• Hindi News
  • Rajasthan News
  • Shahpura News
  • स्कूल के किचन गार्डन की सब्जियों से बनता है पोषाहार, गर्भवती व धात्री महिलाओं को भी जैविक सब्जियां पहुंचा रहीं संस्था प्रधान
--Advertisement--

स्कूल के किचन गार्डन की सब्जियों से बनता है पोषाहार, गर्भवती व धात्री महिलाओं को भी जैविक सब्जियां पहुंचा रहीं संस्था प्रधान

राजकीय प्राथमिक विद्यालय भगवानपुरा (रहड़) की प्रधानाध्यापक रामकन्या माली ने स्कूल की तस्वीर बदल दी है। यहां किचन...

Dainik Bhaskar

Feb 26, 2018, 07:10 AM IST
स्कूल के किचन गार्डन की सब्जियों से बनता है पोषाहार, गर्भवती व धात्री महिलाओं को भी जैविक सब्जियां पहुंचा रहीं संस्था प्रधान
राजकीय प्राथमिक विद्यालय भगवानपुरा (रहड़) की प्रधानाध्यापक रामकन्या माली ने स्कूल की तस्वीर बदल दी है। यहां किचन गार्डन में उगाई गई जैविक सब्जियां स्कूल में पोषाहार बनाने में काम आ रही है। इस किचन गार्डन की सब्जियां आंगनबाड़ी केंद्रों में भी काम आ रही है।

संस्था प्रधान रामकन्या माली गर्भवती व धात्री महिलाओं के घर जैविक सब्जियां पहुंचाती हैं। बगीचे में जैविक सब्जियों के साथ ही विभिन्न किस्म के फूलदार पौधे भी हैं। इस स्कूल में बच्चों के लिए यूनिफार्म व पहचान पत्र अनिवार्य हैं। स्कूल साफ-सुथरा है। परिसर में चारों तरफ हरियाली है। 5 साल पहले इस स्कूल में नियुक्त हुई संस्था प्रधान माली ने बताया कि वह गरीब किसानों का दर्द समझती है।

नवाचार

पांच साल में संस्था प्रधान रामकन्या माली ने बदली भगवानपुरा स्कूल की तस्वीर, छोटा भाई भी बच्चों को पढ़ा रहा निशुल्क

शाहपुरा. स्कूल परिसर में सब्जी के पौधों की सार संभाल करतीं प्रधानाध्यापक रामकन्या माली।

भाई जयप्रकाश भी करता है सहयोग

प्रधानाध्यापिका रामकन्या माली का छोटे भाई जयप्रकाश माली बीएससी नर्सिंग उदयपुर सेे कर चुका है। बहन के स्कूल पहुंच कर क्लास लेने, बच्चों को संस्कारवान बनाने, प्रशिक्षण देकर व्यवहारिक बनाने में अपना योगदान देता है। संस्था प्रधान माली का भाई जयप्रकाश बहन के साथ स्कूल विकास व बच्चों को निशुल्क पढ़ाने में सहयोग करता है।

जिले का पहला किचन गार्डन जहां व्यवस्था बेहतर | जीव दया सेवा समिति के संयोजक अत्तू खां कायमखानी ने बताया कि प्राथमिक विद्यालय भगवानपुरा (रहड़) में प्रधानाध्यापिका रामकन्या माली के पदस्थापना के बाद अब तक 250 पौधे लगा दिए है। इस वर्ष किचन गार्डन डवलप कर दिया है। वहीं पैदा होने वाली सब्जियां मिड डे मिल में प्रयुक्त हो रही है। यह जिले का ऐसा पहला विद्यालय बन गया है जहां पर किचन गार्डन सुव्यवस्थित चल रहा है।

X
स्कूल के किचन गार्डन की सब्जियों से बनता है पोषाहार, गर्भवती व धात्री महिलाओं को भी जैविक सब्जियां पहुंचा रहीं संस्था प्रधान
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..