Hindi News »Rajasthan »Shahjanpur» संघ पदाधिकारी ने खुद को आग लगाई, सड़क पर दौड़ते हुए लगाए भारत माता के जयकारे

संघ पदाधिकारी ने खुद को आग लगाई, सड़क पर दौड़ते हुए लगाए भारत माता के जयकारे

जयपुर | वैशालीनगर में आम्रपाली सर्किल पर रविवार सुबह करीब 5 बजे चौंकाने वाली घटना हुई। यहां राष्ट्रीय स्वयंसेवक...

Bhaskar News Network | Last Modified - Apr 09, 2018, 07:00 AM IST

जयपुर | वैशालीनगर में आम्रपाली सर्किल पर रविवार सुबह करीब 5 बजे चौंकाने वाली घटना हुई। यहां राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ (आरएसएस) के वैशालीनगर कार्यवाह और दवा व्यापारी 45 वर्षीय रघुवीर शरण अग्रवाल ने खुद को पेट्रोल छिड़ककर आग लगा ली। वे करीब 100 मीटर तक भारत माता की जयकारे लगाते हुए दौड़ते रहे। बीच सड़क पर जलते हुए आदमी को भागते देखकर एकबारगी हड़कंप मच गया। लोगों ने पानी डालकर आग बुझाई और एसएमएस अस्पताल में ले गए। जहां से परिजन उन्हें दिल्ली ले गए। वे 80% तक झुलसे हैं। शेष | पेज 2

बताया जा रहा है कि रघुवीर शरण ने सोशल मीडिया पर चार दिन पहले एक पत्र भी शेयर किया था। हालांकि, इसमें उनका नाम व तारीख अंकित नहीं है। लेकिन पत्र में लिखा है कि स्वप्न में मैंने भारत माता की वह करुण चीत्कार सुनी और देखा कि चारों तरफ गिद्ध मंडरा रहे है। जब हम दूसरों के बहकावे में आ जाते हैं तो चाहे कोई भी हो, उसका स्वयं का विवेक शून्य हो जाता है और तब तक इतना भयंकर नुकसान हो जाता है। भाई से भाई को लड़वा कर अपना स्वार्थ सिद्ध करना चाहते हैं।

व्यापारी रघुवीर शरण अग्रवाल वैशाली नगर में क्राउन प्लाजा स्थित फ्लैट में रहते हैं। उनकी नर्सरी सर्किल के पास सी ब्लॉक में किरण मेडिकल्स के नाम से मेडिकल की दुकान है। रविवार सुबह पांच बजे वे अकेले ही मॉर्निग वॉक के घर से निकले थे। इस दौरान आम्रपाली सर्किल के पास खुद के शरीर पर पेट्रोल डालकर आग लगा ली। इससे पहले घर पर फोन भी किया था। घटना स्थल के पास ही डेयरी चलाने वाले अशोक शर्मा ने बताया कि सुबह करीब पांच बजे ट्रांसफार्मर के पास एक व्यक्ति जलता हुआ दौड़ रहा था और भारत माता के जयकारे लगा रहा था। आसपास के लोगों के साथ मिलकर उन पर पानी डालकर आग बुझाई गई। पुलिस को मौके पर प्लास्टिक की खाली बोतल मिली है। जिसमें रघुवीर शरण पेट्रोल भरकर लाया था।

80 फीसदी तक झुलसे

रघुवीर शरण

निगेटिव न्यूज

सिर्फ वही नकारात्मक खबर, जो अापको जानना जरूरी है

एनिकट में डूब रहे भाई को बचाने कूदे, 3 मासूमों की मौत

चित्तौड़गढ़ | चित्तौड़गढ़ के गांधीनगर क्षेत्र में गंभीरी नदी पर बने वागलिया एनिकट में डूबने से रविवार सुबह तीन किशोरों की मौत हो गई। इनमें दो सगे भाई व तीसरा ममेरा भाई था। घटना सुबह करीब 8 बजे की है। गांधीनगर मजिस्ट्रेट कॉॅलोनी निवासी अब्दुल के दो बेटे 15 वर्षीय रियाज व 12 वर्षीय दानिश और उनके दो भांजे 8 वर्षीय नदीम व मोइन एनिकट में नहाने गए। मोइन को छोड़कर सब डूब गए।

कहा-समाज में बढ़ती कटुता से परेशान हूं

सवाई मानसिंह अस्पताल में पुलिस को दिए बयानों में रघुवीर शरण ने समाज में फैल रही कटुता व वैमनस्यता से परेशान होकर खुद को आग लगाने की बात कही है। हालांकि, पुलिस के अनुसार घरेलू परेशानी की बातें भी सामने आ रही हैं। स्थानीय लोगों ने बताया कि रघुवीर शरण रोजाना आम्रपाली सर्किल के पास आरएसएस की शाखा लगाते हैं।

राम सेतु को किसने बनाया, आईसीएचआर नहीं करेगा सर्वे

नई दिल्ली | राम सेतु प्राकृतिक है या फिर इंसान ने, इसकी जांच के लिए इंडियन काउंसिल ऑफ हिस्टॉरिकल रिसर्च (आईसीएचआर) कोई अध्ययन नहीं करेगा। काउंसिल की पिछले साल की एक घोषणा को नकारते हुए नए अध्यक्ष अरविंद जामखेडकर ने यह बात कही है। पिछले साल मार्च में काउंसिल के तत्कालीन अध्यक्ष वाई सुदर्शन राव ने कहा था कि राम सेतु या एडम्स ब्रिज प्राकृतिक है या कृत्रिम, इसकी जांच के लिए समुद्र के अंदर अध्ययन करेंगे। हालांकि, जामखेडकर ने रविवार को एक इंटरव्यू में कहा, ‘यह प्रस्ताव एक इतिहासकार की तरफ से था।





काउंसिल के सदस्य इसे समर्थन देने के खिलाफ हैं। बल्कि वह तो बेहद नाराज हैं। ना तो हम ऐसा अध्ययन करने जा रहे हैं और न ही फंडिंग करेंगे।’



उन्होंने कहा कि खुदाई जैसे काम इतिहासकारों के नहीं हैं। इसके लिए एएसआई जैसी एजेंसियां हैं। काउंसिल सिर्फ संबंधित एजेंसी को इसकी सिफारिश कर सकती है। इस बारे में संपर्क करने पर राव ने कहा कि उन्होंने यह प्रोजेक्ट शुरू किया था। लेकिन कुछ काम कर पाते, उससे पहले मेरा कार्यकाल खत्म हो गया था। उल्लेखनीय है कि जामखेडकर ने 5 मार्च को काउंसिल के अध्यक्ष का कार्यभार संभाला था। यह काउंसिल मानव संसाधन विकास मंत्रालय के तहत काम करती है। भारत में मान्यता है कि भगवान राम के आदेश पर वानर सेना ने भारत और श्रीलंका के बीच राम सेतु का निर्माण किया था।

दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए News in Hindi, Breaking News सबसे पहले दैनिक भास्कर पर |

More From Shahjanpur

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×