--Advertisement--

2 दशक पुराने कांकाणी हिरण शिकार मामले का फैसला आज

दो दशक पुराने जोधपुर के कांकाणी गांव के पास दो काले हिरणों के शिकार मामले सीजेएम ग्रामीण देवकुमार खत्री की कोर्ट...

Dainik Bhaskar

Apr 05, 2018, 07:00 AM IST
2 दशक पुराने कांकाणी हिरण 
 शिकार मामले का फैसला आज
दो दशक पुराने जोधपुर के कांकाणी गांव के पास दो काले हिरणों के शिकार मामले सीजेएम ग्रामीण देवकुमार खत्री की कोर्ट गुरुवार को फैसला सुनाएगी। कोर्ट का फैसला सुनने के लिए मुख्य आरोपी अभिनेता सलमान खान सहित सह आरोपी सैफ अली खान, अभिनेत्री तब्बू, नीलम और सोनाली बेंद्रे बुधवार को जोधपुर पहुंच गए। गैंगस्टर लाॅरेंस की धमकी को ध्यान में रखते हुए पुलिस ने एयरपोर्ट से बाहर निकलते ही सलमान को सुरक्षा घेरे में ले लिया। सलमान के साथ उनकी बहन अलवीरा व अर्पिता और दो वकील भी थे। अगर सलमान दोषी साबित होते हैं, तो उन्हें कम से कम एक साल और अधिकतम छह साल की सजा हो सकती है।

इस मामले में सैफ अली, नीलम, तब्बू और सोनाली सह आरोपी हैं। इन पर आरोप है कि 1 व 2 अक्टूबर 1998 की मध्यरात्रि को कांकाणी गांव में काला हिरण दिखाई देने पर इन चारों ने सलमान को उसे गोली मारने के लिए उकसाया था। इस पूरे मामले में अभियोजन पक्ष ने सलमान खान पर हिरण के शिकार का आरोप साबित करने के लिए 51 गवाहों की सूची बनाई थी, लेकिन बाद में 28 गवाह ही पेश किए। वहीं सलमान की ओर से अपने बचाव में एक भी गवाह पेश नहीं किया गया। अभियोजन पक्ष के इन 28 गवाहों से क्राॅस एग्जामिनेशन करके ही बचाव पक्ष ने अपने आपको निर्दोष साबित करने की कोशिश की है।

दोषी साबित होने पर 1 से 6 साल तक की सजा संभव

सलमान खान

सलमान के विरुद्ध वन्य जीव संरक्षण अधिनियम 1972 की धारा 51 के तहत हिरण के शिकार का आरोप है। यह आरोप सिद्ध होने पर सलमान को कम से कम एक साल व अधिकतम छह साल की सजा हो सकती है। जबकि अन्य आरोपियों सैफ अली, सोनाली, नीलम, तब्बू, दुष्यंतसिंह पर सलमान को शिकार के लिए उकसाने व विधि विरुद्ध जनसमूह बनाकर शिकार में शामिल होने का आरोप है। विधिवेताओं के अनुसार अगर सलमान दोषी साबित होते हैं, तो इन आरोपियों को भी उसके बराबर सजा मिल सकती है।

सलमान के खिलाफ यह चौथा व अंतिम केस, 3 केस में बरी

सलमान खान के खिलाफ कुल चार केस दर्ज थे। इनमें घोड़ा फार्म हाउस केस, भवाद शिकार मामला और आर्म्स एक्ट केस शामिल हैं। इनमें से 3 में सलमान बरी हाे चुके हैं। हालांकि घोड़ा फार्म हाउस केस में सरकार ने हाईकोर्ट में एसएलपी दायर कर रखी है।

प्रशंसक से उलझे सैफ कार नहीं चली तो गुस्साए -पढ़ें राजस्थान पेज

सैफ अली

X
2 दशक पुराने कांकाणी हिरण 
 शिकार मामले का फैसला आज
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..