--Advertisement--

सरकार ने मांगें नहीं मानी तो शिक्षक करेंगे आंदोलन

जयपुर | अपनी मांगों को लेकर रविवार को जयपुर में शिक्षक संगठनों ने अलग अलग बैठक की। अखिल राजस्थान विद्यालय शिक्षक...

Danik Bhaskar | Apr 09, 2018, 07:00 AM IST
जयपुर | अपनी मांगों को लेकर रविवार को जयपुर में शिक्षक संगठनों ने अलग अलग बैठक की। अखिल राजस्थान विद्यालय शिक्षक संघ (अरस्तु) की प्रांतीय कार्यकारिणी की बैठक राजकीय उच्च माध्यमिक स्कूल बजाज नगर में संपन्न हुई।

बैठक में प्रदेशाध्यक्ष रामकृष्ण अग्रवाल ने कहा कि जयपुर संभाग की रिव्यू डीपीसी करने, बीएड इंटर्नशिप करने वाले विद्यार्थियों की संख्या घटाने, शाला दर्पण व शाला दर्शन पोर्टल पर दर्शाए रिक्त पदों के हिसाब से ही बीएड विद्यार्थियों को स्कूलों में लगाने सहित 12 मांगों का प्रस्ताव पारित किया गया। प्रदेश प्रवक्ता देवकरण गुर्जर ने कहा कि मांग नहीं मानी तो अगले महीने आंदोलन किया जाएगा। राजस्थान संस्कृत शिक्षा सामान्य विषय शिक्षक संघ की बैठक में सेवा नियम, नामांकन बढाने सहित कई मुद्दों पर चर्चा की गई। संगठन के सूरजकरण बोहरा, कल्याण सहाय मीणा ने बताया कि संस्कृत विषय के प्राध्यापक पद की शैक्षणिक योग्यता में कोई भी संशोधन नहीं किया गया है। उन्होंने इस बारे में आ रही खबरों पर चिंता जाहिर की और इनको रोके जाने की जरूरत महसूस की गई। राजस्थान शिक्षक संघ (सियाराम) की संघर्ष समिति की बैठक प्रांतीय कार्यालय पर आयोजित की गई। संघ के प्रदेशाध्यक्ष सियाराम शर्मा ने कहा कि 11 अप्रैल को होने वाली मंत्रिमंडलीय समिति की बैठक में समायोजित, पदोन्नत (प्रयोगशाला सहायक से)शिक्षकों की मांगों को पूरजोर तरीके से उठाया जाएगा। बैठक में कई पदाधिकारी शामिल थे।