Hindi News »Rajasthan »Shahpura» शाहपुरा में कल फूलडोल, 9 को भीलवाड़ा में मुर्दे की सवारी

शाहपुरा में कल फूलडोल, 9 को भीलवाड़ा में मुर्दे की सवारी

भास्कर संवाददाता | भीलवाड़ा होली पर समरसता के रंगों में रंगने के बाद अब गणगौर, चैत्र प्रतिपदा व नवरात्रि, दुर्गा...

Bhaskar News Network | Last Modified - Mar 05, 2018, 06:35 AM IST

भास्कर संवाददाता | भीलवाड़ा

होली पर समरसता के रंगों में रंगने के बाद अब गणगौर, चैत्र प्रतिपदा व नवरात्रि, दुर्गा पूजा की तैयारी है। इसी महीने सिंधी समाजजन जहां झूलेलाल जन्मोत्सव चेटीचंड पर शोभायात्रा की तैयारी में जुटा है वहीं जैन समाज के संतों के सान्निध्य में होली चातुर्मास के तहत विविध आयोजन भी होंगे। इसाई समुदाय गुड फ्राइडे को लेकर उत्साहित है।

होली के अगले दिन परंपरानुसार सुहागिनों ने अखंड सुहाग और कन्याओं ने अच्छे वर की कामना से गणगौर पूजन शुरू कर दिया। पार्वती के स्वरूप गणगौर माता की स्थापना की गई। अब 16 दिन तक नित्य पूजन-भजन होंगे। गौर प्रतिमा के आकर्षक शृंगार किए जाएंगे। गणगौर उत्सव 20 मार्च को मनाया जाएगा। हमीरगढ़, बनेड़ा, बदनौर में गणगौर की सवारियां निकाली जाएंगी। इससे पहले 6 मार्च को रंग पंचमी पर शाहपुरा में फूलडोल महोत्सव मनाया जाएगा। 8 व 9 मार्च को मान्यता के अनुसार सप्तमी व अष्टमी पर शीतला पूजन के साथ बास्योड़ा होगा।

अष्टमी पर भीलवाड़ा में मुर्दे की परंपरागत सवारी का आकर्षण रहेगा। चैत्र नवरात्रि 18 मार्च को शुरू होगी। इस दिन शक्तिपीठों-घरों में मां दुर्गा के पूजन की धूम रहेगी। 19 मार्च को चेटीचंड उत्सव पर सिंधी समाज भगवान झूलेलाल की शाही शोभायात्रा निकालेगा।

परंपरा

मेवाड़ में तीज-त्योहारों की शुरुआत, चेटीचंड व गणगौर की सवारी निकालने की तैयारियां

फूलडोल महोत्सव में अणभैवाणी के तीसरे थाल का जुलूस निकाला गया

तारीख पर्व/उत्सव

6 मार्च फूलडोल

8-9 मार्च सप्तमी/अष्टमी 15 मार्च रंगतेरस

12 मार्च दशा माता पूजा

18 मार्च चैत्र नवरात्रि शुरू

19 मार्च चेटीचंड उत्सव

20 मार्च गणगौर उत्सव

29 मार्च महावीर जयंती

30 मार्च गुड फ्राइडे

31 मार्च हनुमान जयंती

आचार्य को चढ़ावा भेंट करने पहुंचे संत... पेज 16

दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए News in Hindi, Breaking News सबसे पहले दैनिक भास्कर पर |

More From Shahpura

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×