• Hindi News
  • Rajasthan News
  • Shahpura News
  • लोगों ने हिम्मत तोड़ी, लेकिन नीरूबाला ने अपने साथ बेटी सुप्रिया को भी रोडवेज में कंडक्टर बनाया
--Advertisement--

लोगों ने हिम्मत तोड़ी, लेकिन नीरूबाला ने अपने साथ बेटी सुप्रिया को भी रोडवेज में कंडक्टर बनाया

पति के निधन के बाद नीरूबाला छीपा पर बेटी सुप्रिया की शिक्षा व परिवार पालने की जिम्मेदारी आ गई। नीरूबाला आंगनबाड़ी...

Dainik Bhaskar

Mar 08, 2018, 06:50 AM IST
लोगों ने हिम्मत तोड़ी, लेकिन नीरूबाला ने अपने साथ बेटी सुप्रिया को भी रोडवेज में कंडक्टर बनाया
पति के निधन के बाद नीरूबाला छीपा पर बेटी सुप्रिया की शिक्षा व परिवार पालने की जिम्मेदारी आ गई। नीरूबाला आंगनबाड़ी कार्यकर्ता थी। राजस्थान राज्य पथ परिवहन निगम में कंडक्टर की वैकेंसी निकली।

लोगों से पूछा तो सभी ने आवेदन नहीं करने के लिए कहा। नीरूबाला ने हिम्मत नहीं हारी और अपना व बेटी सुप्रिया का इस पद के लिए आवेदन किया। बेटी को जब यह पता चला तो वह जयपुर के सवाईमानसिंह एयरपोर्ट पर एयर होस्टेस की नौकरी छोड़कर कंडक्टर बनने पहुंच गई। अब मां बेटी दोनों रोडवेज में परिचालक हैं। सुप्रिया की मां नीरूबाला नौकरी के साथ पढ़ाई भी कर रही है। वह इस साल बीए प्रथम की परीक्षा देंगी। सुप्रिया को हॉकी खेलने का शौक है। नौकरी के साथ वह समय मिलने पर हॉकी खेलती हैं। इसी का नतीजा है कि वह अब तक पांच बार राज्य स्तरीय व तीन बार राष्ट्रीय स्तरीय प्रतियोगिता में भाग ले चुकी है। नीरूबाला छीपा भीलवाड़ा से उदयपुर एवं सुप्रिया शाहपुरा से जयपुर मार्ग पर चलने वाली बस में कंडक्टर है।

कंडक्टर निरुबाला छीपा

X
लोगों ने हिम्मत तोड़ी, लेकिन नीरूबाला ने अपने साथ बेटी सुप्रिया को भी रोडवेज में कंडक्टर बनाया
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..