• Home
  • Rajasthan News
  • Shahpura News
  • प्रदेश भूतपूर्व सैनिक कल्याण समिति द्वारा सैनिक स्नेह मिलन व वीरांगना सम्मान समारोह
--Advertisement--

प्रदेश भूतपूर्व सैनिक कल्याण समिति द्वारा सैनिक स्नेह मिलन व वीरांगना सम्मान समारोह

पूर्व केंद्रीय पंचायतीराज एवं ग्रामीण विकास राज्यमंत्री लालचंद कटारिया ने कहा कि सैनिक व इनके परिवार को पूरा...

Danik Bhaskar | Feb 26, 2018, 07:10 AM IST
पूर्व केंद्रीय पंचायतीराज एवं ग्रामीण विकास राज्यमंत्री लालचंद कटारिया ने कहा कि सैनिक व इनके परिवार को पूरा सम्मान मिलना चाहिए। जवान की शहादत पर प्रत्येक नागरिक को उसका सम्मान करने के लिए आतुर होना चाहिए।

पूर्व केंद्रीय राज्यमंत्री कटारिया रविवार को शहर के खोरी रोड स्थित राधागोविंद गार्डन में प्रदेश भूतपूर्व सैनिक कल्याण समिति द्वारा आयोजित सैनिक स्नेह मिलन व वीरांगना सम्मान समारोह में ब तौर मुख्य अतिथि बोल रहे थे।

कटारिया ने कहा कि पूरी दुनिया आतंकवाद की समस्या से जूझ रही है। ऐसे में हमारे सैनिक देश की सीमाओं पर हमारी सुरक्षा के लिए प्राण न्यौछावर कर देते है। ऐसे सैनिक व उनके परिवार के लिए प्रदेश भूतपूर्व कल्याण समिति द्वारा किए जा रहे कार्य काबिले तारीफ है। त्रिवेणी धाम के पुजारी रामरिछपालजी महाराज ने अपने आशीर्वचन दिए । समारोह को अतिथि विशिष्ट अतिथि पीसीसी सदस्य आलोक बेनीवाल, राजस्थान यूनिवर्सिटी के पूर्व छात्रसंघ अध्यक्ष मनीष यादव, पीसीसी सदस्य जगदीश प्रसाद मीणा, प्रधान नंदलाल गोठवाल, प्रभु चौधरी, पूर्व चेयरमैन बद्रीप्रसाद सैनी,एसडीएम साधूराम चौधरी ने भी संबोधित किया। इससे पहले खोरी के परमानंद महाराज धाम के महंत हरिओमदासजी महाराज ने भी आशीर्वचन दिए। समिति के प्रदेशाध्यक्ष रामसहाय बाज्या ने सैनिक एवं सैनिक परिवारों के लिए समिति के माध्यम से किए जा रहे कार्यक्रमों की जानकारी दी। उन्होंने कारगिल युद्ध में अपने सैनिक जीवन का प्रसंग सुनाते हुए भावुक हो गए। मंच संचालन वीरांगना सरोज लोयल ने किया। समारोह में पूर्व केंद्रीय मंत्री कटारिया का समिति प्रदेशाध्यक्ष बाज्या व इंद्राज पलसानिया के नेतृत्व में कार्यकर्ताओं ने 21 किलो की माला पहनाकर अभिनंदन किया। समारोह में समिति के कैप्टन पृथ्वी सिंह, सूबेदार ईश्वरसिंह तंवर, कैप्टन शीशराम चौधरी, सूबेदार रामसहाय सराधना, सूबेदार मेजर शंकर हरितवाल, ओमप्रकाश पिलानिया, सांवर मल यादव, सूबेदार ब्रह्मप्रकाश यादव, सूबेदार तेजसिंह, संतुसिंह, सूबेदार मेजर राजेंद्र सिंह नरूका, कैप्टन बाबूलाल गिठाला, नायक धरमवीरसिंह शेखावत, हवलदार रामेश्वर जाट, अजय पारीक, पवन शर्मा, ताराचंद चौधरी, विजय शर्मा, जाकिर हुसैन, सरदारमल यादव, हरिनारायण गठाला, वृद्धिचंद यादव,अजय पारीक, विश्वनाथ टेलर ,श्याम सुंदर जोशी, राजेंद्र पलसानिया, जवाहर तिवाड़ी, इंद्राज पलसानिया, घनश्याम स्वामी,जयराम भांबू, पार्षद विपिन बिहारी, रामोतार गुर्जर,विजय चौहान, पवन शर्मा,आदि ने कार्यक्रम को सफल बनाने में सहयोग प्रदान किया।इससे पूर्व रामसहाय बाज्या,े अतिथियों का सम्मान किया।

मां शहादत पर रोना नहीं...

समारोह के दौरान कवि सम्मेलन का आयोजन भी हुआ। जिसमें कवयित्री निशा पंडित ने सरस्वती वंदना जय हो वीणा धारणी से कवि सम्मेलन का आगाज किया। उन्होंने बेटी पर कहा कि जलते हुए अंगार पर चलती है बेटिया, बढ़ते हुए समाज को खलती है बेटिया सुनाकर सबको भावुक कर दिया। इसके बाद स्थानीय कवि राजेश सराधना, मनोज गुर्जर एवं दिल्ली के हास्य कवि वेदप्रकाश वेद ने अपनी हास्य रचनों की प्रस्तुति दी। कवि सम्मेलन का संचालन कर रहे उदयपुर से आए वीररस के कवि सिद्धार्थ देवल ने सैनिकों की शहादत को सलाम करते हुए कहा कि बर्गर पिज्जा खाने वाले सैनिक नहीं बन सकते, सीमा पर एक जवान शहीद हो गया, तुझको कसम है मां मेरा घर शव आने पर रोना नहीं जैसी रचनाएं सुनाकर लोगों की आंखों में पानी भर दिया।

28 वीरांगनाओं व 13 विशिष्ट विभूतियों का सम्मान

समिति के प्रदेशाध्यक्ष रामसहाय बाज्या ने बताया कि समारोह में देश के लिए अपने प्राण न्यौछावर करने वाले शहीदों की 28 वीरांगनाओं को शॉल, श्रीफल व प्रतीक चिन्ह भेंटकर सम्मान किया गया। इसके अलावा 13 विभूतियों का सम्मान भी किया गया, जिन्होंने अलग अलग कार्यक्षेत्र में अपना विशेष योगदान प्रदान किया है। समारोह में एयू स्मॉल फाइनेंस बैंक की ओर से डिप्टी प्रेसिडेंट सुल्तान राम पलसानिया ने सभी वीरांगनाओं को 1100-1100 रुपए की आर्थिक सहायता प्रदान की। रजनीश हॉस्पिटल के डॉ.रजनीश ने सैनिक परिवारों को निशुल्क चिकित्सा परामर्श एवं जांच में 50 प्रतिशत छूट सेवाएं देने की घोषणा की।

जवान की शहादत का सम्मान करना देश के प्रत्येक नागरिक का कर्तव्य

शाहपुरा. शहर में सैनिक स्नेह मिलन एवं सम्मान समारोह में शहीद वीरांगना का सम्मान करते अतिथि।

समारोह में उपस्थित जनसमूह।