• Hindi News
  • Rajasthan
  • Shahjanpur
  • 96 दिन की इंटर्नशिप 6 माह में भी पूरी नहीं! कॉलेजों में बीएड का सत्र तक गड़बड़ाने की नौबत
--Advertisement--

96 दिन की इंटर्नशिप 6 माह में भी पूरी नहीं! कॉलेजों में बीएड का सत्र तक गड़बड़ाने की नौबत

Dainik Bhaskar

Apr 05, 2018, 07:05 AM IST

Shahjanpur News - राज्य सरकार ने बीएड कर रहे विद्यार्थियों की इंटर्नशिप सरकारी स्कूलों में करने का नियम बनाया है। लेकिन बीएड कॉलेज...

96 दिन की इंटर्नशिप 6 माह में भी पूरी नहीं! कॉलेजों में बीएड का सत्र तक गड़बड़ाने की नौबत
राज्य सरकार ने बीएड कर रहे विद्यार्थियों की इंटर्नशिप सरकारी स्कूलों में करने का नियम बनाया है। लेकिन बीएड कॉलेज से इंटर्नशिप के लिए रिलीव होकर आए विद्यार्थी छह माह बाद भी वापस कॉलेजों में नहीं पहुंचे है। इससे कॉलेज संचालक परेशान है। बीएड के सेकंड ईयर के विद्यार्थियों के लिए 96 दिन कार्यदिवस में इंटर्नशिप करने का नियम है। लेकिन उनकी इंटर्नशिप छह माह में भी पूरी नहीं हो पा रही है। इससे बीएड का पूरा सत्र गड़बड़ाने की नौबत आ गई है।

पिछले साल सितंबर में बीएड सेकंड ईयर में पढ़ाई कर रहे विद्यार्थियों को इंटर्नशिप के लिए सरकारी स्कूलों में भेजने की प्रक्रिया शुरू हुई थी। प्रदेश के करीब 74 हजार में से पहले बैच में 34 हजार विद्यार्थियों को ऑनलाइन स्कूल आवंटित हुए थे। विभाग ने स्कूल आबंटित करते समय 96 दिन कार्यदिवस में इंटर्नशिप करने का नियम तो तय कर दिया, लेकिन 96 दिन कब तक पूरे होंगे। यह नहीं बताया। इस कारण सरकारी स्कूलों के संस्था प्रधान और खुद विद्यार्थियों ने ऐसी लापरवाही बरती कि साढ़े छह माह बीत गए, लेकिन वे इंटर्नशिप करके वापस बीएड कॉलेज नहीं पहुंचे। इससे बीएड कॉलेज केवल नाम के रह गए हैं। कई कॉलेज तो ऐसे हैं जहां सेकंड ईयर के विद्यार्थियों का उपस्थिति रजिस्टर तक नहीं बन पाया है। अगर यही हाल रहा जो जनवरी में शुरू हुए दूसरे बैच के विद्यार्थी जुलाई तक भी अपनी इंटर्नशिप पूरी नहीं कर पाएंगे। इससे बीएड परीक्षाएं देरी से शुरू होने की नौबत आ सकती है।


सिर्फ नाम के बीएड कॉलेज!

कई बीएड कॉलेजों में तो शिक्षा सत्र पूरी तरह गड़बड़ाया हुआ है। शिक्षाविद् संजीव सिंघल का कहना है कि 96 दिन की इंटर्नशिप 120 दिन में पूरी करने का नियम लागू हो जाए तो यह परेशानी खत्म हो जाएगी। इसी प्रकार प्रथम वर्ष के विद्यार्थियों की 24 दिन की इंटर्नशिप 30 से 35 दिन में पूरी करने का नियम लागू कर देना चाहिए। इससे बीएड कॉलेजों में स्थिति सुधरेगी और विद्यार्थी भी वहां उपस्थिति दर्ज कराने पहुंचने लगेंगे।

19 सितंबर से शुरू हुआ था पहला बैच

बीएड द्वितीय वर्ष के विद्यार्थियों का इंटर्नशिप का पहला बैच 19 सितंबर 2017 से शुरू हुआ था। इसमें करीब 34 हजार विद्यार्थियों को सरकारी स्कूलों में इंटर्नशिप के लिए भेजा गया था। उन्हें 96 कार्यदिवस के अंदर इंटर्नशिप करनी थी। लेकिन बड़ी संख्या में विद्यार्थी ऐसे हैं जिनकी इंटर्नशिप साढ़े छह माह बाद भी अब तक पूरी नहीं हुई है। इसी कारण दूसरा बैच देरी से शुरू हुआ। जनवरी 2018 में दूसरा बैच भी शुरू हो गया। इसको तीन माह बीत चुके हैं। लेकिन इंटर्नशिप कर तक पूरी होगी। कोई नहीं जानता।

फर्स्ट ईयर की इंटर्नशिप भी पूरी नहीं

बीएड प्रथम वर्ष के विद्यार्थियों को जनवरी 2018 और फरवरी 2018 में दो बैच में इंटर्नशिप के लिए भेजा गया था। इनको 24 दिन में इंटर्नशिप पूरी करनी होती है। लेकिन इनमें से भी कई विद्यार्थी ऐसे हैं जिनकी इंटर्नशिप 24 कार्यदिवस के बाद भी पूरी नहीं हुई और वे कॉलेजों में वापस नहीं पहुंचे।

X
96 दिन की इंटर्नशिप 6 माह में भी पूरी नहीं! कॉलेजों में बीएड का सत्र तक गड़बड़ाने की नौबत
Astrology

Recommended

Click to listen..