• Hindi News
  • Rajasthan
  • Shahpura
  • अणभैवाणी के जुलूस पर ड्रोन से पुष्पवर्षा, आचार्य के चातुर्मास की घोषणा आज
--Advertisement--

अणभैवाणी के जुलूस पर ड्रोन से पुष्पवर्षा, आचार्य के चातुर्मास की घोषणा आज

Dainik Bhaskar

Mar 06, 2018, 07:10 AM IST

Shahpura News - कस्बे में अंतरराष्ट्रीय रामस्नेही संप्रदाय के पांच दिवसीय फूलडोल महोत्सव के चौथे दिन सोमवार को आद्याचार्य...

अणभैवाणी के जुलूस पर ड्रोन से पुष्पवर्षा, आचार्य के चातुर्मास की घोषणा आज
कस्बे में अंतरराष्ट्रीय रामस्नेही संप्रदाय के पांच दिवसीय फूलडोल महोत्सव के चौथे दिन सोमवार को आद्याचार्य रामचरण महाराज, रामनिवास धाम के पीठाधीश्वर जगतगुरु आचार्य रामदयाल महाराज के जयकारों के साथ राममेड़िया से अणभै-वाणी का जुलूस निकाला गया। जुलूस जब रामनिवास धाम पहुंचा तो ड्रोन से गुलाब की पत्तियों की वर्षा कर स्वागत किया गया।

शोभायात्रा में शामिल पुरुष पिंक पगड़ी व महिलाएं केसरिया साड़ी पहनकर शामिल हुई। सुबह मंगला आरती के बाद आचार्य रामदयाल महाराज ने उपदेश दिया। मुख्य फूलडोल महोत्सव का समापन मंगलवार को होगा। आचार्य रामदयाल महाराज अपने चातुर्मास की घोषणा करेंगे। इससे पहले चातुर्मास की विनती के लिए दूसरे दिन भी अर्जियों का वाचन किया गया। महाजनपुरा (मालपुरा), मानवत, दिल्ली, शाहपुरा, सूरत व मालपुरा में चातुर्मास के लिए अर्जियां पेश की गई। संतों ने बारादरी में अर्जियों का वाचन किया। मंगलवार दोपहर में आचार्य जिस शहर में चातुर्मास करने की घोषणा करेंगे वहां के संत व भक्तों को गोटकाजी दिया जाएगा। इसके बाद भक्त जुलूस निकालेंगे।



बिंदौली...रामस्नेही संत बन रहे 24 वर्षीय युवा रामनारायण पोरवाल की शोभायात्रा निकाली गई

आशीर्वाद...संतों व श्रद्धालुओं ने आचार्य के चरण छूए, चातुर्मास के लिए विनती की, गूंजे जयकारे

रामनिवासधाम की बारादरी में संतों ने आचार्य के चातुर्मास के लिए अर्जियों का वाचन किया


रामनिवास धाम के पंगत चौक में संतों के लिए भोजन की व्यवस्था की गई है। सुबह आचार्य रामदयाल महाराज पंगत चौक पहुंचे। संतों को दर्शन दिए और सामूहिक भोज शुरू कराया।

चंद लोग देश में हिंसा व जातिवाद का बीज बो रहे हैं: आचार्य रामदयाल

रात्रिकालीन सभा में आचार्य ने कहा कि आज देश में अस्थिरता का माहौल है। लोग आपस में विवादों में उलझे हैं। हर मनुष्य को सत्य का अनुसरण करते हुए जीवन में सच बोलना चाहिए, लेकिन आज हर तरफ झूठ का बोल बाला है। कुछ लोग देश में जातिवाद और हिंसा का बीज बो रहे हैं। यह देश का दुर्भाग्य है कि अहिंसा परमोधर्म मानने वाले देश में आज खून खराबा हो रहा है। राम नाम का जप करने मात्र से ही व्यक्ति के विचारों में शुद्धता एवं शांति आती है।


रामनिवास धाम में स्थित स्तंभजी के दर्शन के लिए सुबह रामस्नेही भक्तों की कतार लगी रही। भक्तों ने यहां मन्नत का धागा बांधा। दर्शन के बाद बारादरी में रामधुनी व आरती हुई।

थाल जुलूस...चौथे थाल का जुलूस निकाला, मंगला आरती के बाद आचार्य ने उपदेश दिया

प्रभु स्मरण से विचारों में आती है पवित्रता: संत रामप्रसाद महाराज

बड़ौदा के संत राम प्रसाद महाराज ने कहा कि राम नाम स्मरण के तीन फायदे हैं। जिनमें विचारों की शुद्धि, अनिष्ठ की निवृत्ति, आंतरिक शांति प्राप्त होती है। प्रभु का नाम स्मरण चाहे जैसे भी किया जाए हमेशा मंगलकारी ही होता है। भगवत नाम को मंगलकारी कहा गया है। जितना नाम स्मरण हम करेंगे हमारे विचारों में पवित्रता आती जाएगी। जीवन, विचार भी पवित्र होंगे। आचरण भी पवित्र होगा। राम नाम सुमिरन से जीवन में आने वाले कष्ट का नाश होता है।


फूलडोल शाहपुरा में आनंद उत्सव के रूप में मनाया जाता है। मुख्य महोत्सव के लिए रिश्तेदारों व बहन-बेटियों को न्यौता दिया जाता है। इन दिनों घर-घर में मेहमान आए हैं।

X
अणभैवाणी के जुलूस पर ड्रोन से पुष्पवर्षा, आचार्य के चातुर्मास की घोषणा आज
Astrology

Recommended

Click to listen..