--Advertisement--

तीन दिवसीय होली का त्योहार धूमधाम से मनाया

बस्सी/जटवाड़ा/बांसखो/मानसर खेडी/तूंगा/कानोता| फाल्गुन की पूर्णिमा के दिन होली का त्योहार क्षेत्र भर में धूमधाम से...

Dainik Bhaskar

Mar 04, 2018, 04:20 AM IST
बस्सी/जटवाड़ा/बांसखो/मानसर खेडी/तूंगा/कानोता| फाल्गुन की पूर्णिमा के दिन होली का त्योहार क्षेत्र भर में धूमधाम से मनाया गया। हर तरफ महिलाएं व बच्चे होली की पूजा अर्चना के लिए आते जाते देखे गए। होली के दिन महिलाओं ने भी व्रत रख होली का पूजन किया। जगह.जगह पेड़ों की टहनियां डालकर होली बनाई गई हैं। महिलाएं अनाज मीठा पानी फल व गेहूं या जौ की फसल की बाली लेकर पूजा का थाल सजाकर होली की पूजा करने के लिए सजधज कर मंगल गीत गाती हुई होली का स्थान पर पहुंची। होली कर परिक्रमा भी की जाती है। परिक्रमा के दौरान होली के चारों तरफ कच्चे सूत से फेरी भी लगाई। महिलाएं पारंपरिक वेशभूषा के अनुसार पीलिया ओढ़ कर होली पूजन के लिए आती जाती देगी गई। बच्चे अपने गले में अनाज बिस्कुट व टोफी आदि से बनी माला पहन कर व हाथ में गोबर से बनी ढाल व बडकुल्यों से बनी माला लेकर होली पूजन के लिए पहुंचे। शुक्रवार को रंगों का त्योहार धूलेंड़ी फाग के साथ मनाया गया। हर तरफ लोग रंग व गुलाल से रंगे दिखाई दिए। होली के त्योहार पर होली का हुड़दंग पहले ही शुरू हो जाता है। गुरुवार को भी छोटे.छोटे बच्चे पिचकारियां लेकर बाजारों या गलियों से गुजरने वाले लोगों पर पानी डालने लगे थे। बाजारों में भी हर तरफ दुकानों पर जगह.जगह विभिन्न प्रकार रंग व गुलाल सजे हुए थे। युवा युवतियां व बच्चों ने धुलेंडी के त्योहार को धूमधाम से मनाया। गुरुवार को भी ग्रामीण क्षेत्र से बड़ी संख्या में लोग शहर के बाजारों में खरीदारी करने के लिए आए। हर तरफ दुकानों पर बाजारों में रंग गुलाल ही नहीं रंगबिरंगी पिचकारियां भी दुकानों पर सजी थी बच्चे भी पिचकारियों व रंग गुलाल की खरीदारी करने में जुटे हैं। गुरुवार को दिन भर पूजा अर्चना के बाद शाम के समय होलिका का दहन कर दिया गया। शनिवार को भैया दूज का त्यौहार मनाया गया इस दिन वह इन्होंने अपने भाइयों की दीर्घायु की कामना के लिए रक्षा सूत्र बांधकर मिठाई खिलाई और भाई ने बहन को उपहार भेंट कर सुरक्षा का वचन दिया । इस प्रकार तीन दिवसीय होली का त्यौहार के समाप्ति हुई।

होलिका दहन के साथ गणगौर पूजन प्रारंभ

शाहपुरा | शहर की शाहपुरा हवेली में विदेशी मेहमानों ने आपस में रंग, गुलाल और पिचकारी छोड़कर जमकर होली खेली। विदेशी मेहमान ढप व चंग की थाप पर भी जमकर थिरके। हवेली में सुबह से ही विदेशी मेहमानों का आना चालू हो गया था। जो दोपहर बाद तक चला। अधिराज सिंह ने बताया डेढ़ सौ विदेशी मेहमानों ने होली खेली। कार्यक्रम में संजूम पार्टी ने भी अपनी प्रस्तुति दी। बाद में विदेशी मेहमानों ने शहर की सड़कों पर भी भ्रमण कर शाहपुरा की फिजा को अपने कैमरे में कैद किया।

हाेली व धुलेंडी पर्व धूमधाम से मनाया

विराटनगर. कस्बे सहित आसपास के बीलवाड़ी,तेवडी,सोठाना,कुहाड़ा,पाप डा,छीतोली सहित आसपास के क्षेत्रों में होली व धुलेंडी पर्व धूमधाम के साथ मनाया गया। हाेलीका दहन सभी स्थानों पर सायं 7.41 बजे के बाद हुआ। लोगों ने हाेलीका की पूजा अर्चना कर क्षेत्र की खुशहाली की कामना की। दूसरे दिन धुलेंडी के दिन लोगों ने एक दूसरे का रंग गुलाल लगाकर शुभकामनाएं दी। दिनभर लोग रंग गुलाल खेलते नजर आये। विधायक डा.फूलचंद भिंडा भी मौके पर पहुंचे ओर रंग गुलाल लगाया।

धौला| धौला कस्बा सहित बहलोड़,केलाकाबास,टोडा लड़ी, अर्जुनपुरा,ताला, बिलोड,दंताला आदि गांवोंं में गुरुवार को होलिका पूजन के साथ दहन हुआ।शुक्रवार गांवो युवाओं ,बुजुर्गों ने गुलाल से धुलंडी खेलकर सामाजिक समरसता का पर्व मनाया।इस दौरान मंदिरों में ठाकुर जी की झांकी सजाकर फूलडोल में भजन गायकों ने मनमोहक प्रस्तुति दी।

हर्षोल्लास के साथ मनाया रंगों का त्योहार

भानपुर कलां | कस्बा सहित बासना, टोडामीणा एवं नांगल तुलसीदास सहित आसपास के गांवों में होली एवं धुलंडी का त्यौहार हर्षोल्लास के साथ मनाया गया। इस अवसर पर गुरूवार को बुराई पर अच्छाई का प्रतिक होलिका त्यौहार मनाया गया। इस दौरान लोगों द्वारा होलिका की विधि विधान से पूजा अर्चना कर होलिक दहन किया गया। रात्रि काल में लोगों द्वारा कबड्डी कार्यक्रम का आयोजन रखा गया। दूसरे दिन शुक्रवार वार का धुलैंडी का आयोजन किया गया। इस दौरान लोगों ने एक दूसरे के रंग गुलाल लगाकर आपस में गले मिले। इस दौरान कस्बे के मुख्य बाजार बंद रहे। लोगों की टोली की टोली एक दूसरे के रंग लगाकर खुशियां मनाते हुए देखे गये। घाटा जलधारी निवासी पप्पूराम गुर्जर, नरेन्द्र कुमार काली पहाड़ी ने बताया कि पहले लोग होली पर्व पर रात्रि ग्रामीण खेल जैसे कबड्डी, रूमाल झपट्टा, माल दड़ा आदि खेलते थे। लेकिन आज मोबाइल की दुनिया में यह सब धीरे धीरे लुप्त होते जा रहे हैं।

X
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..