया और जमकर खरीदारी की। मेले के दौरान विशाल दंगल का आयोजन किया गया। कुश्ती दंगल में आसपास क्षेत्र सहित हरियाणा के नामी पहलवानों द्वारा कुश्ती में जोर आजमाइश की गई। विजेता पहलवानों को नौगांवा ग्राम विकास समिति द्वारा पुरस्कृत किया गया। दंगल के उपरांत सनातन धर्म कमेटी द्वारा रावण के 26 फुट लंबे पुतले को बैंडबाजों से बस स्टैंड लाया गया और राम, लक्ष्मण एवं रावण के स्वरूपों में नाटकीय युद्ध का मंचन हुआ। नाटकीय युद्ध के दौरान अग्नि बाण से रावण का पुतला धू-धूंकर जल उठा। रावण के पुतले में लगी आतिशबाजी लोगों के लिए आकर्षण का केंद्र रही। रावण दहन के उपरांत ठाकुरजी की पालकी को बैंडबाजों से वापस कस्बे के सीताराम मंदिर ले जाया गया।

रामनवमी महोत्सव का समापन, दशहरे पर रावण दहन नहीं किया जाता

नौगांवा. कस्बे में रावण के पुतले के दहन के दौरान मौजूद लोग।

बुजुर्गों की परंपरा निभा रहे हैं, कारण का पता नहीं

नौगांवा में रावण दहन की अनोखी परंपरा है, जहां पूरे देश में रावण के पुतले का दहन दशहरे पर होता है, वहीं नौगांवा में कई दशकों से रावण दहन रामनवमी महोत्सव के तहत चैत्र द्वादशी को करने की परंपरा है। इस संदर्भ में कस्बे के बुजुर्गों ने बताया कि वे अपने बचपन से चैत्र द्वादशी तिथि को ही रावण के पुतले का दहन होता देख रहे हैं। इसके पीछे क्या कारण है यह उन्हें भी नहीं पता।

prev
next
दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए News in Hindi, Breaking News सबसे पहले दैनिक भास्कर पर |

Trending Now