Hindi News »Rajasthan »Shahjanpur» एसएमएस स्टेडियम फायर सेफ्टी दरकिनार, निगम का नोटिस

एसएमएस स्टेडियम फायर सेफ्टी दरकिनार, निगम का नोटिस

एसएमएस स्टेडियम में फायर सेफ्टी सिस्टम के बिना ही आईपीएल मैच कराने की तैयारी है। ऐसे में हर मैच में करीब 30 हजार...

Bhaskar News Network | Last Modified - Apr 09, 2018, 07:00 AM IST

एसएमएस स्टेडियम में फायर सेफ्टी सिस्टम के बिना ही आईपीएल मैच कराने की तैयारी है। ऐसे में हर मैच में करीब 30 हजार लोगों की जान जोखिम में रहेगी। नगर निगम ने इस पर कड़ी आपत्ति जताते हुए आरसीए व राजस्थान रॉयल्स को 3 नोटिस जारी किए हैं। पूछा है-क्या उनके पास फायर सेफ्टी सिस्टम है? अगर नहीं हैं तो इतना बड़ा आयोजन कैसे सफल होगा? इतने लोगों और इतने बड़े क्षेत्र के लिए महज दो ही दमकलें मांगी गई हैं। यह कोई राष्ट्रीय खेल तो है नहीं, व्यावसायिक आयोजन है, इसलिए आयोजकों को इनकम का 5% निगम को देना चाहिए। शेष | पेज 2

नोटिस में कहा गया है कि निगम को सफाई, बिजली, सीवरेज जैसी व्यवस्थाओं के लिए अतिरिक्त संसाधन लगाने होंगे। ऐसे में अतिरिक्त व्यय भी होगा। उधर, आईपीएल मैचों से पहले स्टेडियम के आरसीए मैदान में तैयारियों का जायजा लेने आए बीसीसीआई प्रतिनिधि तूफान घोष भी यहां के फायर फाइटिंग सिस्टम व अन्य व्यवस्थाओं को लेकर सवाल उठा चुके हैं लेकिन आरसीए और स्पोट्‌र्स काउंसिल ने इसे गंभीरता से नहीं लिया। अब बड़ा सवाल यह है कि जब घर-दुकान के लिए भी फायर एनओसी लेनी पड़ती है तो इतने बड़े आयोजन में इसे कैसे दरकिनार कर दिया गया। स्टेडियम में हजारों लोगों की जान से खिलवाड़ कैसे किया जा सकता है?



निगम ने ये मांगी जानकारी

-स्टेडियम के 30 हजार दर्शक व अन्य एजेंसियों के लोग मिलाकर 50 हजार व्यक्ति प्रति मैच आने की संभावना है, इनका आपातकालीन निकास प्लान प्रस्तुत करें।

-नेशनल बिल्डिंग कोड (एनबीसी) के अनुसार स्टेडियम में चारों ओर हाईडेंट लाइन, होजरील होज , स्प्रिंकलर, एमसीपी हूटर, फायर इंस्टीन्गुएशर, फायर वाटर टैंक एवं फायर पम्प की जरूरत है। इन व्यवस्थाओं की जानकारी दें।

-एनबीसी के अनुरूप आपात निकास की संख्या तय कर उन्हें खुला रखने से संबंधित जानकारी।

-स्टेडियम में चारों तरफ फायर ब्रिगेड जाने के लिए कितना रास्ता रखा गया है।

-फायर फाइटिंग के लिए पूरे स्टेडियम में कितने मार्शल लगाए गए हैं।

-अग्निशमन सुरक्षा के लिए फायर वाच टावर स्थापित किया गया है या नहीं इसकी जानकारी दें।

एक मैच में होंगे 30 हजार तक लोग, आग बुझाने का सिस्टम तक नहीं

टिकटों से 20 करोड़ की आमदनी, पुलिस सुरक्षा के लिए शुल्क दे रहे हैं तो निगम को देने में क्या आपत्ति?

आईपीएल के 7 मैचों की टिकट बिक्री से राजस्थान रॉयल्स को करीब 20 करोड़ रु. की आमदनी होगी। इन सभी मैचों के लिए बीसीसीआई और राजस्थान रॉयल्स द्वारा आरसीए को 4.20 करोड़ रु. दिए जाएंगे। मैच के दौरान सुरक्षा में तैनात सिपाही को 4286 रु., एसआई को 6950 रु., निरीक्षक को 7053 रु., उप अधीक्षक को 7608 रु. व अति. पुलिस अधीक्षक के लिए 12,522 रु. रोज देना निर्धारित है, जो उचित भी है। लेकिन करीब 30 हजार लोगों की अग्निशमन सुरक्षा, सफाई व अन्य सुविधाओं के लिए निगम को राशि देने में कहां अड़चन है?

पहला मैच 11 अप्रैल को

यहां पहला मैच 11 अप्रैल को है। दर्शक क्षमता 23 हजार है और 5-7 हजार लोग सुरक्षा व मैच की अन्य जिम्मदारियों में रहेंगे। 7 मैचों की टिकट बिक्री से आयोजक 20 करोड़ कमाएंगे।

आरसीए ने कहा : राजस्थान रॉयल्स जाने

आरसीए सचिव आरएस नांदू का कहना है कि हमने सारी जिम्मेदारियां राजस्थान रॉयल्स को सौंप दी हैं। ऐसे में निगम को 5 प्रतिशत राशि देने का फैसला भी उसे ही करना है।

राजस्थान रॉयल्स ने कहा : निगम ने पहली बार इस तरह की बात की है

उपाध्यक्ष राजीव खन्ना का कहना है कि जयपुर में पहले भी आईपीएल मैच हुए हैं लेकिन निगम की ओर कभी इस तरह की मांग नहीं की गई।

निगम का तर्क : फायर सेफ्टी सिस्टम नहीं होना चिंताजनक, मैच कराए तो कार्रवाई

हमने नोटिस दिया है। इतने बड़े आयोजन में फायर सेफ्टी सिस्टम नहीं होना चिंताजनक है। नोटिस के बावजूद मैच कराते हैं तो कार्रवाई होगी।-अशोक लाहोटी, मेयर

दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए News in Hindi, Breaking News सबसे पहले दैनिक भास्कर पर |

More From Shahjanpur

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×