--Advertisement--

सुरपुरा में पानी का संकट, ग्रामीणों ने की नारेबाजी

कार्यालय संवाददाता | शाहपुरा सुरपुरा गांव में पेयजल संकट से परेशान लोगों का गुस्सा फूट पड़ा। उन्होंने जलदाय...

Danik Bhaskar | Apr 01, 2018, 06:25 AM IST
कार्यालय संवाददाता | शाहपुरा

सुरपुरा गांव में पेयजल संकट से परेशान लोगों का गुस्सा फूट पड़ा। उन्होंने जलदाय विभाग प्रशासन के खिलाफ जमकर नारेबाजी कर विरोध प्रदर्शन किया । खास बात यह रही कि ग्रामीणों के प्रदर्शन की सूचना के बाद भी मौके पर कोई भी जिम्मेदार नहीं पहुंचा। ग्रामीणों के अनुसार सुरपुरा गांव की आबादी दो हजार के आस पास है, गांव में पेयजल आपूर्ति के लिए पंचायत प्रशासन की और से एक बोरिंग व दो टंकियां है । इन टंकियों में बोरिंग से पानी भरा जाता है तथा पूरे गांव में पानी की आपूर्ति की जाती है! पंचायत प्रशासन की ओर से पेयजल आपूर्ति के लिए एक कर्मचारी नियुक्त कर रखा है तथा प्रत्येक घर से पंचायत की ओर से 100 रुपए प्रतिमाह वसूले जाते है । ग्रामीणों के मुताबिक आए दिन मोटर ख़राब हो जाती है । इसके अलावा गांव में पर्याप्त मात्रा व सुचारु रूप से पेयजल आपूर्ति नहीं हो पाती। उन्होंने बताया कि पेयजल समस्या से निजात दिलाने के लिए पंचायत प्रशासन और जलदाय विभाग के अधिकारियों को कई बार अवगत कराया लेकिन कोई समाधान नहीं हुआ। ग्रामीणों ने बताया कि गत 10 दिनों से मोटर ख़राब होने से गांव में पेयजल आपूर्ति बाधित है। जिससे ग्रामीणों को पेयजल के लिए भटकना पड़ रहा है। पेयजल समस्या से परेशान महिला पुरुष एकत्रित होकर विरोध प्रदर्शन किया। उन्होंने पेयजल आपूर्ति सुचारू करवाने की मांग की है। इस दौरान छोटूराम कालावत, छोटूराम जेवरिया, कानाराम, अजय, शांति देवी, ममता देवी, उगन्ता देवी,लक्ष्मी देवी, हेमलता वर्मा, अमित, गजेंद्र,विक्रम,रूडी देवी समेत कई ग्रामीण मौजूद थे! ग्रामीणों ने बताया कि गांव में पेयजल संकट से त्रस्त लोग पानी के निजी टैंकरों का सहारा लेने पर मजबूर है । इससे उन्हें आर्थिक नुकसान वहन करना पड़ता है । उन्होंने बताया कि निजी टैंकर वाले भी मनमाना दाम वसूलते है। इसके अलावा ग्रामीणों को दूर दराज़ के स्थानों से पेयजल लाना पड़ रहा है। इससे उनकी दिनचर्या प्रभावित हो रही है।