--Advertisement--

ऑपरेशन ग्रीन्स से अलवर में भी प्याज उत्पादकों को मिलेगी राहत

केंद्रीय बजट में की गई घोषणाओं से अलवर जिले में प्याज उत्पादक व आम किसानों, गरीबों व नौकरीपेशा लोगों को फायदा...

Dainik Bhaskar

Feb 02, 2018, 07:05 AM IST
केंद्रीय बजट में की गई घोषणाओं से अलवर जिले में प्याज उत्पादक व आम किसानों, गरीबों व नौकरीपेशा लोगों को फायदा होगा। कॉरपोरेट टैक्स में राहत से उद्योगों को लाभ मिलेगा। वहीं, रियल एस्टेट को बढ़ावा मिलेगा। एनसीआर में वायु प्रदूषण से भी लोगों को राहत मिलेगी। बजट में हर व्यक्ति को वर्ष 2022 तक अपना घर उपलब्ध करवाने के लिए एक करोड़ से अधिक घर बनाने की योजना, उज्ज्वला योजना के तहत 8 करोड़ महिलाओं को नए कनेक्शन, प्रधानमंत्री सौभाग्य योजना के तहत 4 करोड़ गरीब परिवारों को निशुल्क बिजली कनेक्शन आदि की बड़ी सौगातें दी गई हैं। बजट में कृषि पर फोकस करते हुए किसानों की आय बढ़ाने पर जोर दिया है। बागवानी, पशुपालन व सहायक कृषि कार्यों को प्रोत्साहन देने की योजना बनाई गई है। शिक्षा व स्वास्थ्य के क्षेत्र में बड़ी राशि के प्रावधान किए हैं।

अपने घर का सपना होगा पूरा : बजट में गरीबों का अपने घर का सपना पूरा करने का प्रयास किया गया है। इसके तहत प्रधानमंत्री आवास योजना ग्रामीण के तहत वर्ष 2017-18 में 51 लाख व 2018-19 में 51 लाख मकान ग्रामीण इलाकों में बनाए जाएंगे। दूसरी ओर, बजट में रियल एस्टेट को प्रोत्साहन दिया गया है। इसके तहत रियल एस्टेट सौदों में भूखंड की आकृति व लोकेशन सहित अन्य कारणों से डीएलसी की दरों में 5 फीसदी तक कमी या वृद्धि की जा सकेगी।

आम बजट : जेम्स ज्वैलरी के साथ ऑिर्टफिशियल ज्वैलरी भी महंगी, रोजगार के अवसर भी नहीं टैक्स से दबा मिडिल क्लास कार्टून से ही खुश होने की कोशिश कर ले

हमारे कार्टूनिस्ट चंद्रशेखर हाड़ा ने कुछ यूं किया आम बजट का एनालिसिस

केंद्रीय वित्त मंत्री ने आलू-प्याज जैसी फसलों के लिए घोषित की है योजना

बजट घोषणा से अलवर जिले के प्याज उत्पादकों को फायदा मिलने की उम्मीद की जा रही है। जेटली ने अपने बजट भाषण में कहा कि टमाटर, प्याज व आलू आदि ऐसी सब्जियां हैं, जो पूरे साल उपयोग होती हैं। इन सब्जियों को जल्द नष्ट होने से बचाने के लिए ऑपरेशन फ्लड की तर्ज पर ऑपरेशन ग्रीन्स शुरू किया जाएगा। इसके तहत किसान उत्पादक संगठनों, कृषि संभार तंत्र, प्रसंस्करण सुविधाओं एवं व्यावसायिक प्रबंधन को अपनाने के लिए प्रोत्साहन दिया जाएगा। इसके लिए बजट में 500 करोड़ रुपए की राशि आवंटित करने का प्रस्ताव है। प्याज उत्पादन में अलवर जिला पूरे देश में अग्रणी स्थान रखता है। जिले में खरीफ की प्याज होती है जबकि देश में अधिकांश जगह रबी की प्याज होती है। जिले में 20 हजार से अधिक किसान प्याज की खेती से जुड़े हैं। इस बार करीब 10 हजार हैक्टेयर में प्याज की बुआई हुई थी। जिले में प्याज का उत्पादन लगभग सवा लाख टन होता है। जिले की प्याज आसपास के राज्यों के अलावा बांग्लादेश तक जाती है।

समर्थन मूल्य का लाभ मिलेगा किसानों को

बजट घोषणा से छोटे किसानों को भी लाभ होगा। जेटली ने बजट भाषण में कहा कि आगामी खरीफ से सभी अधिघोषित फसलों का न्यूनतम समर्थन मूल्य उत्पादन लागत का कम से कम डेढ़ गुना करने का निर्णय लिया है। वित्तमंत्री ने भरोसा जताया कि इस ऐतिहासिक निर्णय से किसानों की आय दोगुनी करने में मदद मिलेगी। अभी मुख्य फसलों को छोड़कर रबी एवं खरीफ की कई फसलों का समर्थन मूल्य घोषित नहीं होने से किसानों को कई बार उत्पादन लागत भी नहीं मिल पाती है। अब समर्थन मूल्य तय होने से छोटे किसानों को फायदा मिलेगा।

टोल प्लाजा पर बचेगा वाहन चालकों का समय

सरकार सड़क यात्रा को निर्बाध बनाने के लिए टोल प्रणाली को प्रयोग की तरह भुगतान आधार पर प्रारंभ करने की नीति लाएगी। आजकल नकद में टोल टैक्स भुगतान की प्रणाली का स्थान फास्टेग्ज एवं अन्य इलेक्ट्रॉनिक भुगतान प्रणालियां लेती जा रही हैं। दिसंबर 2017 से एम व एन श्रेणी के वाहन फास्टेग्ज के साथ ही बेचे जा रहे हैं। अलवर जिले में शाहजहांपुर स्थित टोल प्लाजा एशिया का सबसे महंगा है। राजस्थान-हरियाणा की सीमा पर स्थित होने के कारण यहां टोल का नकद भुगतान करने के लिए कई बार लंबी कतारें लग जाती है। इससे लोगों को परेशान होना पड़ता है। सरकार की टोल भुगतान की नई नीति की घोषणा से वाहन चालकों पर टोल प्लाजा पर राहत मिलेगी।

रेलयात्रियों को सुविधा व सुरक्षा मिलेगी : बजट भाषण में सभी रेलवे स्टेशनों व ट्रेनों में वाई-फाई सुविधा शुरू करने की घोषणा की गई है। इसके अलावा सभी स्टेशनों व ट्रेनों में सीसीटीवी कैमरे लगाने का भी वित्तमंत्री ने ऐलान किया है। इससे रेलयात्रियों को सुविधा मिलने के साथ उनकी सुरक्षा एवं संरक्षा बढ़ेगी।

X
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..